निजी संस्था के सदस्य अब खुद नहीं पहुंचाएंगे राशन, संगठनों के साथ हुई बैठक

निगम और पुलिस के ज़रिए करेंगे मदद, विकास भवन में स्वयंसेवी संगठनों के साथ की गई चर्चा

By: yogesh vishwakarma

Published: 10 Apr 2020, 01:59 PM IST

बिलासपुर. कोरोना संकट की वजह से लॉकडाउन में ज़रूरतमंद लोगों की मदद के उद्देश्य से उन तक राशन, फूड पैकेट जैसे सामान पहुंचाने का काम प्रशासन के अलावा शहर के कई स्वयंसेवी संगठन भी कर रहें है। लेकिन इससे लॉकडाउन और सोशल डिस्टेंसिंग का पूर्णत: पालन नहीं हो पा रहा था। इसे देखते हुए प्रशासन द्वारा निर्णय लिया गया है की ज़रूरतमंदों तक मदद सिर्फ प्रशासन की टीम पहुंचाएगी। स्वयंसेवी संगठन, नगर निगम और पुलिस विभाग को राहत सामग्री दें सकतें हैं। इसके लिए आज विकास भवन में निगम कमिश्नर प्रभाकर पाण्डेय और अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक ओपी शर्मा की अध्यक्षता में स्वयंसेवी संगठनों की बैठक हुई,जिसमें सभी ने प्रशासन के निर्णय पर अपनी सहमति जताते हुए सहयोग करने की बात कही।
बैठक में कमिश्नर प्रभाकर पाण्डेय ने कहा की स्वयंसेवी संगठन इस संकट की घड़ी में खुद से लोगों की मदद कर रहें हैं, वह सराहनीय है। लेकिन लॉकडाउन के दौरान देखा यह जा रहा था कि बहुत से ऐसे लोग हैं। जो लोगों को मदद करने की आड़ में शहर में घूम रहे थे। इसके अलावा जो संगठन मदद भी कर रहें थे, उसमें 8से 10 सदस्यों की संख्या रहती थी जिससे लॉकडाउन और सोशल डिस्टेंसिंग की व्यवस्था बिगड़ रही थी। इससे संक्रमण का खतरा हो सकता है। गुरुवार को स्वयंसेवी संस्थाओं के साथ हुई बैठक में यह निर्णय लिया गया है कि ज़रूरतमंदों तक मदद पहुंचाने वाले कोई भी व्यक्ति या संस्था राशन सामग्री खुद नहीं पहुंचाएंगे। बल्कि उस राशन सामग्री को नगर निगम को दें सकते हैं। निगम की टीम, ज़रूरतमंद तक सामग्री पहुंचाएगी। ननि की टीम पहले से ही असहाय लोगों तक नि:शुल्क राशन पहुंचाने का काम कर रही है। इसके अलावा जो फूड पैकेट हैं उनके वितरण के लिए निगम और पुलिस की टीम काम करेगी, जो लोग मदद करना चाहतें हैं वो फूड पैकेट प्रशासन की टीम को दें सकतें हैं।

कुछ को ही मिलेगी अनुमति
बैठक में कहा गया कि इस कार्य में कुछ प्रमुख संगठनों को ही वितरण की अनुमति प्रदान की जाएगी। जिसका फैसला प्रशासन करेगा। जिनको अनुमति मिलेगी, उसमें भी‌ सिर्फ 2-3 सदस्य ही अधिकृत होंगे। संगठनों की जानकारी में अगर किसी ज़रूरतमंद को मदद की आवश्यकता होगी तो वें ननि और पुलिस विभाग को इसकी सूचना दें सकतें हैं। प्रशासन उनकी मदद करेगा। इस कार्य में समन्वय के लिए ननि द्वारा व्हाटसअप ग्रुप तैयार किया गया है। जिसमें पहले से ही कई स्वयंसेवी संगठन जुड़े हुए हैं। इस ग्रुप में बाकी के संगठनों को भी जोडऩे का निर्णय लिया गया।

ये रहे उपस्थित
बैठक में प्रमुख रूप से कमिश्नर प्रभाकर पाण्डेय ,अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक ओपी शर्मा, उपायुक्त खजांची कुम्हार, सीएसपी आरएन यादव, डीएसपी स्नेहिल साहू, उपनिरीक्षक सोनू वर्मा, अग्रवाल समाज, मारवाड़ी युवा मंच, अरपा अर्पण महाभियान, विजड़म ट्री फाउंडेशन, चारोमती फाउंडेशन, हंगर फ्री, ख्वाब इंडिया, धिती फाउंडेशन, दावत ए आम, दाउदी बोहरा समाज, आर्ट आफ लिविंग, यूथ संस्कार, आरएसएस, होटल गीता, रोटरी क्लब के पदाधिकारी शामिल थे।

yogesh vishwakarma Chief Reporter
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned