बिलासपुर : छात्र ने लगाई फांसी, मरने से पहले बनाया वीडियो

- फंसे पर लटकने का बनाया वीडिय़ों, लॉक खुलने से होगा खुलासा .

 

By: Bhupesh Tripathi

Published: 20 Mar 2021, 12:50 PM IST

बिलासपुर. देवरीखुर्द हाउङ्क्षसग बोर्ड कॉलोनी निवासी 17 वर्षीय छात्र ने अज्ञात कारणों के चलते फांसी लगाकर खुदखुशी कर ली। घटना की जानकारी लगते ही मौके पर पहुंची पुलिस ने घर से छात्र का मोबाइल जप्त किया है जो स्टैण्ड में रखा हुआ था। पुलिस को आशांका है कि मृतक छात्र ने आत्म हत्या करने से पहले फांसी लगाने से पहले वीडिय़ों बनाया था। पुलिस मामले में साइबर सेल की सहायता से मामले की जांच को आगे बढ़ा रही है।

पुलिस के अनुसार तोरवा देवरीखुर्द निवासी सरिता श्रीवास्तव के 17 वर्षीय बेटे ओम प्रखर श्रीवास्तव पिता सुनील कुमार ने फांसी लगाकर आत्म हत्या कर ली। घटना रात 8से 8.30 बजे के बीच की है। ओम को बुलाने उसके कमरे में पहुंची उसकी मां सरिता जब में दाखिल हुई तो उसकी आंखे फटी की फटी रह गई। उनका इकलौता बेटा पंखे की हुक पर फंदे से लटक रहा था। ज्यादा देर न हुई हो सोच सरिता ने किसी तरह पडोसियों की सहायता से बेटे को फंदे से बाहर निकाल और सीधे उपचार के लिए अपोलो हॉस्पिटल लेकर पहुंची।

अपोलो में चिकित्सकों ने जांच के दौरान ओम प्रखर श्रीवास्तव को मृत घोषित कर दिया। पुलिस को रात लगभग 9 बजे अपोलो हॉस्पिटल से मिले मर्ग इंटीमेशन रिपोर्ट से सूचना मिली। सूचना पाकर मौके पर पहुंची तोरवा पुलिस ने कमरे को सील कर दिया था। सुबह पंचनामा के दौरान पुलिस ने घटना से स्थल से युवक का मोबाइल फोन व अन्य सामान जप्त कर लिया है। पुलिस की माने तो मोबाइल से कुछ आत्म हत्या संबंधी कुछ सुराग हाथ लग सकते है बहरहाल पुलिस मामले की जांच कर रही है।


12 कक्षा में पढ़ता था ओम प्रखर
पुलिस को जांच में पता चला की ओम प्रखर श्रीवास्तव कक्षा 12वीं का छात्र था, वह कर्नल एकादमी में पढ़ाई कर रहा था व आकाश इंस्टीट्यूट में कोचिंग कर रहा था। पढ़ाई में भी ओम काफी अच्छा था।

इकलौता लड़का था ओम प्रखर
पारिजात स्कूल की प्राचार्य सरिता श्रीवास्तव का ओम प्रखर इकलौता बेटा था। घर में दोनों मां बेटा ही रहा करते थे। पुलिस के अनुसार पति पत्नी के बीच विवाद होने के कारण दोनों अलग अलग रहते थे।

फंसे पर लटकने का बनाया वीडिय़ों, लॉक खुलने से होगा खुलासा
ओम ने फांसी लगाने से पहले फांसी लगाने का पूरा विडिय़ों बनाया है यह आशंका पुलिस को इस कारण है, क्योकी मृतक का मोबाइल जिस स्थान से पुलिस ने बरामद किया है वहां पर मृतक ने मोबाइल को स्टैण्ड में ऐसा सेट किया हुआ है कि शरीर का पूरा हिस्सा व छत पर लगी हुक दिखाई दे रही है। पुलिस की जांच में मोबाइल से मिलान करने पर पता चलाता है। मोबाइल लॉक होने की वजह से वीडियों अभी पुलिस को नहीं मिला है।

कोचिंग इंस्टीट्यूट से फिस पटाने बढ़ रहा था दबाव
ओम प्रखर श्रीवास्तव की फांसी लगाकर आत्म हत्या करने के बाद मोहल्ले में चर्चा चलती रही थी ओम कोचिंग इंस्टीट्यूट से काफी परेशान था उस पर फिस पटाने को लेकर कोचिंग प्रबंधन लगातार दबाव बना रहा था।

हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी निवासी शिक्षिका के इकलौते बेटे ने फांसी लगाकर आत्म हत्या कर ली है। मामले में पुलिस ने मौके से मोबाइल बरामद किया है। मोबाइल स्टैण्ड में ऐसी जगह पर था जिससे फांसी की पूरी घटना आसानी से रिकार्ड हो सकती थी। मोबाइल का बैटरी लो था। चालू करने के बाद साइबर सेल लॉक खोलवाने भेजा गया है। मामले में जांच चल रही है।
- हिदय कुमार पटेल, प्रभारी तोरवा थाना

Bhupesh Tripathi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned