पुरानी रंजिश का बदला लेने 3 आरोपियों ने साथियों के साथ मिलकर खाईवाल को उतारा मौत के घाट

पुरानी रंजिश का बदला लेने 3 आरोपियों ने साथियों के साथ मिलकर खाईवाल को उतारा मौत के घाट

Amil Shrivas | Publish: Aug, 12 2018 05:46:51 PM (IST) Bilaspur, Chhattisgarh, India

4 आरोपियों को शनिवार को गिरफ्तार कर कोर्ट के आदेश पर जेल भेज दिया गया।

बिलासपुर. जरहाभाठा सिंधी कॉलोनी में 4 अगस्त की रात एक खाईवाल की हत्या कर दी गई। इसके पीछे तीन कारण सामने आए हैं। 3 आरोपियों ने पुरानी रंजिश का बदला लेने अन्य साथियों के साथ मिलकर वारदात को अंजाम दिया था। फरारी के दौरान रतनपुर के एक कुएं में आरोपियों द्वारा फेंकी गई एयर पिस्टल व चाकू पुलिस ने बरामद कर ली है। मामले में 4 आरोपियों को शनिवार को गिरफ्तार कर कोर्ट के आदेश पर जेल भेज दिया गया। जबकि दो आरोपी अब तक पकड़ से बाहर हैं। उनकी तलाश चल रही है। एएसपी नीरज चन्द्राकर ने शनिवार को बिलासागुड़ी में मामले का खुलासा करते हुए बताया कि गोड़पारा निवासी खाईवाल अमित उर्फ पुच्ची पिता अशोक नंदवानी की हत्या के मामले में पुलिस ने 9 अगस्त को आरोपी सुनील तलरेजा, सूरज करतारी, सन्नी थारवानी और लखन ढीमर को हिरासत में लिया था। पूछताछ में आरोपी सूरज करतारी, सन्नी थारवानी और सुनील तलरेजा ने बताया कि अमित की अलग-अलग मामलों को लेकर उनकी पुरानी रंजिश थी। बदला लेने के लिए उन्होंने लखन ढीमर, सागर थारवानी और विशाल थारवानी के साथ मिलकर अमित की हत्या करने की योजना बनाई थी।

रतनपुर के धर्मशाला में कपड़े बदले : आरोपियों ने बताया कि वारदात के बाद वे रतनपुर महामाया मंदिर के धर्मशाला में छिपे थे। वहां कपड़े बदलने के बाद कोरबा की ओर भाग गए। आरोपी लखन ढीमर करैहापारा में मामा के घर में कुछ देर रूका और हाईस्कूल के कुएं में एयर पिस्टल और चाकू फेंक दिया।शुक्रवार को पुलिस लखन ढीमर को लेकर रतनपुर पहुंची और कुएं में पंप लगाकर करीब 8 फिट गहरा पानी निकालने के बाद एयर पिस्टल और चाकू बरामद किया। पुलिस को लखन के घर से खुखरी बरामद हुई।
4 अगस्त की घटना : आरोपियों ने 4 अगस्त को रात साढ़े 10 बजे गोड़पारा निवासी अमित पिता अशोक नंदवानी जरहाभाठा सिंधी कॉलोनी में तलवार व गोली से मारकर हत्या कर दी गई थी। घटना के बाद सभी आरोपी फरार हो गए थे। इनमें सन्नी थारवानी, सुनील तलरेजा, लखन ढीमर, सूरज करतारी ने रायपुर में सरेंडर कर दिया था। मामले के दो आरोपी सागर और विशाल अब तक फरार हैं। पुलिस ने सुनील तलरेजा से 1 एयर पिस्टल व चाकू, लखन ढीमर से 1 खुखरी, सूरज करतारी और सन्नी थारवानी से 1-1 तलवार जब्त किया है।
सिंधी कॉलोनी में आरोपियों की निकाली बारात : चारों आरोपियों को लेकर पुलिस शनिवार दोपहर सिंधी कॉलोनी पहुंची। यहां पुलिस ने आरोपियों की बारात निकाली। उनसे घटना का डेमो कराया गया।

4 आरोपियों को भेजा गया जेल : 4 आरोपियों को गिरफ्तार करने के बाद पुलिस ने शनिवार को जिला न्यायालय में पेश किया। उन्हें कोर्ट के आदेश पर न्यायिक रिमांड पर जेल भेज दिया गया है। वहीं सागर थारवानी और विशाल थारवानी अब तक फरार हैं।
फेसबुक पर गांजा पीते फोटो वायरल : मृतक अमित व सन्नी थारवानी पिछले 5 साल से एक साथ शहर में आईपीएल क्रिकेट सट्टा खिला रहे थे। डेढ़ वर्ष पूर्व उनके बीच लेनदेन का विवाद हुआ था। अमित ने सन्नी की गांजा पीते फोटो खींचकर सोशल मीडिया पर डाल दिया। रंजिश और बढ़ गई। सन्नी इसका बदला लेना चाहता था।
बहन को भेजा मैसेज : आरोपी सुनील तलरेजा और मृतक अमित के बीच दोस्ती थी। 5 महीने पूर्व अमित आरोपी सुनील के घर पर रात में रुका था। उसने सुनील के मोबाइल से उसकी बहन के मोबाइल पर अभद्र मैसेज भेज दिया। इसे लेकर सुनील व अमित के बीच भारी विवाद हुआ। तब से उनके बीच अनबन चल रही
थी। सुनील बदला लेने की फिराक में था।
बदला लेना चाहता था सूरज : अमित और आरोपी सूरज करतारी के बीच गहरी दोस्ती थी। 2 महीने पूर्व अमित धारा 306 के एक मामले में जेल चला गया। इससे पहले उसने अपनी बाइक सूरज को दी थी। 3 अगस्त को सूरज उससे मिलने जेल पहुंचा। उसके साथ सन्नी थारवानी भी था। अमित ने सूरज से अपने बाइक की चाबी वापस लेकर सन्नी को दिलवाई और बाइक बेचकर वकील को जमानत की फीस देने के लिए कहा था। अमित द्वारा बाइक वापस लेने से सूरज खुद को बेइज्जत महसूस कर रहा था।

Ad Block is Banned