गर्भवती महिलाओं के लिए टीका लगवाना सुरक्षित है या नहीं, जानिए एक्सपर्ट्स की राय

अब गर्भवती महिलाओं को भी कोरोना वैक्सीन (Corona vaccine for pregnant lady) लगाई जाएगी। इसके लिए स्वास्थ्य विभाग विकास खंड मेडिकल ऑफिसर्स को प्रशिक्षण भी दे दिया है।

By: Ashish Gupta

Published: 12 Jul 2021, 05:10 PM IST

बिलासपुर. अब गर्भवती महिलाओं को भी कोरोना वैक्सीन (Corona vaccine for pregnant lady) लगाई जाएगी। इसके लिए स्वास्थ्य विभाग विकास खंड मेडिकल ऑफिसर्स को प्रशिक्षण भी दे दिया है। इसके बाद जिला अस्पातल, सिम्स और आईएमए के डॉक्टरों को भी प्रशिक्षण देने की तैयारी कर रही है। इंडियन काउंसिल आफ मेडिकल रिसर्च (ICMR) की तरफ से टीकाकरण को लेकर स्थिति स्पष्ट होने के बाद स्वास्थ्य विभाग ने भी अब गर्भवती महिलाओं में टीकाकरण के लिए तैयारियां शुरू कर दी हैं। इसके लिए गर्भवतियों का डाटा तैयार किया जा रहा है। प्रदेश सरकार ने भी इसे हरी झंडी दे दी है।

यह भी पढ़ें: विदेश जाने वाले 28 दिन में लगवा सकते हैं कोविशील्ड की दूसरी डोज, पहले करना होगा ये काम

एनएचएम मिशन निदेशक द्बारा सीएमएचओ डॉ. प्रमोद महाजन को इसके निर्देश दिए गए है। जिसमें आईसीएमआर की रिपोर्ट का हवाला देते हुए कहा गया है कि कोविड टीकाकरण से गर्भवती महिला को संभावित जोखिम के सापेक्ष टीकाकरण से ज्यादा लाभ है। सीएमएचओ डॉ. महाजन ने बताया कि स्वास्थ्य विभाग इसकी तैयारियों में जुटा है। जल्द ही गर्भवती महिलाओं का भी कोरोना टीकाकरण शुरू कर दिया जाएगा। साथ ही गर्भवती महिलाओं के लिए अलग से टीकाकरण शिविर भी आयोजित किए जाएंगे।

यह भी पढ़ें: कोरोना संक्रमण के बीच अब इस बीमारी ने पसारा पांव, जानिए इसके लक्षण और बचाव

गर्भवती महिलाएं भी जरूर लगंवाएं वैक्सीन
जिला टीकाकरण अधिकारी डा. मनोज सेमुअल ने कहा कि गर्भवती महिलाओं के कोरोना संक्रमित होने के बाद शुरुआत में संक्रमण के लक्षण हल्के होंगे, लेकिन फिर तेजी से उनका स्वास्थ्य बिगड़ सकता है और इससे उनके पेट में पल रहा बच्चे का स्वास्थ्य भी प्रभावित हो सकता है। इसीलिए यह महत्वपूर्ण है कि वे खुद को कोविड-19 से बचाने के लिए सभी तरह की सावधानी बरतें और टीका जरूर लगवा लें।

यह भी पढ़ें: Corona Alert: कोरोना की यही रफ्तार रही तो छत्तीसगढ़ में 9 दिन बाद मरीज 10,00,000 पार

35 साल से अधिक गर्भवती महिलाओं को खतरा ज्यादा
डॉक्टरों के मुताबिक जिन गर्भवती महिलाओं की उम्र 35 साल से अधिक है, जिनका वजन भी अधिक है और जिन्हें डायबिटीज या हाई बल्ड प्रेशर की समस्या है, उन्हें कोरोना संक्रमण का खतरा अधिक है। अगर महिला गर्भावस्था के दौरान कोरोना की चपेट में आकर उससे उबर चुकी है तो वह टीके के लिए थोड़ा इंतजार कर सकती है, लेकिन डिलीवरी के तुरंत बाद उसे वैक्सीन लगवा लेनी चाहिए।

Show More
Ashish Gupta
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned