बिलासा की सड़कों पर पेयजल के लिए लग रही कतार, जलस्तर गिरने से मचा हाहाकार

तालापारा मरीमाई रोड में कब्रिस्तान के सामने मंगलवार को टैंकर आते ही मोहल्ले की महिलाएं और बच्चे बर्तन लेकर पानी भरने दौड़ पड़े।

By: Amil Shrivas

Published: 16 May 2018, 02:38 PM IST

बिलासपुर . पेयजल संकट को लेकर पहले ही निगम के जलकार्य अमले की मुसीबत कम होने का नाम नहीं ले रही है। ऊपर से विकास के नाम पर पाइप लाइन टूटने से समस्या और गहराती जा रही है। नाली निर्माण के दौरान एक्सीवेटर से 8 इंची पाइप लाइन क्षतिग्रस्त हो गया। वहीं तालापारा समेत कई इलाकों में पाइप लाइन में पानी न आने के कारण लोगों को टैंकर से पानी भरना पड़ रहा है।
जैसे-जैसे गर्मी बढ़ रही है पेयजल संकट गहराता जा रहा है। निगम के हेल्पलाइन में जलसंकट को लेकर दर्जन भर से अधिक शिकायतें आ रही हैं। तालापारा मरीमाई रोड में कब्रिस्तान के सामने मंगलवार को टैंकर आते ही मोहल्ले की महिलाएं और बच्चे बर्तन लेकर पानी भरने दौड़ पड़े। जैसे ही टैंकर रुकी लोगों ने अपनी बाल्टी और बर्तन कतार में रखा और बारी-बारी पानी भरने लगे। महिलाओं ने पूछने पर बताया कि यहां करीब एक माह से पानी की समस्या है। मोहल्ले में पाइप लाइन बिछा है, लेकिन पानी ही नहीं आ रहा। लगातार शिकायत करने पर 4 दिन से निगम के पंप हाउस से टैंकर भेजा जा रहा है, लेकिन इससे पर्याप्त पानी नहीं मिल पा रहा। इसके अलावा जरहाभाठा मिनी बस्ती, विद्यानगर, 27 खोली विकास नगर, चिंगराजपारा, चांटीडीह, बिनोबानगर, सरकंडा जबड़ापारा समेत शहर के अन्य इलाकों से लगातार पानी न आने और आसपास के लोगों द्वारा अपने घरों में टुल्लू पंप के जरिए पानी खींचने के कारण उनके और ऊचाई वाले घरों में पानी नहीं आने की शिकायत दर्ज कराई है।

8 जगह तोड़ दी पाइप लाइन : इधर तारबाहर इलाके में भी करीब डेढ़ माह बाद भी जलसंकट की स्थिति बनी हुई है, ऊपर से सोमवार की रात नाली निर्माण में लगे एक्सीवेटर के बकेट में फंसकर घोड़ादाना स्कूल के पास 8 इंची पाइप लाइन 8 जगह क्षतिग्रस्त हो गया। पाइप लाइन टूटकर नाले के अंदर आने की वजह से लोगों के घरों में मलयुक्त गंदा और बदबूदार पानी आने से संक्रामक बीमारी का खतरा मंडराने लगा है। बताया जाता है कि यहां पाइप लाइन कई जगह से टूटकर जर्जर हो गया है 5 लेंथ नया पाइप लाइन बदलना पड़ेगा।
लोधीपारा के नागरिक तरस रहे पानी को : लगातार शिकायत के बाद भी सरकंडा लोधीपारावासियों के बीच जलसंकट की स्थिति बनी हुई है। रोड चौड़ीकरण में लगे लोक निर्माण विभाग के मशीन और वाहन से पाइप लाइन क्षतिग्रस्त होने के कारण रोजाना हजारों लीटर पानी सड़क और नाले में बह जा रहा है और यहां के रहवासी बूंद-बूंद पानी के लिए तरस रहे हैं। यहां के नागरिकों का कहना है कि कई बार निगम आयुक्त से शिकायत करने गए, लेकिन एक माह में निगम आयुक्त से भेंट नहीं हो सका। जलकार्य विभाग के अफसरों और महापौर से शिकायत करने पर केवल आश्वासन ही मिल रहा, पानी आज तक नहीं मिल सका और न ही सूचना देने के बाद टैंकर भेजा जा रहा है।

Amil Shrivas
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned