जेई और एई के आईडी से एक साथ हुई गड़बड़ी, जेई को निलंबित किया और एई को केवल नोटिस

- मस्तुरी बिजली विभाग में लाखों रुपए की दो अधिकारियों की आईडी से गड़बड़ी का मामला .

By: Bhupesh Tripathi

Published: 27 Nov 2020, 08:15 PM IST

बिलासपुर. विद्युत वितरण कंपनी मस्तुरी में एई और जेई आईडी से बिजली बिल की गड़बड़ी हुई है लेकिन जेई को तत्काल निलंबित कर दिया गया वहीं एई को कारण बताओ नोटिस जारी कर जवाब मांगा गया है। जांचकर्ता अधिकारी कार्यपालन यंत्री सुरेश जांगड़े ने इस बात को स्वीकार किया कि दोनों के आईडी से काम हुआ है लेकिन केवल एई के खिलाफ की गई है जेई को बचाया जा रहा है। बिजली विभाग के अधिकारियों की मिली भगत खेल चल रहा है।

मस्तुरी विधानसभा क्षेत्र में बिजली बिल गड़बड़ी का मामला सुर्खियों में है। एई प्रदीप पैकरा और जेई प्रिया आमले के कम्प्यूटर के आईडी से बिजली बिल की गड़बड़ी हुई है। कार्यालय में दोनों के आईडी का उपयोग कर लाखों रुपए के बिल गड़बड़ी की गई है। इसकी जानकारी उच्चाधिकारियों को होने के बाद मामले की जांच कराई जा रही है। जांच तिफरा कार्यपालन यंत्री सुरेश जांगड़े द्वारा किया जा रहा है। सुरेश जांगड़े की रिपोर्ट पर अधीक्षण यंत्री पी के कश्यप ने जेई प्रिया आमले को निलंबित कर मुंगेली में अटैच कर दिया है वहीं एई प्रदीप पैकरा को केवल नोटिस देकर जवाब मांगा गया है जबकि दोनों के आईडी से बिजली बिल की गड़बड़ी हुई है। प्रदीप पैकरा को उच्चाधिकारियों का संरक्षण प्राप्त है इसलिए वे बिना किसी कार्रवाही के मस्तुरी मे जमे हुए हैं। इस मामले में मस्तुरी जेई प्रदीप पैकरा ने भी स्वीकार किया कि उसके आईडी से भी काम हुआ उनका कहना है बिजली विभाग से उनको नोटिस मिला था जिसका जवाब सम्मीट कर दिया है।

दोनों के आईडी से हुआ है काम
मामले की जांच कर रहे तिफरा कार्यपालन यंत्री सुरेश जांगड़े ने पत्रिका को बताया कि एई प्रदीप पैकरा और जेई प्रिया आमले के आईडी से काम हुआ है। प्रिया आमले को निलंबित कर दिया गया है प्रदीप पैकरा को नोटिस देकर जवाब मांगा गया है। उनसे पूछा गया दोनों के आईडी से गड़बड़ी हुई है तो दोनों को निलंबित क्यों नहीं किया गया तब जांगड़े ने कहा जांच कर रहे जो भी दोषी होगा कार्रवाही होगी।

Bhupesh Tripathi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned