scriptCG in top 5 of Shramick Card 10101 | श्रमिक कार्ड बनवाने वाले शीर्ष 5 राज्यों में छत्तीसगढ़, लॉकडाउन के बाद बढ़े पंजीयन | Patrika News

श्रमिक कार्ड बनवाने वाले शीर्ष 5 राज्यों में छत्तीसगढ़, लॉकडाउन के बाद बढ़े पंजीयन

0 श्रमिक कार्ड में बढ़ा पंजीयन, जागरूकता के फैलाव की और जरूरत, पेंशन, बीमा, मासिक पेंशन आदि से बढ़ा रुझान

 

बिलासपुर

Published: January 10, 2022 08:00:16 pm

बरुण सखाजी. बिलासपुर

26 अगस्त को शुरू की गई ई-श्रमिक कार्ड योजना में जुड़ने वाले राज्यों में छत्तीसगढ़ 5वें नंबर पर है। इस योजना में राज्य के 21013 श्रमिकों को कार्ड जारी किए गए हैं। सूची में हरियाणा सबसे ऊपर है, जहां 820095 श्रमिक कार्ड बनवाए गए हैं। यूपी, बिहार, झारखंड और छत्तीसगढ़ सबसे ज्यादा पलायन वाले राज्य हैं। यहां के मजदूर देशभर में विभिन्न जगहों पर काम के सिलसिले में जाते हैं। देश में असंगठित क्षेत्र के मजदूरों की संख्या 38 करोड़ के लगभग है। यानि कि कुल पंजीकृत श्रमिकों का 88 फीसद। ऐसे में 2020 में लगे लॉकडाउन में बड़ी संख्या में मजदूरों के सड़कों पर निकलने से हालात बेकाबू हो गए थे। इस दौरान केंद्र व राज्यों के पास मुकम्मल तौर पर अपने मजदूरों के आंकड़े नहीं थे। इसका नतीजा यह हुआ कि अफरा-तफरी का माहौल बन गया। मजदूरों को मदद पहुंचाने के सारे सरकारी रास्ते बंद जैसे थे। लेकिन अच्छी बात ये है कि 2020 के इस लॉकडाउन के बाद श्रमिकों में श्रमकार्ड को लेकर जरूरत बढ़ी है।
श्रमिक कार्ड बनवाने वाले शीर्ष 5 राज्यों में छत्तीसगढ़, लॉकडाउन के बाद बढ़े पंजीयन
श्रमिक कार्ड बनवाने वाले शीर्ष 5 राज्यों में छत्तीसगढ़, लॉकडाउन के बाद बढ़े पंजीयन
छत्तीसगढ़ में 2019 में महज डेढ़ लाख कार्ड थे

साल 2019 के दिसंबर तक के आंकड़ों के मुताबिक राज्य में केंद्रीय श्रम मंत्रालय द्वारा जारी किए जाने वाले श्रमिक कार्डों की संख्या 1 लाख 65 हजार 805 थी। जबकि मार्च-अप्रैल 2020 के ल़ॉकडाउन के बाद इनकी संख्या में एकदम से इजाफा हुआ। दिसंबर 2020 आते-आते करीब 50 हजार श्रमिकों ने और अपना पंजीयन करवाया। इस डाटा के हिसाब से दिसंबर 2020 तक छत्तीसगढ़ में 208000 मजदूरों ने श्रमिक कार्ड बनवाए। यह जंप कोरोना के दौरान हुई मजदूर त्रासदी के कारण देखी गई।
38 करोड़ श्रमिक, साढ़े 3 करोड़ ही कार्ड इश्यू

केंद्रीय श्रम मंत्रालय के मुताबिक देश में असगंठित मजदूरों की संख्या 38 करोड़ तक है। जबकि अभी श्रमिक कार्ड बनवाने वालों की संख्या सिर्फ साढ़े 3 करोड़ के लगभग है। यह महज 10 फीसद तक ही बैठती है।
ई-श्रमिक कार्ड ने किया आसान

26 अगस्त 2021 को शुरू किए गए ईश्रमिक कार्ड का भी श्रमिकों को फायदा मिला। इससे यह आसानी से उपलब्ध होने लगा। इसे आधार से लिंक किया जाता है, जिससे श्रमिक को विभिन्न तरह की योजनाओं का लाभ लेने में कठिनाई न हो।
स्कीमों ने बढ़ाए पंजीयन

श्रमिक कार्ड में पंजीयन की संख्या राज्य व केंद्रीय श्रम विभागों की योजनाओं के कारण भी बढ़ी है। छत्तीसढ़ में ही एक दर्जन से अधिक ऐसी योजनाएं हैं जिनमें श्रमिकों को तात्कालिक मदद दी जाती हैं। इनमें प्रमुख रूप से सफाई कर्मकार आवश्यक उपकरण योजना, मुख्यमंत्री असंगठित कर्मकार सिलाई सहायता योजना, मुख्यमंत्री असंगठित कर्मकार समाचार पत्र हॉकर साइकल योजना आदि हैं। इनमें 5 हजार रुपए से लेकर 1 लाख रुपए तक की सहायता का प्रावधान है। ऐसे केंद्र की योजनाओं में प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना में 2 लाख रुपए तक की मदद, आंशिक दुर्घटना में 1 लाख रुपए तक की मदद जैसी योजनाएं शामिल हैं।
14434 पर कॉल कर मांग सकते हैं मदद

श्रमिक कार्ड बनवाने या अन्य सहायता के लिए एक टोलफ्री नंबर भी जारी किया गया है। 14434 पर कॉल करके सारी जानकारी ली जा सकती है।
वर्जन

श्रमिक कार्ड को प्रोत्साहित करने के लिए विभिन्न गतिविधियां की जाती हैं। योजनाओं के माध्यम से भी श्रमिकों को पंजीयन के लिए प्रोत्साहित किया जा रहा है।

- शिव डहरिया, श्रम मंत्री, छत्तीसगढ़

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

School Holidays in February 2022: जनवरी में खुले नहीं और फरवरी में इतने दिन की है छुट्टी, जानिए कितनी छुट्टियां हैं पूरे सालGod Power- इन तारीखों में जन्मे लोग पहचानें अपनी छिपी हुई ताकत“बेड पर भी ज्यादा टाइम लगाते हैं” दीपिका पादुकोण ने खोला रणवीर सिंह का बेडरूम सीक्रेटइन 4 राशियों की लड़कियां जिस घर में करती हैं शादी वहां धन-धान्य की नहीं रहती कमीAstro Tips : इन राशि वालों के रिश्ते ज्यादा कामयाब नहीं हो पाते, जानें ज्योतिष की नजर में क्या है इसका कारण?Sharp Brain- दिमाग से बहुत तेज होते हैं इन राशियों की लड़कियां और लड़के, जीवन भर रहता है इस चीज का प्रभावमौसम विभाग का बड़ा अलर्ट जारी, शीतलहर छुड़ाएगी कंपकंपी, पारा सामान्य से 5 डिग्री नीचेइन 4 नाम वाले लोगों को लाइफ में एक बार ही होता है सच्चा प्यार, अपने पार्टनर के दिल पर करते हैं राज

बड़ी खबरें

दिल्ली में हटा वीकेंड कर्फ्यू, बाजारों से ऑड-ईवन भी हुआ खत्म, जानिए और किन प्रतिबंधों में दी गई छूटराहुल गांधी ने फॉलोवर्स सीमित होने पर Twitter पर लगाया सरकार के दबाव में काम करने का आरोप, जानिए क्या मिला जवाबकेरल और कर्नाटक में 50 हजार तक सामने आ रहे नए केस, जानिए अन्य राज्यों का हालटाटा ग्रुप का हो जाएगा अब एयर इंडिया, कर्मचारियों को क्या होगा फायदा और नुकसान?झारखंड में नक्सलियों ने ब्लास्ट कर उड़ाया रेलवे ट्रैक, राजधानी एक्सप्रेस सहित कई ट्रेनों का रूट बदला8 साल की बच्ची से रेप के आरोप में मस्जिद के इमाम गिरफ्तार, पढ़ने के लिए मस्जिद जाती थी लड़कीUttarakhand Assembly Elections 2022: हरीश रावत की सीट बदली, देखिए Congress की नई लिस्टCG की बेटी अंकिता ने किया लद्दाख की 6080 मीटर सबसे ऊंची बर्फीली चोटी फतह, माइनस 39 डिग्री टेम्प्रेचर में भी हौसला रहा बुलंद
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.