दहेज के लोभियों ने बहु के कमरे में बिछाया बिजली का तार, करंट लगने से दर्दनाक मौत

घर ले जाने के बाद ससुराल वालों ने मिलकर करंट लगाकर नव विवाहिता को मार डाला। घटना कोटमी चौकी अंतर्गत ग्राम मढ़ई में 9 जुलाई 2019 को हुई थी। पुलिस ने आरोपी पति, सास व ससुर के खिलाफ दहेज हत्या का अपराध दर्ज कर लिया है।

By: Karunakant Chaubey

Published: 06 Jan 2020, 10:29 PM IST

बिलासपुर. दहेज में कम सामान लाने पर पति, सास व ससुर ने नव विवाहिता को प्रताडि़त किया। विरोध और शिकायत पर पंचायत में दोबारा प्रताडि़त नहीं करने ससुराल वालों ने समझौता कर लिया। घर ले जाने के बाद ससुराल वालों ने मिलकर करंट लगाकर नव विवाहिता को मार डाला। घटना कोटमी चौकी अंतर्गत ग्राम मढ़ई में 9 जुलाई 2019 को हुई थी। पुलिस ने आरोपी पति, सास व ससुर के खिलाफ दहेज हत्या का अपराध दर्ज कर लिया है।

खुद को जिन्दा साबित करने दफ्तरों के धक्के खा रहा दिव्यांग, स्कूल प्रबंधन ने कर दिया था मृत घोषित

कोटमी चौकी से मिली जानकारी के अनुसार ग्राम देवरीकला निवासी प्रमिला गोड़ पिता लालचंद गोड़ (24) का विवाह 5 मई 2018 को ग्राम मढ़ई निवासी हरदीन गोड़ से हुआ था। प्रमिला के परिजनों ने दहेज में घरेलु उपयोग का सामान हैसियत के अनुसार दिया था। शादी के बाद से पति हरदीन, सास तिजिया बाई और ससुर कुंवर सिंह मिलकर प्रमिला को दहेज में सामान कम लाने की बात पर प्रताडि़त करने लगे थे।

प्रमिला ने कई बार परिजनों को प्रताडऩा की जानकारी दी थी, लेकिन प्रमिला के परिजन प्रमिला को कुछ दिनों में ससुराल वालों के व्यवहार में बदलाव आने और दिनचर्या ठीक हो जाने की समझाइश देते थे, लेकिन ससुराल वाले सुधरने के बजाए प्रमिला को और भी प्रताडि़त करने लगे थे। 9 जुलाई 2019 को आरोपी हरदीन, कुंवर सिंह और तिजिया बाई ने मिलकर प्रमिला की हत्या करने की योजना बनाई थी।

तीनों ने मिलकर बिजली के नंगे तार को लोहे की पेटी से जोड़कर विद्युत प्रवाह कर दिया था। शाम करीब साढ़े 5 बजे प्रमिला मोबाइल को चार्जिंग पर लगाने गई थी। पेटी में प्रवाहित करंट की चपेट में आने से उसकी मौत हो गई थी। घटना की सूचना हरदीन ने डॉयल 112 को दी थी। पुलिस कर्मी मौके पर पहुंचे तो प्रमिला का पैर लोहे की पेटी के नीचे फंसा था। पेटी में करंट था। मामले में पुलिसने मर्ग कायम किया था।

घटना से दो महीने पूर्व पंचायत की बैठक में किया था समझौता

प्रमिला को प्रताडि़त करने के बाद पति, सास व ससुर ने मिलकर घर से निकाल दिया था। प्रमिला ने इसकी शिकायत ग्राम मढ़ई के सरपंच व पंचों से की थी। 26 जुलाई 2019 को पंचायत में विवाद पर सुनवाई हुई थी। प्रमिला से समझौता करते हुए पति, सास व ससुर ने लिखित में दोबारा विवाद नहीं करने की बात कहकर उसे साथ ले गए थे। समझौते में ग्राम मढ़ई के सरपंच समेत पंचों ने भी हस्ताक्षर किया था।

परिजन व ग्रामीणों ने भी किया मारपीट व झगड़े का खुलासा

घटना के बाद पुलिस ने मृतका के पिता लालचंद, मां नील कुंवर, भाई पंचम सिंह, ग्राम देवरीकला के सरपंच अशोक सिंह, इन्द्रपाल,लालसिंह राहुल व अन्य लोगों का बयान दर्ज किया था, जिसमें सभी ने प्रमिला को ससुराल वालों द्वारा मारपीट करने और घर से कई बार निकाल देने का खुलासा किया था।

पुलिस ने दर्ज किया दहेज हत्या का मामला

घटना की जांच व पोस्टमार्टम रिपोर्ट मिलने के बाद पुलिस के सामने यह बात आई कि घटना के समय घर में परिवार के सदस्य :ष्शश्च4ह्म्द्बद्दद्धह्ल:पस्थित थे। साथ ही पेटी में करंट प्रवाहित होने पर प्रमिला को छोड़कर दूसरे सदस्य इसकी चपेट में नहीं आना संदेह को जन्म देता है। मामले में पुलिस ने आरोपी हरदीन, कुंवर सिंह और तिजिया बाई के खिलाफ धारा 304 ( बी),34 ( दहेज हत्या ) के तहत अपराध दर्ज किया है। मामले में पुलिस ने आरोपियों को गिरफ्तार नहीं किया है।

ये भी पढ़ें: रायपुर के नवनिर्वाचित मेयर ऐजाज ढेबर ने भाजपा पार्षद मीनल को मतदान से पहले दी थी रहस्यमय डिब्बी, वायरल हुई तस्वीर

Karunakant Chaubey Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned