विधायक के ध्यानाकर्षण ने खोली निगम की आंख फिर से शुरू होगा कुत्तों की नसबंदी का काम

विधायक के ध्यानाकर्षण ने खोली निगम की आंख फिर से शुरू होगा कुत्तों की नसबंदी का काम

Amil Shrivas | Publish: Feb, 15 2018 06:36:23 PM (IST) Bilaspur, Chhattisgarh, India

२५०० कुत्तों की नसबंदी का दिया गया था काम ७०० ऑपरेशन कर भागा फाउंडेशन, निगम फिर कर रहा लिखापढ़ी

बिलासपुर . महासमुंद विधायक विमल चोपड़ा द्वारा आवारा कुत्तों के आतंक से लगातार लोगों की जान जाने के मामले में विधानसभा सचिवालय को ध्यानाकर्षण प्रश्न भेजने के बाद निगम प्रशासन ने एक बार फिर कुत्तों की नसबंदी कराने के लिए सक्रियता दिखानी शुरू कर दी है। निगम के स्वास्थ्य महकमे ने भुगतान में आ रही दिक्कत के बाद काम अधूरा छोड़कर भागने वाली दुर्ग की एनीमल केयर फाउंडेशन को फिर से नसबंदी का कार्य आरंभ करने कहा है।
७ फरवरी को पत्रिका ने विधानसभा सचिवालय को इस सबंध में महासमुंद विधायक विमल चोपड़ा द्वारा भेजे गए पत्र को प्रमुखता से प्रकाशित किया था। इसमें उन्होंने प्रदेश भर में ३० हजार से अधिक लोगों को आवारा कुत्तों द्वारा दौड़ाकर काटने तथा रायपुर में कुत्तों द्वारा बच्ची को नोंच खसोंटकर मार डालने की घटना तथा राजधानी में लगातार घट रही घटनाओं का हवाला देते हुए शासन और निगम प्रशासन को इस मामले में फेलवर बताते हुए सरकार से सवाल किया था कि इसके लिए क्या पहल की जा रही है। विधायक के इस ध्यानाकर्षण प्रस्ताव के बाद निगम के स्वास्थ्य महकमे ने दिवाली के बाद से बंद पड़ी कुत्तों की नसबंदी का कार्य फिर से शुरू कराने दुर्ग की एनीमल केयर फाउंडेशन को पत्र भेजा है। बताया जाता है कि तीसरी बार निगम प्रशासन ने इस फाउंडेशन को २५०० कुत्तों की नसबंदी का काम ठेके पर दिया था, फाउंडेशन ने ७०० कुत्तों की नसबंदी कराने के बाद भुगतान में हो रही कोताही को लेकर काम ही बंद कर दिया।

ये करना था फाउंडेशन को: निगम प्रशासन के मुताबिक फाउंडेशन को शहर भर से २५०० कुत्तों को पकड़कर उनका आपरेशन कर नसबंदी और एंटी रैबीज वैक्सीन लगवाना था, शहरवासियों ने आज तक कुत्तों को पकड़ते नहीं देखा और निगम के अफसर दावा कर रहे हैं कि ७०० कुत्तों की नसबंदी की जा चुकी है। इसके पूर्व में भी दो बार निगम प्रशासन द्वारा कुत्तों की नसबंदी कराई जा चुकी है।

दुर्ग के एनीमल फाउंडेशन केयर को २५०० कुत्तों की नसबंदी का काम दिया गया था, कंपनी ने ७०० कुत्तों की नसबंदी कराने के बाद भुगतान में आ रही दिक्कत की वजह से काम ही बंद कर दिया है, दिवाली के बाद से काम बंद है। पिछले कुछ दिनों से कुत्तों के काटने की घटना में इजाफा होने की वजह से फिर से कंपनी के अफसरों से चर्चा कर काम शुरू कराने कहा गया है।
डॉ. आेंकार शर्मा, स्वास्थ्य अधिकारी नगर निगम बिलासपुर

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned