माता-पिता की मौत के बाद बड़े पिता के घर रह रही युवती की फंदे पर झूलती मिली लाश से सनसनी

छत्तीसगढ़ के बिलासपुर जिले के लिम्हा के जंगल में 17 वर्षीय किशोरी की लाश मिलने से सनसनी फैल गई। मामले की जांच कर रही पुलिस को पता चला की अंजली की मां 10 साल पहले ही उसे छोड़ कर दुनिया से चली गई थी। वहीं 2 साल पहले पिता का साया भी सर से उठ गया था।

By: Ashish Gupta

Published: 07 Jun 2021, 03:41 PM IST

बिलासपुर. छत्तीसगढ़ के बिलासपुर जिले के लिम्हा के जंगल में 17 वर्षीय किशोरी की लाश मिलने से सनसनी फैल गई। फारेस्ट चौकीदार सोनसाय यादव ने ग्रामीण निलमणी मानिकपुरी से जानकारी लगते ही बीट प्रभारी रहस राम नागेश को घटना दी थी। किशोरी का फंदे पर लटका शव होने की जानकारी लगते ही रतनपुर पुलिस मर्ग कायम कर जांच को आगे बढ़ा रही है।

यह भी पढ़ें: रिटायरमेंट के एक दिन पहले सहायक आबकारी आयुक्त ने की खुदकुशी, सुसाइड नोट में पता चली ये बड़ी वजह

पुलिस के अनुसार फंदे पर झूलती लाश को जब नीचे उतारा गया तो उसके पास से मिले आधार कार्ड से उसकी पहचान अंजली पिता रामाधार (17) निवासी कसीयरापारा लिम्हा के रूप में हुई। किशोरी के परिजनों की तलाश कर रही रतनपुर पुलिस को पता चला कि युवती सीपत थाना क्षेत्र के खोदरा में अपने बड़े पिताजी के घर में छ: माह से रह रही थी। 7 दिन पूर्व वह बड़े पिताजी को नानी घर जाने की बात कह कर निकली थी। उसके बाद से किशोरी का पता नहीं था।

यह भी पढ़ें: जिसके लिए पति को छोड़ा अब प्रेमी ने भी मुंह मोड़ा, पीड़िता ने थाने में की शिकायत, FIR दर्ज

सूचना पर घटनास्थल पहुंचे बड़े पिताजी ने पुलिस को बताया कि वह यही सोच रहे थे की अंजली अपने नानी के घर होगी। उन्हें नानी घर में बात कर जानकारी नहीं ली थी। किशोरी के नानी घर सूचना देने बाद भी कोई नहीं पहुंचा। पुलिस ने मामले में किशोरी के शव का पोस्टमार्टम करवा लिया है। सोमवार को पीएम रिपोर्ट आने के बाद पुलिस की जांच आगे बढ़ेगी।

यह भी पढ़ें: सौतेले भाई की मुंहबोली साली के साथ मिलकर हत्या की सुपारी देने वाला गिरफ्तार

10 साल पहले मां और 2 साल पहले पिता की मौत
मामले की जांच कर रही पुलिस को पता चला की अंजली की मां 10 साल पहले ही उसे छोड़ कर दुनिया से चली गई थी। वहीं 2 साल पहले पिता का साया भी सर से उठ गया था। कभी वह बड़े पिताजी के यहां रहती तो कभी अपनी मामा व नानी के घर रहने चली जाती थी। फांसी लगाने के कारण परिजनों के बयान के बाद ही स्पष्ट होगा।

Ashish Gupta
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned