कोरोनावायरस को लेकर छत्तीसगढ़ के स्वास्थ्य मंत्री का बयान कहा- 30 संदिग्धों की जांच की गई है, सरकार वायरस से लड़ने तैयार

coronavirus terrorism in chhattisgarh:स्वाइन फ्लू में 10 फीसदी डेथ रेशियो है, लेकिन कोरोना में 2.3 फीसदी, प्रदेश में 30 की जांच हुई है, डरे नहीं - स्वास्थ्य मंत्री

By: Murari Soni

Updated: 07 Mar 2020, 12:59 PM IST

बिलासपुर. स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंह देव बुधवार को निजी कार्यक्रम में शामिल हुए छत्तीसगढ़ भवन में रात्रि 9 बजे पत्रकारों से चर्चा करते हुए कहा कि कोरोना वायरस से संदिग्ध और जांच में प्रभावित पाए जाने पर हर जिला स्तर पर तैयारी है। हर जिले में 4 से 6 और किसी-किसी जिले में 18 बिस्तर तक बेड के इंतजाम है। अगर प्रभावित मिले तो ऐसे मरीजों को अलग रखने का इंतजाम भी किया गया है। कहीं-कहीं निजी क्षेत्रों से भी संपर्क किया गया है, जो जांच करेंगे, उनके लिए मास्क के भी इंतजाम किए गए हैं। इसका इलाज नहीं है।

स्वाइन फ्लू में 10 फीसदी डेथ रेशियो है लेकिन कोरोना में 2.3 फीसदी है। प्रदेश में 30 की जांच हुई है। बिलासपुर की एक महिला इटली से आई उन्होंने खुद को जांच के लिए उपलब्ध कराया। उन्होने कहा कोरोना को लेकर लोगों में भय अधिक है। मीडिया में भी हर जगह पर बड़ी बड़ी खबरे प्रकाशित हो रही है लोग डरे हुए हैं। मंत्री ने कहा डर और भय के बजाय सावधानी और जानकारी पर जोर देना चाहिए। उनके साथ बिलासपुर विधायक शैलेश पांडेय,महापौर रामशरण यादव, सभापति शेख नजीरुदंीन, जिलाध्यक्ष विजय केशरवानी, शहर अध्यक्ष नरेंद्र बोलर, पंकज सिंह ,वाणीराव, अर्जुन तिवारी, श्याम कश्यप व जयपाल मुदलियार आदि मौजूद थे।

..नसबंदी कांड : जांच के बाद ही कुछ बोल पाएंगे..
कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी ने मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर कहा है कि कोरोना को लेकर पर्याप्त तैयारी होगी। नसबंदी कांड पर स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि आरोपियों की विभागीय जांच अलग से चल रही है। यह भी है कि जब तक कोई व्यक्ति दोषी सिद्ध नहीं हुआ है, उनको भी मौका मिलना चाहिए। इस मामले में जांच के बाद ही कुछ बोला जा सकता है।

...आयकर रेड केंद्र का राज्य पर टारगेट ..
आयकर जांच पर मंत्री सिंहदेव ने कहा कि केंद्र सरकार ने एक ऐसे रेड का आयोजन किया जिससे ये प्रतीत हो रहा था कि टारगेट आयकर की वसूली नहीं कोई व्यक्ति है। हमारी इतने विधायकों की सरकार है, यह अस्थिर तो हो ही नहीं सकती। केंद्र सरकार सेना के अलग-अलग बलों का उपयोग करने लगे वह भी बगैर राज्य की सरकारों की अनुमति के तो फिर संघ का ढांचा खत्म कर दो।

...एयरपोर्ट से ही जांच हो जाती है शुरू ...
जैसे ही कोई व्यक्ति एयरपोर्ट पर उतरता है तो उसके पासपोर्ट के आधार पर वह जिस राज्य का है, उसे खबर दे दी जा रही है। उस स्थिति में भले न पाए जाए पर उन्हें फॅालो करने कहा जा रहा है। सर्दी-खांसी है, हल्की बुखार आ रहा है और ठंड लग रही है तो आप खुद को संदिग्ध मान सकते हैं। अपना सैंपल दे सकते हैं।

coronavirus Coronavirus Outbreak
Murari Soni
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned