बिलासपुर में स्कूल भवन पर गिरी गाज, एक बच्चे की मौत दो आईसीयू में

बिलासपुर : सीपत के मचखंडा की घटना, 1 छात्र गंभीर, दो आईसीयू में व अन्य 6 को साधारण चोट.

By: Bhupesh Tripathi

Published: 04 Oct 2021, 10:41 PM IST

बिलासपुर . जिले के सीपत में मचखंडा स्थित अयूब खान हायर सेकेंडरी स्कूल भवन में दोपहर सवा तीन बजे आकाशीय बिजली गिरने से एक बच्चे की मौत हो गई, वहीं तीन बच्चे गंभीर हैं। छह अन्य को साधारण चोट आई है। गंभीर घायल बच्चों का सिम्स में इजाज चल रहा है। जानकारी के मुताबिक स्कूल में 6वीं से लेकर 12वीं तक की क्लास लगी हुई थी। दोपहर लगभर 2.45 बजे बच्चे क्लास रूम में ही थे कि अचानक से तेज गरज के साथ बारिश होने लगी।

बारिश की तेज बूंद को देख कर बच्चे खिड़की के पास खड़े होकर बारिश देख रहे थे की उसी समय अचानक से बिजली स्कूल परिसर में गिरी। बिजली गिरने से खिड़की पर खड़े बच्चे चपेट में आ गए। बिजली गिरने से खिड़की पर खड़े शिवम कुमार साहू (11) को झटका लगा और वह पीछे की ओर दीवार से जा टकराया। उसकी मौके पर ही मौत हो गई। वही खिड़़की पर ही खड़ी आलिया (11), कक्षा दसवीं के छात्र भूपेन्द्र साहू (15) और कक्षा 9 वीं के प्रदीप यादव (14) बुरी तरह झुलस गए। इनकी हालत को देखते हुए आईसीयू में रखा गया है। वही अन्य घायलों की हालत सामान्य होने पर उन्हें उपाचर के बाद एहितयात के तौर पर सिम्स में ही वार्ड में रखा गया है। वही जिला शिक्षा अधिकारी सहित पूरा प्रशासनिक अमला सिम्स में बच्चों की सलामती व बेहतर उपचार की व्यवस्था करने में लगा हुआ है।

आईसीयू में दो छात्र भर्ती
सीपत में हुई बिजली गिरने की घटना में कक्षा 9वीं प्रदीप यादव और भूपेन्द्र साहू को आईसीयू में भर्ती किया गया है। चिकित्सकों के अनुसार दोनों की हालत खतरे से बाहर है।

इनकी स्थिति है सामान्य
कक्षा 8वीं शोभराज गोड़ (13) मचखंडा, कक्षा 12वीं मिथलेश, केवट केवट (17) निवासी मचखंडा व कक्षा 12वीं अंजली सिंह (17) निवासी मंजूरपहली शामिल है।

घटना में घायल हुए बच्चों के उपचार कराना पहली प्राथमिकता है। मामले की जांच कराई जाएगी। घटना में स्कूल प्रबंधन दोषी है या नहीं जांच के बाद दोषी पाए जाने पर कार्रवाई की जाएगी।
- एसके प्रसाद, जिला शिक्षा अधिकारी, बिलासपुर

Bhupesh Tripathi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned