पंपहाउस के बोर में नहीं लग पाया टरबाइन पानी का संकट बढ़ा, टैंकर भी पर्याप्त नहीं

पंपहाउस के बोर में नहीं लग पाया टरबाइन पानी का संकट बढ़ा, टैंकर भी पर्याप्त नहीं

Brijesh Kumar Yadav | Publish: Apr, 17 2019 12:15:21 PM (IST) Bilaspur, Bilaspur, Chhattisgarh, India

परेशानी: रोजाना 10-15 टैंकर पानी की जा रही आपूर्ति

बिलासपुर. एक तरफ शहर में पानी को लेकर हाहाकार मचा हुआ है वहीं दूसरी ओर निगम के पानी टैंकरों की स्थिति भी अच्छी नहीं है। निगम के जलकार्य विभाग के पास संकटकालीन स्थिति में जलप्रदाय करने के लिए 35 टैंकर हैं, इनमें से 31 के दुरुस्त होने का दावा भी किया जा रहा है लेकिन हकीकत यह है कि ज्यादातर टैंकर लीकेज है। उधर कुदुदंड में पंप हाउस में बोर में टरबाइन को मरम्मत के बाद फिर से लगाने की कोशिश की गयी लेकिन देर शाम तक सफलता नहीं मिली।
पिछले साल की तरह शहर में जलसकंट गहराता जा रहा है, नगर निगम के जलकार्य अमले के पास आसन्न जलसंकट से निबटने के लिए न तो फंड है और नही तैयारी। निगम के पंप हाउस परिसर में खड़े खस्ताहाल पानी टैंकरों की स्थिति को देखकर इसका अंदाजा लगाया जा सकता है। निगम प्रशासन के पास शहर में जलसकंट के हालात से निबटने जलप्रदाय के लिए 35 टैंकर हैं, दावा किया जा रहा है कि इनमें से 31 टैंकर दुरुस्त हैं, जबकि 4 टैंकर लीकेज है लेकिन वास्तविकता यह है कि 3 नए टैंकर और दो वॉटर लॉरी को छोड़कर सभी की हालत खराब है। ज्यादातर टैंकर जगह-जगह फूटे हुए हैं तो किसी टैंकर का ढक्कन तो किसी के टायर ही गायब हैं। कई टैंकरों की स्थिति तो इतनी खराब है कि पंप हाउस से गंत्व्य तक पानी पहुंचाने के दौरान आधा पानी टूट फूट लीेकेज और ढक्कन न होने के कारण रास्ते में ही बह जा रहा है।
पंप हाउस में टरबाइन पंप का कार्य जारी
इधर नगर निगम के कुदुदंड पानी टंकी को भरने में आ रही दिक्कत के मद्देनजर पंप हाउस के बोर को खुलवाकर टरबाइन पंप को मरम्मत के लिए भेजा गया। मरम्मत के बाद मंगलवार को जब टरबाइन पंप को बोर के अंदर डालने का प्रयास किया गया तो पंप अंदर नहीं बैठ पाया जिसे देर शाम तक लगाने का प्रयास किया जाता रहा।
कई साल से नीलामी का प्रयास
पंप हाउस परिसर में ज्यादातर टैंकर खस्ताहाल खड़े हैं, किसी के पहिए गायब हैं तो ईंट रचाकर खड़ा किया गया है तो कोई पल्टा पड़ा है। निगम प्रशासन इसे कंडम घोषित कर कई सालों से नीलाम करने का प्रयास कर रहा है।
नगर निगम के पंप हाउस से बारह माह विवाह समारोह और अन्य कार्यों के लिए टैंकर से जलप्रदाय किया जाता है। इसके अलावा जिन इलाकों में जलापूर्ति में दिक्कत हो वहां टैंकर भेजे जाते हैं। गर्मी में पानी की डिमांड और बढ़ जाती है वर्तमान में दो टैंकर पानी कोनी मतगणना स्थल भेजे जा रहे हैं। इसके अलावा देवरीखुर्द, गणेशनगर, राजकिशोर नगर इलाके में कहीं साल तो कहीं चार-पांच साल से टैंकरों के माध्यम से जलप्रदाय किया जा रहा है। इसके अलावा विजयापुरम के अटल आवास, राजकिशोर नगर चंदन आवास और गणेश नगर अन्नपूर्णा कालोनी मेंं पंप में खराबी आने के कारण टैंकर भेजकर जलप्रदाय कराया जा रहा है।
गणेश नगर में वाहन की टक्कर से पाइप लाइन टूटी, अन्नपूर्णा कॉलोनी में ठप रही जलापूर्ति
पहले से ही जल संकट की मार झेल रहे गणेश नगर अन्नूपूर्णा कॉलोनीवासियों के लिए दोहरा संकट झेलना पड़ा। सोमवार की रात अज्ञात वाहन की टक्कर से पाइप लाइन क्षतिग्रस्त होने के कारण यहां के कई इलाकों में जलापूर्ति ठप रही। इसके चलते अन्नपूर्णा कॉलोनीवासियों को सुबह का पानी नहीं मिला टैंकर भेजकर जलापूर्ति कराई गई। दोपहर भर में मशक्कत कर पाइप लाइन को दुरुस्त करा रात को यहां जलापूति की गई।
अभी रोजाना 10 से 15 टैंकर भेजे जा रहे
--निगम के जलकार्य विभाग में 35 टैंकर हैं, इनमें से 5-6 की हालत खराब है कोई लीकेज है तो किसी में टायर ट्यूब का प्रॉब्लम है। उनकी मरम्मत कराई जा रही है। इंजीनियरिंग कॉलेज, देवरीखुर्द, तेलीपारा और गणेशनगर में भी टैंकर भेजे जा रहे हैं इसके अलावा जहां पंप वगैरह खराब होने पर मांग आती है वहां भेजते हैं। अभी रोजाना 10 से 15 टैंकर भेजे जा रहे हैं।
संजीव बृजपुरिया, कार्यपालन अभियंता नगर निगम जलकार्य विभाग

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned