राष्ट्रपति के आने के पहले यूनिवर्सिटी में बिखरी छत्तीसगढ़ लोक कला की छटा

rashtrapati ramnath kovind: तखतपुर विधायक रश्मि सिंह व जिला पंचायत अध्यक्ष अरुण सिंह पहुंचे सीवीआरयू

By: Murari Soni

Published: 01 Mar 2020, 11:47 AM IST

बिलासपुर। लोक महोत्सव के दूसरे दिन शनिवार को लोक कलाकारों ने देर रात तक समां बांधे रखा। शाम होते ही लोक कार्यक्रमों का सिलसिला शुरू हुआ। जिसमें कलाकारों ने ढोला मारू, गेड़ी, करमा, सुआ, ददरिया की प्रस्तुति दी। इसके बाद देवी आराधना के जसगीत ने भक्तिमय माहौल बनाया और अनुज नाइट की प्रस्तुति दी।

इस अवसर पर मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित तखतपुर विधायक रश्मि सिंह ने कहा कि इस विश्वविद्यालय के कुलाधिपति संतोष चौबे शिक्षा के क्षेत्र में बरसों से काम कर रहे हैं। साक्षरता से लेकर कम्प्यूटर की संचारक्रंाति तक और आज विष्वविद्यालयों की स्थापना तक उनका योगदान महत्वपूर्ण है। विशिष्ठ अतिथि के रूप में उपस्थित जिला पंचायत अध्यक्ष अरुण सिंह ने कहा कि सीवीाआरयू कोटा क्षेत्र का गौरव है। यहां के युवा अब उच्च शिक्षा लेकर देश के कोने कोने में रोजगार के साथ खड़े हैं।
विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. रवि प्रकाश दुबे कहा कि भारत एक सहिष्णु देश है। जिसमें विश्व की सारी विधाएं संस्कृति इसमें समाहित है। कुलसचिव गौरव शुक्ला ने कहा कि लोक कला धरोहर को न केवल संरक्षित करने बल्कि उसे आगे बढ़ाने का दायित्व विश्वविद्यालय का है।

स्वरोजगार की जानकारी
विश्वविद्यालय में रामन लोक कला महोत्सव में सरकारी विभागों और निजी संस्थानों ने अपने स्टाल भी लगाए हैं। इस अवसर पर विद्यार्थियों को स्वरोजगार के लिए प्रेरित करने सभी ने उत्पादों की लाइव जानकारी दी। इसके साथ सरकारी की योजना नरूवा, गरूआ, घुरवा और बाड़ी के मॉडल को भी सबके सामने रखा। इसके साथ केंद्रीय रेषम बोर्ड ने भी रेषम उत्पादन की लाइव जानकारी दी। मेले में युवाओं ने छत्तीसगढ़ी व्यंजन और झूलों का जमकर आनंद लिया।

ये कार्यक्रम होंगे आज:-
1 मार्च को भिलाई की अमृता बारले भरथरी, पंथी नृत्य मुंगेली, राबेली गु्रप बांस गीत, टैगोर विश्वकला संस्कृति केंद्र का समूह नृत्य, फाग गीत ग्राम बीजा और लोक कला मंच के कार्यक्रम होंगे।

Murari Soni
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned