झुलसाने लगी धूप, शहर का पारा पहुंचा 40 पर, बच्चों का रखें विशेष ध्यान दोपहर में सन्नाटा, शाम को बढ़ जाता है ट्रेफिक

विगत एक सप्ताह से शहर का अधिकतम पारा 40 के आसपास बना हुआ है। तेज धूप अब चुभने लगी है। मौसमी बीमारियों की चिंता भी सता रही है।

By: BRIJESH YADAV

Published: 29 Mar 2019, 09:55 PM IST

बिलासपुर. विगत एक सप्ताह से शहर का अधिकतम पारा 40 के आसपास बना हुआ है। तेज धूप अब चुभने लगी है। ऐसी भीषण गर्मी में अब लोगों को मौसमी बीमारियों की चिंता भी सता रही है। कूलर-पंखों के सामने बैठे लोग भी पसीना पोंछते नजर आ रहे हैं। डॉक्टर्स लोगों को सलाह दे रहे हैं कि वे सतर्क रहें। खासतौर पर छोटे-छोटे बच्चों को लेकर विशेष सावधानियां बरतीं जाएं। शुक्रवार को शहर का अधिकतम पारा 39 डिग्री सेल्सियस और न्यूनतम 24 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। सुबह 8 बजे से ही चिलचिलाती धूप निकली और दोपहर होते होते आसमान से मानो आग बरसने लगी। शाम के समय भी मौसम में नर्मी नहीं आई। घरों के अंदर बैठे लोग उमस से हलाकान रहे।

बच्चों को लेकर रहें सावधान:
पानी की कमी से डीहाईड्रेशन, यूरिन इंफैक्शन, त्वचा, पाचन संबंधी, बुखार आने जैसी समस्याएं हो सकतीं हैं। ऐसे में बच्चों को समय-समय पर पानी पिलाते रहें। यह निश्चित करें कि बच्चा दिन में कम से कम तीन लीटर पानी जरूर पिए। यदि घर से बाहर धूप में निकलता है तो उसे जरूरत के हिसाब से पानी की मात्रा ज्यादा दी जाए। सिर पर सफेद कपड़ा या कैप लगाएं। आईस्क्रीम, कोल्ड्रिंग्स सहित जंक फू्रट न खिलाएं। ग्लूकोज के साथ इलेक्ट्रोल घोल पिलाएं। नारियल, छांच भी शरीर में पानी की कमी को दूर कर सकता है। तरबूज-खरबूज, खीरा-ककड़ी जैसे मौसमी फल भी खिलाएं।
अगले 6 दिनों तक 40 डिग्री पर पारा रहने की संभावना:
दिनांक अधिकतम/न्यूनतम पारा
30 मार्च 40/23 डिग्री से.
31 मार्च 38/23 डिग्री से.
01 अप्रैल 41/24 डिग्री से.
02 अप्रैल 40/23 डिग्री से.
03 अप्रैल 39/20 डिग्री से.
04 अप्रैल 40/21 डिग्री से.



सुबह 9 बजे से ही तपन महसूस की जा रही है

गर्मी का मौसम शुरू होते ही और गर्म हवाओं ने अपना असर दिखाना शुरू कर दिया है। सुबह 9 बजे से ही तपन महसूस की जा रही है। गर्मी आते ही मौसमी बीमारियां भी साथ में आएंगी ऐसे में लोगों को आवश्यकता है कि वे सतर्क रहें। उल्टी-दस्त, डीहाईड्रेशन के अलावा इस सीजन में त्वचा संबंधी रोगों की अधिकता होती है। स्किन शुष्क और बेजान हो जाती है। डॉक्टर सलाह देते हैं कि इन दिनों त्वचा का बेहद ख्याल रखने की आवश्यकता रहती है। लोग स्किन को लेकर सतर्क रहते हैं खासतौर पर युवतियां और महिलाएं गर्मी का सीजन आते ही तरह-तरह के जतन करते देखी जातीं हैं। इस मौसम में चलने वाली गर्म हवाएं शरीर से नमी सोख लेतीं हैं। स्किन बेजान होने लगती है, ऐसे में आवश्यकता होती है कि लोग त्वचा की नमी बनाए रखें और घर से बाहर निकलते समय बेहद सावधानी बरतें।


ये करें उपाय तो गर्मी में भी खिलखिलाती रहेगी आपकी त्वचा:
-त्वचा के लिए सनस्क्रीम लगाएं।
-त्वचा की नमी बरकरार रखने के लिए गर्मी का फेसपैक तैयार करें।
-बर्फ से चेहरे की मालिश भी की जा सकती है।
-आपकी त्वचा तैलीय है तो खीरे का पेस्ट चेहरे पर लगाएं।
-टमाटर का पेस्ट भी चेहरा व हाथों की त्वचा को लाभकारी हो सकता है।
-दिन में तीन से चार बार चेहरे को ठंडे पानी से धोएं।
-चेहरे पर तरबूज व एलोवेरा लगाने से भी लाभ होता।
-नीबू, खीरा, दही, गुलाब जल मिलाकर इसे चेहरे पर लगाने से ताजगी आती है।
-घर से बाहर निकलते वक्त चेहरे का ढकें।
-आंखों में काला धूप का चश्मा लगाएं।

 

वर्जन...
बच्चों और बड़ों के शरीर मे पानी की मात्रा पर्याप्त हो इस बात का विशेष ध्यान रखना चाहिए। यदि धूप में बाहर निकलना होता है तो घर से पानी पीकर निकले और चेहरा ढका हो, ज्यादा धूप सिर पर ना पड़े। कोशिश करे टोपी या छाता लेकर बाहर जाए या फि र कोई कपड़ा लपेट कर सिर को धूप से बचाएं। जितनी ज्यादा से ज्यादा हो सके पानी, शिकंजी या ताजे फ लों के रस पिलाएं। भोजन आवश्यकता से कुछ कम करें और ताजा भोजन करें। बाहर गुमठी या ठेलो के खानों से बचें।
डॉक्टर बीपी सिंह

Show More
BRIJESH YADAV Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned