पुलिस की घेराबंदी नाकाम, कांग्रेसियों ने फेंके बेशरम के फूल व चूडिय़ा

कांग्रेस और यादव समाज के पदाधिकारियों के आंदोलन के मद्देनजर पहले से ही पुलिस अफसर पुलिस बल के साथ निगम कार्यालय के गेट पर तैनात थे

By: Amil Shrivas

Published: 22 Aug 2017, 01:40 PM IST

बिलासपुर. स्वतंत्रता दिवस और जन्माष्टमी के पोस्टर को हटाने की पक्षपातपूर्ण कार्रवाई के विरोध में निगम आयुक्त और महापौर को बेशरम का फूल और चूड़ी भेंट करने निगम कार्यालय विकास भवन पहुंचे कांग्रेसियों और पुलिस कर्मियों के बीच जमकर झड़प हुई। हो हंगामे और नारेबाजी के बाद कांग्रेसी विकास भवन के मुख्यद्वार के शटर पर बेशरम का फूल और चूडि़यां फेंककर लौट गए। निगम आयुक्त तो थे नहीं, वहीं अंदर बैठे महापौर महौल शांत होने के बाद गाड़ी में बैठकर वहां से रवाना हो गए। निर्धारित कार्यक्रम के तहत कांग्रेसी और यादव समाज के पदाधिकारी इस मामले को लेकर विरोध जताने और निगम आयुक्त का घेराव करने के लिए निगम कार्यालय विकास भवन पहुंचे थे। कांग्रेस और यादव समाज के पदाधिकारियों के आंदोलन के मद्देनजर पहले से ही पुलिस अफसर पुलिस बल के साथ निगम कार्यालय के गेट पर तैनात थे।

जैसे ही आंदोलनकारी नारेबाजी करते विकास भवन के मुख्यद्वार पर पहुंचे पुलिस ने गेट बंद कर दिया। पार्षदों ने पुलिस द्वारा दूसरी बार गेट बंद कर रोकने पर नाराजगी जताते हुए कहा कि हम निगम के पार्षद है। हमें जाने से कैसे रोका जा सकता है। इस पर विवाद की स्थिति निर्मित हो गई। हो हंगामे और नारेबाजी के बीच पुलिस और कांग्रेसियों के बीच धक्का मुक्की और झूमाझटकी भी हुई। नारेबाजी करने के बाद कांग्रेसी और यादव समाज की महिलाएं निगम की देहरी पर चूडि़यां फेंककर और निगम के गेट पर बेशरम का फूल लटकाकर लौट गईं। निगम के घेराव के दौरान भुनेश्वर यादव, महेश दुबे, विजय पाण्डेय, माधव चिंनमल ओत्तलवार, शैलेष पाण्डेय, शिवा मिश्रा, भास्कर यादव, बद्री यादव, भागीरथी यादव, शिव यादव, धनंजय यादव, लक्की यादव, हीरा यादव, शहर महिला अध्यक्ष सीमा पाण्डेय, ब्लाक अध्यक्ष शशि देवांगन, ब्लाक महिला अध्यक्ष चित्रलेखा कंसकार, दुबे, पार्षद चंद्रप्रदीप बाजपेयी, शैलेन्द्र जायसवाल, पंचराम सूर्यवंशी, तैयब हुसैन, रामा बघेल, मुकीम कुरैशी, श्रीमती पुष्पा दुबे, कांशी रात्रे, दीपांशु श्रीवास्तव, अमृता पाटले, पुष्पा श्रीवास, अखिलेश श्रीवास, रोशन पाटले, महामंत्री राकेश सिंह, स्वप्नील शुक्ला, किसान कांग्रेस के अध्यक्ष सुनील शुक्ला, शहर प्रवक्ता ऋषि पाण्डेय, कार्यालय सचिव सुभाष ठाकुर, युवा कांग्रेस के प्रदेश सचिव जावेद मेमन, सुधांशु मिश्रा, अनिल सिंह चौहान, जहुर अली, मोहम्मद हफीज, सिकंदर बादशाह, आशा पाण्डेय, राजू खटीक, दिल्लू जायसवाल, भरत लोनिया, विजय केशरवानी, अनिल यादव, राकेश हंस, विष्णु कौसल, विक्की आहूजा, अमर बजाज, अनिल शुक्ला, प्रखर सोनी, निर्मल बतरा, तरू तिवारी, करम गोरख, अजय पंत, पुष्पराज उपाध्याय, राहुल साहू, राहुल साहू, कामदेव, नीरज सोनी, लक्ष्मी साहू अमित कुमार, गोपाल दुबे, संजय भास्कर, रामदुलारे रजक, आशीष कोयल, नवीन दुबे, अंकुर तिवारी, किशोर, नरेन्द्र सिदार, मोहन बोले आदि उपस्थित थे।

फिर निकले महापौर : विकास भवन के गेट पर हो हंगामा और नारेबाजी का दौर चलता रहा और महापौर अपने समर्थकों के साथ अपने चेंबर में बैठे रहे। हो हंगामा और नारेबाजी खतम कर जब कांग्रेसी वहां से रवाना हुए तब महापौर बाहर निकले और अपनी गाड़ी में बैठकर वहां से रवाना हो गए।
तत्काल हुई सफाई : आंदोलन के तत्काल बाद मौके पर पहुंचे स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. आेंकार शर्मा ने मोबाइल घनघनाकर सफाई कर्मियों को बुलवाया और तत्काल बिखरी चूडि़यों और बेशरम के फूल को हटवाकर सफाई कराई।
नाकाम रही पुलिस की घेराबंदी
पुलिस और कांग्रेसी मुख्यद्वार पर ही भिड़ते रहे इधर वार्ड नंबर १२ के पार्षद पंचराम सूर्यवंशी की नेतृत्व में कुछ कांग्रेसजन दूसरे रास्ते से निगम आयुक्त चेंबर तक पहुंच गए और वहां नारेबाजी कर आयुक्त चेंबर के एल्ड्राप पर बेशरम का फूल और चूडि़यां लटकाकर वापस लौट आए।

राजपुर गौशाला में गायों की मौत को हत्या बता युकां व एनएसयूआई ने किया प्रदर्शन : युवा कांग्रेस और एनएसयूआई ने भाजपा नेता की गौशाला में हुई मौत को गायों की हत्या बताते हुए सरकंडा महामाया चौक पर प्रदर्शन किया। युकां के बिलासपुर विधानसभा अध्यक्ष शिवा नायडू ने कहा कि गौ माता को वोट बैंक बनाकर वोट बटोरने वाली भाजपा के शासन काल में राजपुर में भाजपा नेता के गौशाला में इस तरह का मामला बेहद शर्मनाक है। जिला महासचिव गोपाल दुबे ने कहा, प्रदेश में भाजपा नेता गौशाला के नाम पर लाखों रुपए का अनुदान ले रहे हैं। इसके बावजूद भूख से गायों की मौत हो रही है। प्रदर्शन में अमन शुक्ला, एनएसयूआई के लक्की मिश्रा, विनय वैध, ऋषि कश्यप, वरदान शुक्ला, मोहम्मद अयाज, अमन सोनी, रोहन, रोहित, शांतनु, विजय यादव, अजय पाण्डेय, शुभम श्रीवास, दीपक पटेल, विनय साहू, मनीष कमलेश, संजय क्षत्री, ऋषि बिनकर शामिल थे।

Amil Shrivas
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned