मेक इन इंडिया के तहत SECR में स्थानीय उद्यमियों को प्रोत्साहित करने लगी प्रदर्शनी

- प्रदर्शनी में रेलवे में लगने वाली सुरक्षा एवं अति महत्वपूर्ण मदों (आरडीएसओ द्वारा नियंत्रित) को प्रदर्शित किया गया है । रेलवे अधिकारियों ने संभावना व्यक्ति की है कि स्थानीय उद्यमियों को बढ़ावा, स्थानीय निवासियों को रोजगार एवं आर्थिक गतिविधियों में प्रगति होगी ।

By: Bhupesh Tripathi

Published: 12 Jan 2021, 10:47 PM IST

बिलासपुर. भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा चलाई जा रही मेक इन इंडिया की पहल को बढ़ावा देने एवं सभी उद्यमियों को प्रोत्साहित करने तथा सामग्रियों की खरीदारी के लिए भारतीय रेल में लगने वाली सामग्री के लिए विक्रेताओं का आधार तैयार करने के उददेश्य से एसईसीआर के तीनों मंडल (बिलासपुर, रायपुर, नागपुर) में भंडार विभाग द्वारा स्थाई प्रदर्शनी लगाई गई है।

प्रदर्शनी में रेलवे में लगने वाली सुरक्षा एवं अति महत्वपूर्ण मदों (आरडीएसओ द्वारा नियंत्रित) को प्रदर्शित किया गया है । रेलवे अधिकारियों ने संभावना व्यक्ति की है कि स्थानीय उद्यमियों को बढ़ावा, स्थानीय निवासियों को रोजगार एवं आर्थिक गतिविधियों में प्रगति होगी । भावी उद्यमी इस प्रदर्शनी का अवलोकन करके सामग्री की विस्तृत एवं तकनीकी जानकारी तथा आरडीएसओ के साथ पंजीकरण के संबंध में जानकारी ले सकते हैं।

00000000000

अंतर रेल सांस्कृतिक प्रतियोगिता में दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे को 2019 का सांस्कृतिक शील्ड
प्रत्येक वर्ष रेलवे कर्मचारियों एवं उनके आश्रितों की सांस्कृतिक प्रतिभा को निखारने के लिए रेलवे बोर्ड द्वारा नृत्य, संगीत एवं नाटक आदि सांस्कृतिक प्रतियोगिताओं का आयोजन किया गया है। एसईसीआर बिलासपुर के कलाकारों द्वारा वर्ष 2019 में सांस्कृतिक प्रतियोगिता में उत्कृष्ट प्रदर्शन कर अखिल भारतीय सांस्कृतिक प्रतियोगिता में अपना स्थान बनाते हुए 2019 का सांस्कृतिक शील्ड अपने नाम किया ।

सांस्कृतिक शील्ड रेलवे बोर्ड द्वारा ७ जनवरी को दिया गया। वर्ष 2019 में अंतर रेलवे सांस्कृतिक प्रतियोगिता के विभिन्न चरणों में, मध्य रेल, मुंबई , दक्षिण पूर्व मध्य रेल, बिलासपुर एवं दक्षिण पूर्व रेलवे, खडग़पुर में आयोजित किए गए थे । दक्षिण पूर्व मध्य रेल, बिलासपुर के कलाकारों के उत्कृष्ट प्रदर्शन से इस रेलवे को प्रथम स्थान प्राप्त हुआ एवं रनिंग शील्ड प्रदान की गई ।

इसमें एसईसीआर के कर्मचारी मनोज जयसवाल, द्वारा शास्त्रीय वाद्य विधा में प्रथम स्थान, तबला संगत डॉ. आशीष देवांगन संजू चौहान द्वारा सुगम गायन विधा में द्वितीय स्थान, तबला संगत रोहित बेन, हारमोनियम संगत डॉ. गौरव कुमार पाठक एवं सितार संगत मनोज जयसवाल द्वारा किया गया, शास्त्रीय नृत्य माहेश्वरी प्रधान ने द्वितीय स्थान, समूह लोक नृत्य में तृतीय अदित्या नामदेव और समूह को तीसरा स्थान मिला। गायन में रिशिकांत गुप्ता ने सहयोग किया ।

Bhupesh Tripathi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned