खुद को बताया CBI अधिकारी और लूट लिए मोबाइल और रुपए

- CBI अधिकारी ने तलाशी लेने के नाम पर चालक व हेल्पर के मोबाइल फोन व पांच सौ रुपए ले लिए व मंगलवार की सुबह रतनपुर थाने आने कीबात कह चलता बना। पीड़ितों ने रतनपुर थाने पहुंचकर शिकायत दर्ज कराई है।

By: Bhupesh Tripathi

Published: 01 Dec 2020, 05:14 PM IST

बिलासपुर. रतनपुर से लच्छनपुर के लिए निकले ट्रैक्टर चालक व हेल्पर को भरारी के पास एक युवक ने डंडा दिखाकर रोका और खुद को दिल्ली से आया सीबीआई अधिकारी बताया। युवक तीनों को ऑफिस ले जाने की बात कह पेंडरवा ले गया। सीबीआई अधिकारी ने तलाशी लेने के नाम पर चालक व हेल्पर के मोबाइल फोन व पांच सौ रुपए ले लिए व मंगलवार की सुबह रतनपुर थाने आने कीबात कह चलता बना। पीड़ितों ने रतनपुर थाने पहुंचकर शिकायत दर्ज कराई है।

पुलिस के अनुसार जोगी अमराई निवासी बलराम पिता नेतराम पाव (25) रतनपुर निवासी रामानंद यादव का टै्रक्टर चलाता है। नहर किनारे सोमवार सुबह 5 बजे ट्रैक्टर लेने रतनपुर पहुंचा। रतनपुर से हेल्पर रविन्द्र पाव, ओम प्रकाश व जर्नादन पाव को लेकर काम पर जाने लच्छनपुर के लिए निकला। सुबह 6 बजे भरारी मुख्य मार्ग के पास एक युवक ने डंडा दिखाकर ट्रैक्टर को रोकवाया।

बलराम ने ट्रैक्टर रोका तो सामने वाले युवक ने खुद को सीबीआई अधिकारी बताया व तीनों को साथ लेकर दिल्ली जाने की बात कही। चारो डर गए किन कारणों से सीबीआई उनके पीछे पड़ी है, युवक जैसा बोलता गया चारो वैसा ही कर रहे थे। पेंडरवा के पास ले जाकर युवक ने तीनों की तलाशी ली और बलराम की जेब से ५ सौ रुपए व मोबाइल, जर्नादन की जेब से मोबाइल निकाल कर तीनों को मंगलवार सुबह रतनपुर थाने आने को कहा और पेंडरवा की ओर पैदल ही चला गया। डरे सहमें चारो लोग रतनपुर थाने पहुंचे और मामले की शिकायत दर्ज कराई है।

रेत तस्करी को लेकर डरे हुए थे चालक व हेल्पर
सूत्रों की माने तो चारो लच्छनपुर के पास से रेत भर कर लाने व मालिक के बताए अनुसार पते पर डम्प करने का काम करते थे। चारो को रोकवाकर युवक ने सीबीआई अधिकारी बताया तो चारो ने सोचा शायद रेत के अवैध उत्खनन को लेकर किसी ने चारो की शिकायत की है।

Bhupesh Tripathi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned