देशी वस्तुओं के फायदे जानने स्वदेशी मेले में पहुंचे हजारों लोग

सांस्कृति संध्या में पारंपरिक कार्यक्रम की प्रस्तुति देते हुए लोक कलाकार लोगों का मन मोह रहे हैं।

By: Amil Shrivas

Published: 12 Nov 2017, 12:50 PM IST

बिलासपुर . स्वदेशी मेले का आयोजन पुलिस मैदान में भव्य रूप से किया गया है। छह दिवसीय स्वदेशी मेले के दूसरे दिन शनिवार को स्वदेशी वस्तुओं की खरीदारी करने के लिए लोग पहुंचे। तरह-तरह के स्टॉल व खान-पान की वस्तुएं लुभा रही लोगों को। साथ ही साथ सांस्कृति संध्या में पारंपरिक कार्यक्रम की प्रस्तुति देते हुए लोक कलाकार लोगों का मन मोह रहे हैं। स्वदेशी मेले में शनिवार की शाम मुख्य अतिथि मंत्री अमर अग्रवाल रहे। उन्होंने स्वदेशी मेले की सराहना करते हुए भारतीय वस्तुओं की बिक्री के लिए एक मंच देने को बेहतर बताया। इससे लोगों में स्वदेशी वस्तुओं के प्रति लगाव बढ़ेगा। विशिष्ट अतिथि छगन लाल मूंदड़ा अध्यक्ष छत्तीसगढ़ औद्योगिक विकास निगम, अशोक विधानी नगर निगम सभापति रहे। उन्होंने भी मेले के आयोजन को अच्छा बताया। कार्यक्रम की अध्यक्षता संसदीय सचिव तोखन साहू ने की। इस अवसर पर डॉ.सुशील श्रीवास्तव, श्यामजी भाई पटेल, सौमित्र गुप्ता, रामअवतार अग्रवाल, बेनी गुप्ता, सुब्रत चाकी सहित बड़ी संख्या में आयोजन समिति के पदाधिकारी व सदस्य उपस्थित रहे।
READ MORE : नशे और अपराध की दुनिया से बच्चों को बचाने के लिए दें पर्याप्त समय, समझाइश और संस्कार

लोक संस्कृति के बिखेरे रंग : सांस्कृतिक संध्या में शनिवार को स्वदेशी मेले में सामाजिक समागम कार्यक्रम के तहत लोक संस्कृति के रंग कलाकारों ने बिखेरे। इसमें गुजराती, मलयाली, सिंधी, बंगाली, मराठी, मारवाड़ी, तेलगू, उडि़यां, पंजाबी, तमिल, छत्तीसगढ़ी समाज के द्वारा नृत्य की प्रस्तुति दी गई। इस दौरान कलाकारों का उत्साहवर्धन करते हुए कार्यक्रम का आनंद लिया।
मेहंदी प्रतियोगिता में दिखाई प्रतिभा : शनिवार की दोपहर में मेहंदी प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। यह प्रतियोगिता दो वर्ग में की गई। पहले वर्ग में 10 से 17 वर्ष व दूसरे वर्ग में 17 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों ने हिस्सा लिया। रविवार को चित्रकला प्रतियोगिता, शिशु वेशभूषा प्रतियोगिता व रंग भरो प्रतियोगिता की जाएगी।
READ MORE : अब नहीं चलेगा चंदुवाभाठा का बहाना, अफसर जान लेंगे लोकेशन

बायो टॉयलेट की बता रहे खूबियां : घर में गंदगी, बदबू व टॉयलेट में पानी बर्बाद करने को रोकने के लिए बायो टॉयलेट का इस्तेमाल करने का संदेश स्वदेशी मेला में दिया जा रहा है। जहां पर लोगों को नए घर में सेप्टिक टैंक के स्थान पर या पुराने सेप्टिक टैंक को बाद कर बायो डाइजेस्टर लगाने के लाभ बताए जा रहे हैं, ताकि वर्तमान में हो रहे गंदगी, पर्यावरण प्रदूषण को रोका जा सके। नेचर क्लब के प्रथमेश मिश्रा द्वारा दिया जा रहा है। उन्होंने बताया कि सामान्य सेप्टिक टैंक की तुलना में बायो डाइजेस्टर के फायदे कई हैं। 35 हजार में सात लोगों के इस्तेमाल के लिए बायो टायलेट सिस्टम लगाया जा सकता है। इसमें बाहर निकलने वाला पानी जिवाणु व विषाणु रहित, स्वच्छ, गंधहीन और रंगहीन होता है। इससे गंधहीन मिथेन गैस निकलती है जिससे आप गैस चूल्हा जला सकते है। साफ करने की आवश्यकता नहीं होती है। इससे निकलने वाला पानी साफ होता है जिसे आप पुन: फ्लश करने या बगीचे में उपयोग कर सकते है इसे स्वच्छ भारत अभियान के तहत भारीय रेल ने भी अपनाया है। किसी सीवरेज ट्रीटमेंट की आवश्यकता नहीं होती है।

READ MORE : वैभव की गिरफ्तारी पर कलेक्टर के बादशाही आदेश का काला चिट्ठा, देखें वीडियो

Amil Shrivas
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned