44.58 एकड़ में बन रहा छत्तीसगढ़ का दूसरा सरकारी मल्टी सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल, जल्द मिलेगी सुविधा

- अस्पताल में 70 फीसदी निर्माण पूरे हो चुके हैं, शेष 30 फीसदी काम जवनरी तक होगा पूरा- कैंसर संस्थान, ट्रामा सेंटर, बर्न सेंटर समेत अन्य सुविधाएं मिलेंगे.

By: Bhupesh Tripathi

Updated: 13 Oct 2021, 06:25 PM IST

बिलासपुर. छत्तीसगढ़ का दूसरा शासकीय मल्टी सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल कोनी में बन रहा है। 44.58 एकड़ में बन रहे अस्पताल में राज्य कैंसर संस्थान, ट्रामा सेंटर, बर्न सेंटर, नवीन सिम्स छात्रावास, डॉक्टरों और स्टाफ के लिए आवास सहित अन्य सुविधाएं होंगी। प्रोजेक्ट जगदलपुर में भी बन रहा है। अभी 10 मंजिल बिल्डिंग वहां भी बनकर तैयार हो चुकी है। स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंह देव ने निर्माण कार्य में तेजी लाने का निर्देश दिए हैं।

कोनी सिटी बस डिपो के पीछे निर्माणाधीन अस्पताल का निर्माण कार्य को तेजी से पूरा करने का निर्देश स्वास्थ्य मंत्री टीएस देव ने दिया है। निर्माण एजेंसी को कार्य की गुणवत्ता में विशेष ध्यान देने के निर्देश दिए हैं। स्वास्थ्य मंत्री कहना है कि अक्सर शासकीय बिल्डिंगों में निर्माण के बाद सीपेज की अधिक शिकायत रहती है उस पर विशेष ध्यान देने के लिए कहा है। जानकारी के अनुसार दिसंबर 2018 से बन रहे अस्पताल में 70 फीसदी निर्माण पूरे हो चुके हैं। शेष 30 फीसदी काम अगले वर्ष यानी कि जनवरी 2022 तक पूरे होने की संभावना है। यूं तो अस्पताल को फरवरी 2020 तक पूरा करना था, लेकिन कोरोना महामारी में यह प्रोजेक्ट लेट हो गया। फिर अधिकारियों ने नई डेट लाइन जारी की और जून 2021 तक इसे पूरा करने का दावा किया, लेकिन इस तारीख तक भी प्रोजेक्ट पूरा नहीं हो पाया। अब अफसरों का दावा है कि 11 मंजिल के इस अस्पताल का निर्माण जनवरी 2022 तक पूरा कर लिया जाएगा। केंद्र और राज्य सरकार के आपसी सहयोग से बनाए जा रहे 250 बिस्तरों के अस्पताल में डॉक्टर सहित करीब 550 कर्मचारी लोगों के स्वास्थ्य की देखभाल करेंगे। फिलहाल भूतल, 10 मंजिला बिल्डिंग, आधारभूत स्ट्रक्चर बनकर तैयार हो चुके हैं। साज-सज्जा और अन्य सिविल कार्य होने बाकी है।

देशभर के मरीजों को सरकारी दर पर मिलेंगी स्वास्थ्य सुविधाएं
रायपुर के डीकेएस मल्टी-स्पेशलिटी हॉस्पिटल के बाद बिलासपुर में राज्य का दूसरा शासकीय मल्टी सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल का निर्माण हो रहा है। यह सिम्स से बिल्कुल अलग है। प्रधानमंत्री स्वास्थ्य सुरक्षा योजना के तहत बनाए जा रहे हैं। इस हॉस्पिटल में ओपीडी, आईपीडी, आपातकालीन चिकित्सा के अलावा गहन चिकित्सा सुविधा उपलब्ध होगी। यहां बिलासपुर संभाग के अलावा छत्तीसगढ़ और देशभर के मरीजों को सरकारी दर पर स्वास्थ्य सुविधाएं मिलेंगी। इसके अलावा सुपर स्पेशलिटी कोर्सेस की पढ़ाई शुरू होगी। इससे राज्य में सुपर स्पेशिलिटी डॉक्टरों की कमी दूर होगी। 200 करोड़ के प्रोजेक्ट में 60 फीसदी राशि केंद्र सरकार और 40 प्रतिशत राशि राज्य सरकार वहन कर रही है।

ये विभाग होंगे संचालित

- हृदय रोग से संबंधित समस्या मेडिसीन व शल्य क्रियाएं(कार्डियोलॉजी विभाग एवं कार्डियो थोरेसिक वैस्कुलर सर्जरी विभाग)

- किडनी रोग से संबंधित समस्त मेडिसीन एवं शल्य क्रियाएं (नेफ्रोलॉजी विभाग एवं यूरोलॉजी विभाग)

- मस्तिष्क रोग से संबंधित मेडिसीन एवं शल्य क्रियाएं(न्यूरोलॉजी विभाग एवं न्यूरोसर्जरी विभाग)

मल्टी सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल कोनी में बन रहा है इस बीच दो बार निरीक्षण कर चुका हूं। कोरोना की वजह से निर्माण में देर हुई है फिर भी जल्द पूर्ण करने का निर्देश दिया है निर्माण एजेंसी को गुणवत्ता पर विशेष ध्यान देने का निर्देश है। इस अस्पताल के बन जाने से अंचल के लोगों को अच्छी इलाज की सुविधा मिलेगी।
- टीएस सिंह देव,स्वास्थ्य मंत्री छग शासन

Bhupesh Tripathi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned