scriptNGT issued notice by accepting appeal against Parsa coal block forest | परसा कोल ब्लॉक वन अनुमति के खिलाफ अपील स्वीकार कर एनजीटी ने जारी किया नोटिस | Patrika News

परसा कोल ब्लॉक वन अनुमति के खिलाफ अपील स्वीकार कर एनजीटी ने जारी किया नोटिस

नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल की भोपाल बेंच ने परसा कोयला खदान को दी गई वन अनुमति को चुनौती देने वाली अपील स्वीकार कर ली है। एनजीटी ने केन्द्र सरकार, राज्य सरकार, राजस्थान विद्युत मण्डल और अडानी कम्पनी को नोटिस जारी कर चार सप्ताह में जवाब देने कहा है।

बिलासपुर

Published: May 24, 2022 09:32:49 pm

बिलासपुर। नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल की भोपाल बेंच ने परसा कोयला खदान को दी गई वन अनुमति को चुनौती देने वाली अपील स्वीकार कर ली है। एनजीटी ने केन्द्र सरकार, राज्य सरकार, राजस्थान विद्युत मण्डल और अडानी कम्पनी को नोटिस जारी कर चार सप्ताह में जवाब देने कहा है। यह अपील वरिष्ठ आदिवासी कार्यकर्ता संतकुमार नेताम के द्वारा दाखिल की गई। इसमें वाइल्ड लाइफ इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (डब्ल्यूआईआई) की रिपोर्ट को आधार बनाया गया है, जिसके अनुसार हसदेव क्षेत्र में कोयला खनन बढ़ाने से मानव हाथी संघर्ष बढ़ने और नए क्षेत्रों में फैलने की चेतावनी दी गई है।
परसा कोल ब्लॉक वन अनुमति के खिलाफ अपील स्वीकार कर एनजीटी ने जारी किया नोटिस
परसा कोल ब्लॉक वन अनुमति के खिलाफ अपील स्वीकार कर एनजीटी ने जारी किया नोटिस
गौरतलब है कि पूर्व में पीईकेबी खदान की वन अनुमति को एनजीटी प्रधानपीठ के द्वारा सुदीप श्रीवास्तव की अपील पर रद्द कर दिया गया था, और हसदेव क्षेत्र में डब्ल्यूआईआई से अध्ययन कराने के निर्देश दिये थे। बाद में सुप्रीम कोर्ट के दखल के बाद उक्त अध्ययन कराया गया। परन्तु निर्देश के विपरीत इसके लिये पैसे ब्लॉक अलाटी राजस्थान विद्युत मण्डल से लिए गए। डब्ल्यू आई आई के अलावा एक और संस्था आईसीएफआरई (इंडियन काउंसिल फॉर फॉरेस्ट रिसर्च एण्ड एजुकेशन) को यह जिम्मेदारी संयुक्त रूप से दी गई। दोनों ही संस्थाओं के विस्तृत अध्ययन में हसदेव वन क्षेत्र और परसा ब्लॉक को विभिन्न जंगली जानवरों समेत अत्यधिक महत्वपूर्ण जैव विविधता वाला क्षेत्र बताया गया।
सर्वे में स्पष्ट कि हसदेव इलाके में खनन से पर्यावरण को भारी नुकसान

दोनों ही संस्थाओं ने स्वीकार किया कि इस इलाके में खनन होने से वन पर्यावरण को अपूर्णीय क्षति होगी। केवल परसा ब्लॉक में 2009 की गणना के हिसाब से एक फुट से अधिक मोटे 96000 पेड़ो की कटाई होगी-वर्तमान में लगभग 2 लाख पेड़ प्रभावित होंगे। डब्ल्यूआईआई ने स्पष्ट रूप से कोई और खनन अनुमति न देने की सिफारिश की। परन्तु आईसीएफआरई ने कहा कि राजस्थान-अडानी वाले कोल ब्लॉकों में खनन कर सकते है।
जंगलों के बाहर के कोल ब्लॉक में खनन कराने की मांग

23 मई को एनजीटी की भोपाल बेंच में हुई सुनवाई में अधिवक्ता सौरभ शर्मा और राहुल चौधरी ने खण्डपीठ को बताया कि इस इलाके में खनन किया जाना बिल्कुल भी आवश्यक नहीं हैं और देश में कई कोयला ब्लॉक जंगलों के बाहर उपलब्ध है। संक्षिप्त सुनवाई के बाद जस्टिस शिव कुमार सेन और डॉ. अरूण कुमार वर्मा (विशेषज्ञ सदस्य) ने सभी प्रतिवादियों केन्द्र सरकार, राज्य सरकार, राजस्थान विद्युत मण्डल और अडानी कम्पनी को नोटिस जारी कर चार सप्ताह में जवाब देने के निर्देश दिए हैं। मामले की अगली सुनवाई 18 जुलाई को रखी गई हैं। इस दिन छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा जारी अंतिम वन अनुमति पर रोक लगाने वाली याचिका पर बहस होगी।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather. राजस्थान में आज 18 जिलों में होगी बरसात, येलो अलर्ट जारीसंस्कारी बहू साबित होती हैं इन राशियों की लड़कियां, ससुराल वालों का तुरंत जीत लेती हैं दिलशुक्र ग्रह जल्द मिथुन राशि में करेगा प्रवेश, इन राशि वालों का चमकेगा करियरउदयपुर से निकले कन्हैया के हत्या आरोपी तो प्रशासन ने शहर को दी ये खुश खबरी... झूम उठी झीलों की नगरीजयपुर संभाग के तीन जिलों मे बंद रहेगा इंटरनेट, यहां हुआ शुरूज्योतिष: धन और करियर की हर समस्या को दूर कर सकते हैं रोटी के ये 4 आसान उपायछात्र बनकर कक्षा में बैठ गए कलक्टर, शिक्षक से कहा- अब आप मुझे कोई भी एक विषय पढ़ाइएUdaipur Murder: जयपुर में एक लाख से ज्यादा हिन्दू करेंगे प्रदर्शन, यह रहेगा जुलूस का रूट

बड़ी खबरें

पीएम नरेंद्र मोदी ने अखिल भारतीय शैक्षिक समागम का किया उद्धाटन बोले नई शिक्षा नीति मातृभाषा में पढ़ाई के रास्ते खोल रहीBritain के पीएम बोरिस जॉनसन ने दिया इस्तीफा, जानें वो 'एक फैसला' जिससे गई कुर्सीMaharashtra Cabinet: कैबिनेट विस्तार पर बीजेपी और शिंदे गुट में ऐसे बनी सहमति, जानें किसके के खाते में कौन-कौन से विभागVideo: पुलिस जीप में हंसता हुआ आराम से बैठा, हाथों से किए इशारे, सलमान का एक और वीडियो वायरलWest Bengal: TMC के 3 पंचायत नेताओं की बेरहमी से हत्या, हमलावर मौके से फरारMaharashtra: सपा विधायक अबू आजमी को जान से मारने की धमकी देने के मामले में मुंबई पुलिस की बड़ी कार्रवाई, पुणे से दो आरोपी गिरफ्तारKaali Poster Row: विवाद के बीच CM ममता बनर्जी का बड़ा बयान, महुआ मोइत्रा को दी नसीहतBhagwant Mann Marriage Live Updates: पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान को अरविंद केजरीवाल ने दी बधाई
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.