बच्चे को बेरहमी से पीट रहा था पिता, भांजे की पिटाई देखकर मामा का खौला खून तो जीजा को ही उतार दिया मौत के घाट

बहन और जीजा को पीटते हुए वह पड़ोस में रहने वाले फूल सिंह के घर के आंगन में ले गया और दोनों के बेहोश होने पर उन्हें छोड़ कर भाग गया।

By: BRIJESH YADAV

Updated: 04 Apr 2019, 02:07 PM IST

बिलासपुर. भांजे को पीट रहे जीजा को समझाइश देने पर न मानने पर लाठी से जीजा को पीट-पीटकर लहूलुहान कर दिया। बीच बचाव करने पहुंची बहन को भी आरोपी ने जमकर पीटा। घटना सीपत थानांतर्गत ग्राम बसहा में मंगलवार दोपहर हुई। घायल दंपती को उपचार के लिए सिम्स में भर्ती किया गया। बुधवार को घायल जीजा की मौत हो गई। सीपत पुलिस के अनुसार कोरबा जिले के पाली अंतर्गत ग्राम पुरा निवासी फगुन सिंह धनुहार पिता चैतराम धनुहार (55) किसान था। ग्राम पुरा में उसकी पहली पत्नी रातिन बाई रहती है। कुछ वर्ष पूर्व उसने ग्राम बसहा में रहने वाली मंगलिन बाई ( 40) से विवाह किया था। मंगलिन बाई और फगुन सिंह के दो बेटे हैं। फगुन सिंह ग्राम बसहा में 3 दिन और ग्राम पुरा में पहली पत्नी के साथ 4 दिन बिताता था। मंगलवार दोपहर करीब 2 बजे वह अपने बेटे को पीट रहा था। तभी फगुनसिंह का ***** वीर सिंह धनुहार पिता विश्राम सिंह (42) फगुन सिंह के घर पहुंचा। उसने फगुन को बच्चे को पीटने से मना किया। बच्चे को पीटने की बात पर वीर सिंह का फगुन से विवाद हो गया। उसने पास रखे बांस के डंडे से फगुन पर हमला कर दिया। बीच बचाव करने पहुंची मंगलिन बाई पर को भी वीर सिंह ने पीटा। बहन और जीजा को पीटते हुए वह पड़ोस में रहने वाले फूल सिंह के घर के आंगन में ले गया और दोनों के बेहोश होने पर उन्हें छोड़ कर भाग गया। पुलिस कर्मियों ने घायल दंपती को उपचार के लिए सिम्स पहुंचाया।
मुचलके पर छोडऩे के बाद फिर किया गिरफ्तार
घटना की शिकायत फिरतराम ने मंगलवार को थाने में दर्ज कराई थी। पुलिस ने आरोपी के खिलाफ धारा 294, 506, 323के तहत अपराध दर्ज किया था। आरोपी वीर सिंह को गिरफ्तार करने के बाद पुलिस ने मुचलके पर छोड़ दिया था। बुधवार को फगुन की मौत होने की सूचना मिलने पर पुलिस ने फिर से वीर सिंह को गिरफ्तार किया।

Show More
BRIJESH YADAV Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned