मजदूरों ने पेश की ईमानदारी की मिसाल, रुपयों से भरा बैग पुलिस को लौटाया, देखें वीडियो

उन्होंने बैग को सिविल लाइन थाने में जमा कर दिया।

By: Amil Shrivas

Published: 09 Dec 2017, 05:32 PM IST

बिलासपुर . मजूदरों ने रुपए से भरा बैग पुलिस को सौंपकर ईमानदारी की मिसाल पेश की है। सिविल लाइन पुलिस बैग की जांच कर मालिक की तलाश कर रही है। बैग किसी महिला का है जिसमें जेवर व नगद सहित 50 हजार रुपए का सामान है। पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार चांटीडीह ईरानी मोहल्ले में रहने वाले त्रिलोक सिंह जो पेशे से इलेक्ट्रिशियन है, अपने साथी पेंटर गोविंद सिंह के साथ काम पर जा रहे थे। अभी वे मसानगंज पहुंचे ही थे कि त्रिलोक सिंह की नजर चौधरी टे्रडर्स के सामने सड़क पर पड़े लाल व काले रंग की लेडिस पर्स पर पड़ी। उसने आसपास के लोगों से बैग के बारे में पूछताछ की, लेकिन लोगों ने पहचानने से इंकार कर दिया। उन्होंने बैग को सिविल लाइन थाने में जमा कर दिया।
50 हजार रुपए का सामान मिला : पुलिस को जांच में 6 हजार रुपए नगद, सेमसंग कंपनी का मोबाइल व चांदी का पायल मिला है। जिसकी अनुमानित कीमत 50 हजार रुपए आंकी गई है। पुलिस ने बैग से मिले मोबाइल का लॉक खोलकर दो-तीन नंबर पर फोन कर मालिक की पतासाजी की, लेकिन लोगों ने पहचानने से इंकार कर दिया।
READ MORE : जरा ध्यान दें-संपर्क क्रांति आज रद्द, दिल्ली की तरफ जाने वाली 10 गाडिय़ों के रुट बदले

अंजना के नाम से मिली रसीद : जांच में पुलिस को मणपुरम्म गोल्ड लोन फाइनेंस कंपनी की एक पर्ची मिली। जिसमें अंजना शांडिल्य पति विजय शांडिल्य कुम्हारा जरहाभाठा निवासी का नाम अंकित है। पुलिस रसीद के आधार पर बैग मालिक की तलाश में जुटी हुई है।
ड्राइवर ने रुपए से भरा पर्स लौटाया था : इसी तरह कुछ माह पहले कार चालक एक युवक को रुपयों से भरा पर्स मिला था। जिसे वह लौटाने सिविल लाइन थाने गया। वहां से जानकारी मिली की उक्त पर्स कलेक्टर आफिस में काम करने वाले किसी कर्मचारी का है। जिसे उसने लौटाकर अपनी ईमानदारी दिखाई थी।

READ MORE : मेंटल हॉस्पिटल में 100 की जगह होंगे 200 बेड, निर्माण कार्य जल्द होगा शुरु

Amil Shrivas
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned