हिन्दी को देश की भाषा बनाने के लिए निर्णय लिया जाना चाहिए

हिन्दी को देश की भाषा बनाने के लिए निर्णय लिया जाना चाहिए

Anil Kumar Srivas | Publish: Sep, 16 2018 12:21:47 PM (IST) | Updated: Sep, 16 2018 12:21:48 PM (IST) Mungeli, Chhattisgarh, India

हिन्दी दिवस: शिक्षण संस्थाओं में हुआ आयोजन,कवियों ने अपनी रचनाओं को सुनाकर लोगों को किया भाव विभोर

रतनपुर. संस्कार भारती के द्वारा राधा माधव धाम में हिन्दी दिवस पर विचार एवं कवि गोष्ठी का आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम की अध्यक्षता संस्कार भारती के अध्यक्ष शुकदेव कश्यप ने किया।
कार्यक्रम में डॉ राजेन्द्र वर्मा ने कहा कि हिन्दी एक समृद्धशाली भाषा है। इसका प्रयोग अधिक से अधिक होना चाहिए। सचिव दिनेश पाण्डेय ने हिन्दी दिवस के उद्देश्य को बताते हुए कहा कि हिन्दी को शासन एवं देश की भाषा बनाने के लिए शीघ्र निर्णय लिया जाना चाहिए। चेतना मंच के अध्यक्ष बालकृष्ण मिश्रा ने बताया कि हिन्दी देश को जोडऩे वाली भाषा है। कोटा से पधारे चन्द्रशेखर यादव ने कहा कि हिन्दी प्यारी भाषा है। आईपीएस की संचालिका निधि चंदेल ने माना हमें अंग्रेजी से ज्यादा हिन्दी का ज्ञान होना चाहिए। शुकदेव कश्यप ने हिन्दी की वकालत करते हुए इसे स्थापित करने के लिए सभी को मिलकर प्रयास करने की आवश्यकता बताया। द्वितीय चक्र में उपस्थित कवियों ने अपनी रचनाओं से श्रोताओं को बांधे रखा। रानी गांव से आईं नारी शक्तियों ने सुन्दर भजन सुनाकर कार्यक्रम में शामिल श्रोताओं को भाव विभोर कर दिया। संस्कार भारती के संरक्षक अजय महावर ने कहा कि हिन्दी को आगे बढ़ाने की दिशा में काम करने के लिए एक राज्य स्तरीय सम्मेलन कराने का प्रयास करूंगा। युवा सदस्य उमेश तिवारी ने संस्कार भारती को इस आयोजन के लिए साधुवाद दिया। कार्यक्रम का संचालन दिनेश पाण्डेय एवं आभार प्रदर्शन शुकदेव कश्यप ने किया।
बच्चों को दी गई हिन्दी दिवस के बारे में जानकारी-मस्तूरी. सांदीपनी पब्लिक स्कूल मस्तुरी में 14 सितंबर को हिन्दी दिवस बड़े धूमधाम से मनाया गया। इस अवसर पर स्कूल के बच्चों ने भाषण, नाटक, काव्यपाठ, स्लोगन गायन व विभिन्न सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किए। कार्यक्रमों के माध्यम से छात्रों ने देश में हिन्दी भाषा का महत्व व संस्कृति में योगदान पर अपने विचार प्रकट किए। कक्षा पांचवी के छात्र स्वर्णिम कुंज ने भाषण दिया। उन्होंने सभी श्रोताओं से शपथ ग्रहण भी करवाया। कक्षा छठवीं के छात्रों ने नाटक की प्रस्तुति दी। प्रधानाचार्य जितेन्द्र दास ने बच्चों को हिन्दी दिवस के महत्व को बताते हुए कहा कि हिन्दी देश को जोडऩे वाली भाषा है। हिन्दी विभाग की प्रमुख सीमा ठाकुर ने हिन्दी दिवस के महत्व को बताते हुए कहा कि हिन्दी भाषा व्यक्ति को जोड़ती है। व्यक्ति को जोडऩे से परिवार बनता है और परिवारों के जोडऩे से समाज बनता है। इसी तरह समाज से गांव, गांव से शहर, शहरों से महानगर बनता है। इसी प्रकार महानगरों से देश। ऐसे में देश के विकास में इस जुड़ाव का मजबूत होना आवश्यक है। यह जुड़ाव भाषा के माध्यम से ही हो सकता है। इस मौके पर प्रधानाचार्य जितेन्द्र दास आदि मौजूद रहे।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned