स्कूल को आधुनिक बनाने के बजाय निगम ने बना दिया वार्ड कार्यालय, शिक्षा विभाग ने निगम से वापस मांगी

अहिरवार समाज समेत क्षेत्रीय नागरिक पुन: उसी भवन में स्कूल संचालित करने के लिए कई बार ज्ञापन दे चुके हैं। अब भवन खाली कराने आंदोलन करने की तैयारी कर रहे हैं। संत रविदास नगर कुम्हारपारा में प्राथमिक व पूर्व माध्यमिक विद्यालय 6 दशक से संचालित रहा।

By: Karunakant Chaubey

Published: 18 Oct 2020, 10:11 PM IST

बिलासपुर. तीन वर्ष पहले कुम्हारपारा के प्राथमिक व पूर्व माध्यमिक विद्यालय के जर्जर भवन को नए बनाने के लिए नगर निगम ने लिया था। इस स्कूल भवन को अत्याधुनिक बनाने का काम अब तक पूरा नहीं हो सका। उल्टे नगर निगम ने कुछ हिस्से की मरम्मत करके स्वयं कब्जा करके निगम का वार्ड कार्यालय खोल दिया है।

अहिरवार समाज समेत क्षेत्रीय नागरिक पुन: उसी भवन में स्कूल संचालित करने के लिए कई बार ज्ञापन दे चुके हैं। अब भवन खाली कराने आंदोलन करने की तैयारी कर रहे हैं। संत रविदास नगर कुम्हारपारा में प्राथमिक व पूर्व माध्यमिक विद्यालय 6 दशक से संचालित रहा। जर्जर भवन को पुणे के एक स्कूल की तर्ज में लैब, कम्प्यूटर समेत आधुनिक सुविधाएं मुहैया कराने के लिए विकासखंड शिक्षा अधिकारी बिल्हा से लिया गया।

नवरात्रि पूजा के लिए जिला प्रशासन ने गाइडलाइन जारी किया, हर दर्शनार्थी का नाम, पता, मोबाइल नंबर करना होगा दर्ज

लेकिन तीन वर्ष गुजरने के बाद भी इस स्कूल भवन का निर्माण अब तक पूर्ण नहीं किया गया है। स्कूल भवन के कुछ हिस्से का मरम्मत करके नगर निगम ने वार्ड कार्यालय शुरू कर दिया है। इस स्कूल के बच्चों को शनिचरी बाजार के स्कूल में स्थानांतरित किया गया है। पिछले तीन वर्ष से छोटे-छोटे बच्चे व्यस्ततम मुख्य मार्ग से होकर स्कूल जाते हैं, जिससे अभिभावकों में दुर्घटनाएं की आशंका बनी रहती है।

स्कूल शिफ्ट नहीं होने पर आंदोलन

मोहल्ले के नागरिकों और प्रांतीय अहिरवार समाज लगातार स्कूल को पुन: पुराने भवन में शिफ्ट करने की मांग कर रहे हैं। नगर निगम द्वारा अपना कब्जा नहीं हटाने व स्कूल को शिफ्ट नहीं करने पर आंदोलन की चेतावनी दी है। जिला शिक्षा अधिकारी एके भार्गव ने नगर निगम आयुक्त को कुम्हारपारा का स्कूल भवन पुन: विकासखंड शिक्षा अधिकारी बिल्हा को वापस करने पत्र पे्रषित किया है।

ये भी पढ़ें: त्योहारों में चलाई जाने वाली ट्रेनों में सफर के लिए रेलवे ने बनाए सख्त नियम, उलंघन कारने वाले जायेंगे जेल

Karunakant Chaubey Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned