कंटेनमेंन जोन का आज अंतिम दिन, फिर बढ़ाने की कोई संभावना नहीं

जिले के सभी नगरीय निकायो में इस बार किराना दुकानें, सब्जी बाजारों को बंद रखा गया है। इसके पूर्व में आवश्यक वस्तुओं के विक्रय के लिए सब्जी बाजार व किराना दुकानें खोलने की रियायत दी गई थी। लेकिन इस बार इसे भी छूट नहीं दिया गया है। इसके साथ ही पेट्रोल पंपों में छूट की रियायत केवल 6 घंटे रखा गया है। मिल्क पार्लरों को सुबह शाम साढे़ तीन घंटे की छूट दी गई है।

By: Karunakant Chaubey

Published: 28 Sep 2020, 02:40 PM IST

बिलासपुर. लॉकडाउन का सोमवार को अंतिम दिन है। परिस्थितियां एेसी नजर आ रहीं है कि जिला प्रशासन इसे आगे और बढ़ाने के इच्छुक नहीं है। प्रशासनिक अधिकारियों का भी मानना है कि कंटेनमेंट जोन होने से आम नागरिकों को रोजमर्रा की वस्तुएं नहीं मिलने पर परेशान हो गए है।

जिले में नगर निगम, नगर पालिका रतनपुर, तखतपुर, नगर पंचायतें बोदरी, बिल्हा, कोटा , मल्हार में कोरोना के बढ़ते संक्रमण को ध्यान में रखकर जिला प्रशासन ने 22 सितंबर से कंटेनमेंट जोन घोषित किया गया है। जिले के सभी नगरीय निकायो में इस बार किराना दुकानें, सब्जी बाजारों को बंद रखा गया है। इसके पूर्व में आवश्यक वस्तुओं के विक्रय के लिए सब्जी बाजार व किराना दुकानें खोलने की रियायत दी गई थी।

लेकिन इस बार इसे भी छूट नहीं दिया गया है। इसके साथ ही पेट्रोल पंपों में छूट की रियायत केवल ६ घंटे रखा गया है। मिल्क पार्लरों को सुबह शाम साढे़ तीन घंटे की छूट दी गई है।

सब्जियां व किराना सामानों की दिक्कतें

लॉकडाउन में पूरी तरह से बंद रखने से आमजन सबसे अधिक हरी सब्जियां और किराना सामानों को लेकर परेशान हो रहे है। इससे जनसामान्य को सामान नहीं मिलने से काफी दिक्कतें हो रहीं है।

तकलीफें महसूस कर रहे अफसर

जिला प्रशासन के अनेक प्रशासनिक अधिकारियों का मानना है कि कंटेनमेंट जोन से जनसामान्य लोगों को रोजमर्रा के सामान नहीं मिलने से लोगों को काफी समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है। इसलिए प्रशासनिक अधिकारियों ने उम्मीद जताई की कंटेनमेंट जोन की समय सीमा नहीं बढ़ाई जाएगी।

Karunakant Chaubey Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned