अब नहीं चलेगा चंदुवाभाठा का बहाना, अफसर जान लेंगे लोकेशन

लगातार मिल रही शिकायतों को देखते हुए एसपी मयंक श्रीवास्तव ने पेट्रोलिंग वाहनों में एंड्राइड मोबाइल लगाने के निर्देश दिए।

By: Amil Shrivas

Published: 12 Nov 2017, 11:32 AM IST

बिलासपुर . गश्त में लापरवाही बरतने वाले पुलिस कर्मियों पर अब उच्च अधिकारी सीधे संपर्क कर उनका लोकेशन देख सकेंगे। एसपी के आदेश पर शहर के सभी पेट्रोलिंग वाहनों में एंड्राइड मोबाइल लगवा दिया है। इसके जरिए अधिकारी नंबर डॉयल कर पेट्रोलिंग वाहन का लोकेशन जान सकेंगे। यानी अब चंदुवाभाठा या दूसरे गलत लोकेशन देकर अफसरों को भ्रमित करने का खेल नहीं चल सकेगा। शहर में लॉ एंड आर्डर की स्थिति में मोर्चा संभालने की पहली जिम्मेदारी थानों के पेट्रोलिंग वाहनों की रहती है। आपात स्थिति की सूचना पर पुलिस कर्मी वाहनों से मौके पर पहुंचते हैं, लेकिन पिछले कुछ महीनों से थानों के पेट्रोलिंग वाहनों में ड्यूटी करने वाले कई कर्मचारी अपनी जिम्मेदारियों से भाग रहे हैं। वे मुख्य काम छोड़कर दूसरे काम में भिड़ जाते हैं। कभी समय काटने के लिए कहीं पर भी गाडी खड़ा करके गप्पें लड़ाने लगते हैं। कभी गलत लोकेशन देकर गुमराह करते हैं। ऐसी जगह का नाम बताते हैं कि उस स्थान का नाम अफसर जानते ही नहीं। लगातार मिल रही शिकायतों को देखते हुए एसपी मयंक श्रीवास्तव ने पेट्रोलिंग वाहनों में एंड्राइड मोबाइल लगाने के निर्देश दिए।

READ MORE : टे्रन में चढ़ते समय वृद्धा का फिसला पैर, यात्रियों ने ऐसे बचाई जान

इस पर एएसपी नीरज चंद्राकर ने सिविल लाइन, सिटी कोतवाली, तारबाहर, तोरवा, सिरगिट्टी, कोनी, सरकंडा व चकरभाठा थाने की पेट्रोलिंग गाडिय़ों में एंड्राइड फोन लगवा दिया है। इससे पेट्रोलिंग वाहनों की पल-पल गतिविधियों पर नजर रखी जा सकेगी। पेट्रोलिंग वाहनों में ड्यूटी करने वाले कर्मचारियों को संदिग्ध व्यक्तियों को पकडऩे पर उनकी फोटो खींचकर मैसेंजर के माध्यम से अधिकारी तक भेजने की जिम्मेदारी भी दी गई है।
झूठ बोलने पर हो चुकी कार्रवाई : दो दिन पूर्व शुक्रवार को सर्किट हाउस में केबिनेट मिनिस्टर की सुरक्षा में कर्मचारियों को भेजने की झूठी जानकारी सिविल लाइन थाने के कर्मचारियों ने कंट्रोल रूम को दी थी। लेकिन वहां एएसपी पहुंचे तो पता चला था कि कर्मचारी ड्यूटी करने वहां गए ही नहीं। अधिकारियों व पुलिस कंट्रोल रूम को झूठी जानकारी दी गई थी। इस पर थाने के 4 पुलिस कर्मियों को लाइन अटैच किया गया था।
एंड्राइड मोबाइल के जरिए रखेंगे नजर : शहर के थानों की पेट्रोलिंग गाडिय़ों में एंड्राइड मोबाइल रखे गए हैं। इसके जरिए पुलिस कर्मचारियों से सीधा संपर्क रखा जाएगा। साथ ही लापरवाही बरतने वाले कर्मचारियों पर कार्रवाई की जा सकेगी।
नीरज चंद्राकर, एएसपी सिटी।

READ MORE : नशे और अपराध की दुनिया से बच्चों को बचाने के लिए दें पर्याप्त समय, समझाइश और संस्कार

Amil Shrivas
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned