12 साल के मासूम के सामने हुआ मां का कत्ल, बच्चे का अंजाम जान दहल जायेंगे

- जिस पर था पुलिस को संदेह वह सुबह थाने पहुंच कहा साहब मैने नहीं मरा।
- दो संदेही परसदा बस्ती से हुए गिरफ्तार, डॉग रोजी ने दिया अहम सुराग।

By: Bhupesh Tripathi

Published: 07 Sep 2020, 04:19 PM IST

बिलासपुर. छत्तीसगढ़ के बिलासपुर जिले से एक दिल दहलाने वाली खबर सामने आई है। महिला और उसके 12 वर्षीय बेटे की धारदार हथियार से किसी ने शनिवार शाम हत्या कर दी। मामले की जांच कर रही सकरी पुलिस को रविवार सुबह हत्या से जुड़े कई सुराग हाथ लगे है और कुछ लोगो ने हत्या को लेकर अहम जानकारी भी पुलिस को दी है। पुलिस मामले का जल्द खुलासा करने की बात कह रही है।

शनिवार हो महिला सरिता कौशिक (35) व बेटे अरमान (12) वर्षीय बेटे की हत्या के मामले में जांच कर रही सकरी पुलिस को सुबह- सुबह ही झटका लगा, इसका कारण था पुलिस जिसे आरोपी समझ गिरफ्तार करने रात भर शहर व ग्रामीण क्षेत्रों की खाख छान रही थी, वह सुबह सकरी थाने पहुंच गया। संदेही युवक ने पुलिस को अपना बयान दर्ज कराया है। आरोपी जब खुद ही थाने पहुंच कर खुद को बेगुनाह बताने लगा तो पुलिस फिर जीरों में पहुंच गई। क्यों कि पुलिस के पास हत्या की गुत्थी को सुझलाने के लिए कोई खास सुराग नहीं था। कोई लीड मिले इस उम्मीद में सुबह सकरी पुलिस क्राइम सीन पर दुबारा जांच कर रही थी इस दौरान डॉग स्क्वायर्ड, फिंग्रर प्रिंट एक्सपर्ट व एफएसएल टीम ने मौके पहुंच गई। मौके पर जांच के दौरान डॉग को कुछ सुराग मिला व डॉग मैदान होते ही गांव के एक घर में घुस गया, पुलिस ने संदेह के आधार पर दोनों संदेही को गिरफ्तार किया है वही पुलिस के पहले संदेही से भी पुछताछ जारी है।

मां का होते देखा कत्ल बताने बाहर दौड़ा तो आरोपी ने कर दी हत्या
पुलिस की जांच में यह बात सामने आई है कि 12 वर्षीय अरमान घर के सामने मैदान में खेल रहा था इस दौरान चीख सुन कर वह अंदर पहुंचा तो एक स्कार्फ बांधा हुआ व्यक्ति उसकी मां का कत्ल कर रहा था। अरमान ने बताने की बात कहते हुए बाहर मैदान की ओर दौड़ा तो आरोपी भी उसके पीछे दौड़ा व उसे खीच कर घर के अंदर लाया और उसके सर के पीछे किसी वजनी हथियार से वार कर मौत के घाट उतार दिया।

डॉग ने दिया अहम सुराग
ट्रैकर डॉग रोजी घटना स्थल पर किसी की गंध मिली पहले वह मैदान तक गई, उसके बाद दुबारा वह घर के अंदर घटना स्थल पर आ गई। दुबारा फिर गंध सुध वह मैदान होते हुए सड़क के किनारे- किनारे लगभग तीन किलो मीटर दूर परसदा बस्ती पहुंची, परसदा बस्ती स्थित एक मकान पर घुस गई और पहले बेटे फिर पिता पर झपट पड़ा।

Show More
Bhupesh Tripathi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned