इस शहर में भी पहुंच गया बंगाल का गुस्सा, सैकड़ो डॉक्टर बोले बंगाल की दीदी तानाशाह हैं, हम नहीं सहेंगे

Murari Soni | Updated: 14 Jun 2019, 07:21:03 PM (IST) Bilaspur, Bilaspur, Chhattisgarh, India

सिम्स के डॉक्टरों ने की हड़ताल(Doctor's strike), रैली निकाली और जिला प्रशासन को ज्ञापन सौंपा, डॉक्टरों के एक साथ हड़ताल पर जाने से मरीजों का असुविधा हुई। डॉक्टर बंगाल में डॉक्टरों पर हुए हमले (Attack on doctors)का विरोध (Against)कर रहे हैं।

बिलासपुर. बंगाल में लगातार तीन दिन से काम बंद करके धरने पर बैठे जूनियर डॉक्टरों के समर्थन में बिलासपुर सिम्स के डॉक्टर भी आ गए। डॉक्टरों ने हाथ में काली पट्टी बांधकर, तख्तियां लेकर रैली निकाली। सिम्स में ओपीडी का बहिष्कार कर प्रदर्शन किया। रैली सिम्स से नेहरु चौक होते हुए कलेक्ट्रेट पहुंची जहां जिला प्रशासन को ज्ञापन सौंपा गया।

सिम्स की ये ख़बरें भी पढ़ें

छत्तीसगढ़ के डॉक्टर एसोसिएशन पूरे प्रदेश में ओपीडी में नहीं जाने की बात कही थी। डॉक्टरों का कहना है कि हमे सीआईएसएफ की सुरक्षा दी जाए। डॉक्टरों ने ओपीडी का बॉयकाट किया है, लेकिन इमर्जेंसी सेवाएं बहाल रखी हैं। कोलकाता में डॉक्टरों के साथ हुई मारपीट के बाद सभी मेडिकल कलेजों और अस्पतालों से एक दिन की देशव्यापी हड़ताल का आह्वान किया है। हड़ताल प्रदेश के ज्यादातर मेडिकल कॉलेजों में पहुंच गई है और जूनियर डॉक्टरों ने सुबह से ओपीडी का बहिष्कार कर दिया है। डॉक्टरों ने कहा की बंगाल में हुई घटना से डॉक्टरों की सुरक्षा पर प्रश्न चिन्ह लग गया है, हम पहले भी सुरक्षा दिलाये जाने की मांग कर चुके हैं, अब दादा गिरी नहीं चलेगी

Doctors boycott opd in CIMS Bilaspur chhattisgarh

पत्रिका की लेटेस्ट खबरें पढ़ें

Instagram - https://www.instagram.com/patrikabsp/


Twitter - https://twitter.com/BilaspurPatrika


Facebook - https://www.facebook.com/pg/patrikabsp

 

 

Show More

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned