फेसबुक में दोस्ती पड़ी भारी, महिला संबंधी अपराध में बढोत्तरी, पहले दोस्ती फिर झांसे में अस्मत लूटाई

Facebook Crime : अधिकांश महिलाए या युवतिया शादी के झांसे आकर अस्मत लुटा बैठी।

By: Bhupesh Tripathi

Updated: 07 Jun 2021, 03:08 PM IST

बिलासपुर . फेसबुक ने मनोरंजन के साथ - साथ अपराध का ग्राफ भी काफी तेजी से बढ़ाया है, इसमें महिला संबंधी अपराध भी शामिल है। पुलिस के पास शादी का झांसा देकर बलात्कार की जो शिकायते आई है उनमें 35 प्रतिशत से अधिक मामले ऐसे है जिसमें युवतियों व महिलाओं ने अंजान लोगो से फेसबुक पर दोस्ती की, मैसेजर से चैटिंग के बाद नम्बर का अदान प्रदान और फिर मुलाकात करने भी पहुंची गई। अधिकांश महिलाए या युवतिया शादी के झांसे आकर अस्मत लुटा बैठी।

Read More : CG Board: घर से परीक्षा दे रहे 12वीं के स्टूडेंट्स की नकल करने की शिकायत मिली, तो बोर्ड करेगा कार्रवाई

फेसबुक में आकर्षक फोटो व प्रोफाइल स्टेटस देख लोगो के पास नए नए नाम व चेहरों के दोस्ती भरे संदेश आना आम बात है। खासकर महिलाओं व युवतियों के पास ऐसे दोस्ती भरे संदेश बड़ी संख्या में आते रहते है। कुछ शायद जान पहचान का होने के कारण फे्रड रिक्वेस्ट को स्वीकर करती है तो कुछ नए लोगो से दोस्ती कर अपना सम्पर्क बढ़ाने की लालसा में दोस्ती भरे संदेश को स्वीकर कर लेते है। अंजान लोगो से दोस्ती कई बार तब भारी पड़ जाती है जब हम किसी के संदेश पर लगातार रिस्पांस देते हुए उसके काफी करीब पहुंच जाते है। खास कर महिलाए या युवतियों के साथ ऐसा सबसे ज्यादा होता है। अंजान लोगो से दोस्ती के बाद उनकी चिकनी चुपड़ी बातों में आकर उनसे मिलने की इच्छा जाहिर करते हुए उन तक पहुंच जाती है या फिर उन्हें मोबाइल नम्बर व पता बता देती है।

Read More : 25 लाख राशन कार्डों में आधार गलत, वन नेशन वन राशन कार्ड सत्यापन में हुआ खुलासा

अंजान से मुलाकात के बाद उनकी बातों में आकर आकर्षण हो जाती है और इतनी नजदीकिया बढ़ा लेती है कि महिला संबंधी अपराध का शिकार हो कर बलात्कार का शिकार हो जाती है। जिले में वर्ष 2020 में बलात्कार के 60 व 2021 में 45 मामले दर्ज हो चुके है। इसमें से 35 प्रतिशत मामले केवल फेसबुकिया प्यार थे। फेसबुक में प्यार हुआ फिर मैसेजर से वाट्सएप तक चैटिंग होती रही। मुलाकात हुई और युवक ने शादी का झांसा देकर बलात्कर की वारदात को अंजाम दिया।

READ MORE : संक्रमण दर-मृत्यु दर कम, रिकवरी रेट बढ़ा, इसका मतलब यह नहीं कि कोरोना चला गया, बरते ये सावधानियां

सप्ताह में एक्का दुक्का मामले होते है दर्ज जिसमें फेसबुक है वजह
फेस बुक में दोस्ती और फिर शादी का झांसा देकर तीन से चार साल तक बलात्कार की वारदात को अंजाम देने के मामले की संख्या तेजी से बढ़ रही है। एफआईआर कराने शहरी व ग्रामीण थानों में एक्का दूक्का मामले सप्ताह में एक या दो दर्ज होते ही है। सामाजिक प्रतिष्ठा व बदनामी के डर से कुछ युवतिया व महिलाए थाने नहीं पहुंचती इससे मामला सामने नहीं आता।

ऐसे भी मामले सामने आए
विवाहित महिलाए को मनचलें ने अपने झूठे प्रेम जाल में फेसबुक के माध्यम से फंसाया, उसके पारिवारिक झगड़े का फायदा उठाते हुए पति पत्नी के बीच अनबन कराई। पत्नी ने फेसबुकिया प्यार में पड़ पति से तलाक ले लिया। अब न तो उसे वह फेसबुलिकया प्रेमी अपना रहा है और पति के पास वह लौट नहीं सकती। ऐसे आधा दर्जन मामले हाल ही में सामने आए है।

अंजान नम्बर से न तो दोस्ती करे, अपने रूटीन की गतिविधिया व गोपनीय बाते कभी भी फेसबुक में साझा नहीं करनी चाहिए। प्रोफाइल लॉक रखना चाहिए। किसी भी अंजान व्यक्ति पर जल्दी व एकदम से भरोसा नहीं करना चाहिए खास कर शादी जैसे अहम फैसले को लेकर क्योकी अक्सर कुछ युवतियां व महिलाए जल्दी ही झांसे में आती और अंजाने में उसके साथ अपराध हो जाता है।
- उमेश कश्यप, एडीशनल एसपी बिलासपुर

READ MORE : Patrika Positive News : शुक्र है, श्मशान में तीन महीने बाद छा रही शांति

Bhupesh Tripathi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned