निजी पैथोलैब चलाने वाले सरकारी डॉक्टरों को नोटिस, भैतिक सत्यापन की तैयारी

इसमें से अधिकांश ने जवाब नहीं दिया है। स्वास्थ्य विभाग को लगातार शिकायत मिल रही थी कि जिले में निजी लैब का लाइसेंस लेने के बाद अब डॉक्टर यहां बड़े लैब का संचालन करने लगे हैं। इसमें कुछ सरकारी डॉक्टरों के नाम से लैब का पंजीयन है।

By: Karunakant Chaubey

Published: 04 Dec 2020, 09:09 PM IST

बिलासपुर. स्वास्थ्य विभाग ने 12 सरकारी डॉक्टरों को नोटिस भेजा है। विभाग को शिकायत मिली है कि इनके नाम से कहीं न कहीं निजी लैब है। सीएमएचओ ने नोटिस जारी कर पूछा है कि आपकी सर्विस के अलावा आप और कहा पर प्रैक्टिस कर रहे हैं। इसमें से अधिकांश ने जवाब नहीं दिया है। स्वास्थ्य विभाग को लगातार शिकायत मिल रही थी कि जिले में निजी लैब का लाइसेंस लेने के बाद अब डॉक्टर यहां बड़े लैब का संचालन करने लगे हैं। इसमें कुछ सरकारी डॉक्टरों के नाम से लैब का पंजीयन है।

सीएमएचओ डॉ. प्रमोद महाजन ने एक दर्जन डाक्टरों को नोटिस जारी कर पूछा है कि आप अपने ड्यूटी के अलावा कहा पर और किस समय प्रैक्टिस करते हैं। सीएमएचओ का कहना है कि निजी डॉक्टरों के अलावा सरकारी डॉक्टर जो पैथोलैब का संचालन करते हैं। उन्हें इस लिए नोटिस जारी किया गया है ताकि वैध लैब का सही सत्यापन हो सके।

भैतिक सत्यापन की तैयारी

जिले में 100 से अधिक निजी लैब है। इनसे जरूरी दस्तावेज मांगे गए हैं। कई लोगों को नोटिस भी जारी किया गया है। इनके द्बारा उपलब्ध कराएं गए दस्तावेजों की जांच की जाएगी और स्वास्थ्य विभाग की टीम द्बारा इनके लैब का निरीक्षण कर भैतिक सत्यापन किया जाएगा।

ये है नियम

सीएमएचओ ने बताया स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के अनुसार नर्सिंग होम एक्ट के तहत एमबीबीएस डॉक्टर छोटे लैब का संचालन कर सकते हैं। बड़े लैब नहीं चला सकते। इनके साथ ही सरकारी डॉक्टर भी निजी लैब का संचालन कर सकते हैं। लेकिन इनमें जो एनपीए (नॉन प्रेक्टिस अलावन्स) नहीं लेते वो ही संचालन कर सकते हैं। इनके लिए समय सीमा जरूर तय की गई है जिसके तहत काम वाले दिनों में 3 घंटे और अवकाश वाले दिनों में 5 घंटे ये प्रैक्टिस कर सकते हैं।

इनको दिया है नोटिस

1- डॉ. सोमेंद्र सिंह ठाकुर

2- डॉ. मृत्युजय सराफ

3- डॉ. बीपी सिंह

4- डॉ. प्रभात श्रीवास्तव

5- डॉ. केके जायसवाल

6- डॉ. पीसी गुप्ता

7- डॉ. एसजी घाटगे

8- डॉ. मीरा गोयल

9- डॉ. रश्मि गुप्ता

10- डॉ. दिग्विजय सिंह

11- डॉ. मारुति

12- डॉ. अजय शेष

अवैध लैब संचालित करने की शिकायत मिली है इसलिए नोटिस दिया गया है। कुछ ने जवाब दिया है तो कुछ के जल्द भेजने की बात कही है।

-डॉ. प्रमोद महाजन सीएमएचओ

Karunakant Chaubey Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned