विधायकों ने सदन में उठाया अधूरे सीवरेज का मुद्दा

विधायकों ने सदन में उठाया अधूरे सीवरेज का मुद्दा

Murari Soni | Updated: 17 Jul 2019, 01:54:54 PM (IST) Bilaspur, Bilaspur, Chhattisgarh, India

धर्मजीत ने शिव से कहा खुद आकर शहर की हालत देखिए तब पता चलेगा....

बिलासपुर. सीवरेज का मुद्दा सदन में खूब गरमाया। सदन में लोरमी विधायक धर्मजीत सिंह और विधायक शैलेष पांडेय ने आधे अधूरे सीवरेज, अफसरों की लापरवाही और ठेकेदार के भाग जाने की वजह से काम प्रभावित होने का मुद्दा उठाया। मूल प्रश्नकर्ता धर्मजीत सिंह ने कहा कि बिलासपुर शहर के भीतर बने सीवरेज में डूबकर लगातार लोगों की मौतें हो रही है, वहीं निगम में सालों से इंजीनियरों एक ही जगह पर जमे हुए हैं। धर्मजीत सिंह ने नगरीय प्रशासन मंत्री शिव डहरिया को कहा कि वो बिलासपुर आकर खुद शहर की हालत देखें।

धर्मजीत सिंह के प्रस्ताव पर हामी भरते हुए शिव डहरिया ने कहा कि वो बिलासपुर आकर सिवरेज की स्थिति को देखेंगे। वहीं सालों से बिलासपुर निगम में पदस्थ इंजीनियरों को हटाने और दोषियों के खिलाफ कार्रवाई करने का भी आश्वासन शिव डहरिया ने दिया। धर्मजीत सिंह ने कहा कि बिलासपुर नगर निगम के एक सब इंजीनियर वहीं चीफ इंजीनियर बन गये हैं और 25 सालों से पदस्थ हैं, अस्टिटेंट इंजीनियर से लेकर अन्य इंजीनियर भी 15 साल- 20 साल से एक ही जगह पर पदस्थ हैं। निगम में पांच साल से ज्यादा वक्त से कार्यरत इंजीनियरों को हटाने की मांग धर्मजीत ने सदन में की, जिस पर शिव डहरिया ने कहा कि इस मामले में जरूर कार्रवाई की जायेगी।

मंत्री को गलत जानकारी दे रहे इंजीनियर
विधायक शैलेष पांडेय ने सदन में लापरवाही के साथ-साथ इंजीनियरों की तरफ से गलत जानकारी दे कर मंत्री को गुमराह करने का आरोप लगाया। शैलेष पांडेय ने बताया कि समीक्षा बैठक के दौरान अधिकारियों ने बताया था कि सिर्फ 2 परसेंट काम बचा है, जबकि सीवरेज का 15 प्रतिशत से ज्यादा काम बचा है। यही नहीं काम कराने वाला ठेकेदार भी भाग गया है, ऐसे में काम कैसे होगा। शैलेष पांडेय ने सदन में कहा कि पिछली सरकार की कार्यशैली का खामियाजा आज भी शहर की जनता भुगत रही है। उन्होंने कहा कि शहर में सौ से ज्यादा गडढे हैं, जिससे शहर के लोग संकट में हैं। शैलेष पांडेय ने इस मामले में कड़ी कार्रवाई करने और दोषियों पर एक्शन लेने की मांग की।

Show More

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned