केन्द्रीय विश्वविद्यालय के नाम पर फर्जी सूचना वायरल, विवि ने कहा सावधान रहें

2 नवंबर को विश्वविद्यालय के फिर से खुलने के बाद ऑनलाइन कक्षाएं बंद हो जाएंगी। यूनिर्सिटी प्रबंध ने उक्त ज्ञाप को फर्जी बताते हुए विद्यार्थियों और अभिभावकों को इससे दूर रहने की अपील की है। साथ ही विद्यार्थियों को यूनिवर्सिटी की वेबसाइट का अवलोकन करने के निर्देश दिए हैं।

By: Karunakant Chaubey

Published: 05 Nov 2020, 03:09 PM IST

बिलासपुर. गुरु घासीदास केन्द्रीय विश्वविद्यालय के नाम पर एक फर्जी सूचना वायरल हो रही है। ऐसे में विवि प्रबंधन ने इसे गलत बताते हुए छात्रों और अभिभावकों को इससे दूर रहने को कहा है। विवि प्रबंधन ने बताया कि अकादमिक विभाग को जानकारी मिली थी कि किसी व्यक्ति ने विश्वविद्यालय के कुलसचिव के हस्ताक्षरयुक्त कार्यालयीय ज्ञाप 30 अक्टूबर जारी कर दिया है।

यह कार्यालयीय ज्ञाप विश्वविद्यालय के छात्रों एवं अभिभावकों के लिए थे जिसमें विश्वविद्यालय में 1 नवंबर से एमए पत्रकारिता, अर्थ शास्त्र, इतिहास, राजनीति विज्ञान, एमएससी वनस्पति शास्त्र, प्राणी शास्त्र, एम.फार्मा एवं समस्त पीएचडी विद्यार्थियों को उपस्थिति देनी है।

विश्वविद्यालय-महाविद्यालय में ऑनलाइन क्लास का पहला दिन, तकनीकी समस्याओं से जूझते रहे छात्र

2 नवंबर को विश्वविद्यालय के फिर से खुलने के बाद ऑनलाइन कक्षाएं बंद हो जाएंगी। यूनिर्सिटी प्रबंध ने उक्त ज्ञाप को फर्जी बताते हुए विद्यार्थियों और अभिभावकों को इससे दूर रहने की अपील की है। साथ ही विद्यार्थियों को यूनिवर्सिटी की वेबसाइट का अवलोकन करने के निर्देश दिए हैं।

प्रवेश प्रक्रिया प्रारंभ

गुरु घासीदास केन्द्रीय विश्वविद्यालय में स्नातकोत्तर पाठ्यक्रमों में प्रवेश प्रक्रिया शुरू हो गई है। अभ्यार्थियों की योग्याता, जाति, श्रेणी से संबंधित सभी प्रमाण पत्रों का संकलन 4 नवंबर से 11 नवंबर तक होगा। दस्तावेजों का सत्यापन विभाग की प्रवेश समिति करेगी।

ये भी पढ़ें: प्रदेश के विश्वविद्यालयों एवं महाविद्यालयों में 1 नवम्बर से शुरू होगी क्लास, उच्च शिक्षा विभाग ने जारी किया आदेश

Karunakant Chaubey Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned