कानन के तेंदुए की किडनी फेल, खाना और पानी छोड़ा

कानन के तेंदुए की किडनी फेल, खाना और पानी छोड़ा

Anil Kumar Srivas | Publish: Jul, 14 2018 12:15:21 PM (IST) Bilaspur, Chhattisgarh, India

हालत गंभीर होने से कानन पेंडारी प्रबंधन चिंतित

12 साल की उम्र, 14 साल जी गया तेंदुआ, बचाने के लिए कानन प्रबंधन द्वारा की गई सारी कोशिशें फेल

बिलासपुर. कानन पेंडारी के उम्र दराज तेंदुए ही हालत दिनोंदिन खराब होते जा रही है। उसके स्वास्थ्य में सुधार नहीं आ रहा है। बीमार होने के कारण तेंदुए को मटन की जगह हल्का आहार अंडा दिया जा रहा था, अब उसे भी खाना बंद कर दिया है। शनिवार को उसने पानी पीना भी बंद कर दिया। उसे ड्रीप लगाकर रखा गया है। बताया जाता है तेंदुआ अपने उम्र से दो वर्ष ज्यादा जी चुका है।

कानन पेंडारी का एक तेंदुआ पिछले दस दिन से बीमार है। उसका इलाज करने के लिए कानन पेंडारी के डॉक्टर पीके चंदन लगे हुए हैं। डॉक्टर द्वारा लाख कोशिश करने के बावजूद तेंदुए की हालत में सुधार नहीं आ रहा है। अब उसकी हालत गंभीर होते जा रही है। तेंदुए पर दवाइयों का असर भी नहीं हो रहा है। बीमार पडऩे के बाद पहले उसने मटन खाना बंद कर दिया, जिसके कारण उसे हल्का भोजन अंडा दिया जा रहा था। शनिवार को उसने अंडे को भी नहीं खाया। शाम तक पड़ा रहा। वहीं शाम को पानी पीना भी बंद कर दिया है। तेंदुए को ड्रीप चढ़ाया गया है। डीएफओ एसएस कवंर ने बताया कि तेंदुए की उम्र 12 साल होती है। लेकिन वह 14 साल पूरा कर लिया है। तेंदुए की किडनी फेल हो गई है। डीएफओ का कहना है कि इंसान को डायलिसिस कर बचाया जा सकता है, लेकिन खंूखार जानवर के लिए मुश्किल हो जाता है। किडनी में इंफेक्शन बढ़ते जा रहा है। इसके कारण स्वास्थ्य में सुधार की कोई गुंजाइश नहीं दिखाई दे रही है। तेंदुए की सेहत को लेकर पूरा ध्यान रखा जा रहा है। डीएफओ ने कहा उम्र अधिक होने के कारण इलाज के लिए किसी प्रकार का रिस्क भी नहीं ले सकते हैं।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned