तखतपुर विधानसभा से हर्षिता को उम्मीद, राजू भी लगा रहे जोर

तखतपुर विधानसभा से हर्षिता को उम्मीद, राजू भी लगा रहे जोर

Amil Shrivas | Publish: Sep, 09 2018 04:57:15 PM (IST) Bilaspur, Chhattisgarh, India

राजनीति: हालांकि दोनों का ही कहना- भाजपा में कोई दावेदारी नहीं होती, संगठन तय करेगा टिकट

बिलासपुर. तखतपुर में इस बार राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष हर्षिता पांडेय को उम्मीद है कि सक्रियता के बल पर उनको संगठन से तवज्जो मिलेगी। विधायक राजू क्षत्री भी क्षेत्र और कार्यकर्ताओं में खुद को लोकप्रिय मान रहे हैं।

बुधवार को सीएम रमन सिंह ने भी तखतपुर में हुई सभा में स्वर्गीय मनहरण पांडेय के कार्यों को याद किया, हालांकि उन्होंने किसी की दावेदारी के सवाल पर सीधे कहा कि यह सब मुझे तय नहीं बल्कि राष्ट्रीय और प्रादेशिक चुनाव समिति को तय करना है। यही रुख विधायक क्षत्री और आयोग अध्यक्ष हर्षिता पांडेय का है। दोनों का ही कहना है कि भाजपा में कोई दावेदारी नहीं होती, जो संगठन और पार्टी के बड़े नेता टिकट तय करते हैं और सब मिलकर जीतने के लिए काम करते हैं। तखतपुर क्षेत्र से पांच बार विधायक, जांजगीर क्षेत्र से सांसद और पटवा शासनकाल में सिंचाई मंत्री बने मनरहणलाल पांडेय क्षेत्र में किसान नेता के तौर पर लोकप्रिय रहे हैं। उन्होंने तखतपुर क्षेत्र में 19 सिंचाई योजनाएं शुरू कराईं। उनकी बेटी और वर्तमान में राज्य महिला आयोग अध्यक्ष हर्षिता पांडेय अपने पिता की लोकप्रियता और उनके द्वारा किए गए कार्यों के बल पर पिछले विधानसभा चुनाव के दौरान टिकट चाहती थीं लेकिन भाजपा ने क्षेत्र में युवा नेता के तौर पर सक्रिय नए चेहरे राजू क्षत्री को टिकट दिया। हालांकि इसके चलते वहां से वरिष्ठ भाजपा नेता जगजीत सिंह मक्कड़ नराज हो गए और उन्होंने भाजपा छोडकऱ शिवसेना से चुनाव लड़ा। यही वजह थी कि भाजपा की जीत का अंतर काफी कम रहा और राजू क्षत्री 608 वोट से ही विजयी हो सके। इस बार राजू क्षत्री विधायक होने के नाते क्षेत्र से टिकट के सहज दावेदार हैं। उन्होंने सीएम की सभा के लिए भी काफी मेहनत की और सभा में यह भी कहा कि वे पहले से परिपक्व हैं।

ह्र्षिता लगातार सक्रिय, संगठन में भी बनाई पैठ
हर्षिता पांडेय के साथ प्लस पाइंट यह है कि उन्होंने खुद को किसी एक क्षेत्र तक सीमित नहीं रखा। वे महिला आयोग की अध्यक्ष के तौर पर काम कर रही हैं। संगठन ने चुनाव के दौरान लखनऊ, रायबरेली और प्रदेश में बस्तर, सरगुजा तक कैंपेन के लिए भेजा। नतीजा है कि पांडेय इस बार संगठन की नजर में हैं।

राजू तखतपुर में जुटे
राजू क्षत्री की क्षेत्र में छवि ऐसे नेता की है जो क्षेत्र के लोगों से मेलजोल रखता है। कई बार उन्होंने युवाओं जैसा जोश भी कुछ मामलों में दिखाया और विवादित भी हुए। लेकिन टिकट संगठन को ही तय करना है, इसे लेकर कहीं कोई दिक्कत नहीं है।

हमारे यहां कोई टिकट का आवेदक नहीं होता
भाजपा में कहीं कोई दावेदार या आवेदक नहीं होता। पार्टी व्यक्ति की छवि, काम, जीतने की संभावना पर टिकट तय करती है। हम सब पद में रहते हुए जनता की समस्याओं को हल करने और पार्टी को मजबूत बनाने के लिए काम कर रहे हैं। टिकट मिले या नहीं, आगे भी यही करना है। क्षेत्र में पार्टी की स्थिति बेहतर है, जीत होगी।
राजू क्षत्री, विधायक तखतपुर क्षेत्र

मैं तखतपुर की बेटी
मुझे संगठन या शासन से जो भी जिम्मेदारी मिली, उसे मैने 100 प्रतिशत निभाने की कोशिश की है। मेरे पिता की छवि एक सहज-सरल, मिलनसार, सत्ता के घमंड से दूर व्यक्ति की रही है। मैं तखतपुर की बेटी हूं। मेरे पिता अंतिम सांस तक पार्टी के साथ थे और मैं भी वही कर रही हूं, टिकट मिलना या न मिलना मायने नहीं रखता।
हर्षिता पांडेय, अध्यक्ष, राज्य महिला आयोग

Ad Block is Banned