शाह बोले-भाजपा में बूथ अध्यक्ष से राष्ट्रीय अध्यक्ष तक का रास्ता खुला

शाह बोले-भाजपा में बूथ अध्यक्ष से राष्ट्रीय अध्यक्ष तक का रास्ता खुला

Amil Shrivas | Publish: Oct, 13 2018 02:31:31 PM (IST) | Updated: Oct, 13 2018 02:31:32 PM (IST) Bilaspur, Chhattisgarh, India

कांग्रेस में सोनिया गांधी के बाद जब राहुल गांधी पार्टी के अध्यक्ष बने तो किसी को ताज्जुब नहीं हुआ, क्योंकि यह तय था।

बिलासपुर.भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने शुक्रवार को भाजपा के अधिवक्ता सम्मेलन में देश और प्रदेश की तरक्की और सुरक्षा के मुद्दे पर बात की। उन्होंने जहां विकास के आंकड़े गिनाए वहीं देश की सुरक्षा, सर्जिकल स्ट्राइक, विपक्षियों की रीति-नीति, परिवारवाद के मसले पर भी बात की। उन्होंने आजादी के 70 साल बाद भी जनता को रसोई गैस देने, शौचालय बनवाने की जरूरत पडऩे पर खुद ही सवाल उठाते हुए कहा कि आखिर इसकी जरूरत क्यों पड़ी, इस पर कांग्रेस से जवाब से मांगा जाना चाहिए। आप लोग सवाल नहीं करते, इसलिए मुझे आना पड़ता है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने अपना परिवार चलाया, हमें देश चलाना है। विपक्षी दलों के नाम गिनाते हुए शाह ने कहा कि अधिकतर में बेटे-बेटियों का राज है। कांग्रेस में सोनिया गांधी के बाद जब राहुल गांधी पार्टी के अध्यक्ष बने तो किसी को ताज्जुब नहीं हुआ, क्योंकि यह तय था।

परिवार से जब नेता तय होता है तो परिवार जो पुत्र देगा, वही नेता बनेगा, चाहे वह योग्य हो या न हो। लेकिन यह कोई नहीं कह सकता कि भाजपा में मेरे बाद अध्यक्ष कौन बनेगा? मेरे बाद भी भाजपा का अध्यक्ष वहीं बनेगा जो योग्य, मेहनती और देश को बढ़ाने वाला हो। बेटे को पीएम बनाने का प्रयास करने वाले सिर्फ अपने बेटे पर ही ध्यान देंगे, आपके बच्चों पर नहीं। सपा, बसपा, तृणमूल, राजद, एआईडीएमके, डीएमके, चंद्रबाबू नायडू की पार्टियों सहित सभी लोकतांत्रिक पार्टियां नहीं बल्कि एक ही परिवार के दल हैं। जो पार्टियां खुद लोकतांत्रिक नहीं हैं, वे लोकतांत्रिक तरीके से देश नहीं चला सकतीं। यह चुनाव तय करेंगे कि आप देश को बढ़ाने वालों को चुनेंगे या परिवार बढ़ाने वालों को?
छूटा तो हमसे भी कुछ होगा, लेकिन हमारा इरादा नेक : अगले माह के विधानसभा और अगले साल होने वाले लोकसभा चुनावों का उल्लेख करते हुए कहा कि हमसे भी कुछ छूट गया होगा लेकिन इरादा नेक है। आगे भी करने की चाहत और क्षमता है। ये निर्णायक चुनाव हैं, छत्तीसगढ़ के लिए और देश के लिए भी। इसे ध्यान में रखकर ही काम करना है, बस यही अपेक्षा है।
स्वागत और धन्यवाद की रस्म रोकी, भीड़ किनारे की : अमित शाह के साथ मंच पर मुख्यमंत्री रमनसिंह भाजपा के राष्ट्रीय सह संगठन मंत्री सौदान सिंह, महासचिव व प्रदेश प्रभारी अनिल जैन, सरोज पांडेय, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष धरम कौशिक, नगरीय प्रशासन मंत्री अमर अग्रवाल, उत्तराखंड के शिक्षामंत्री धन सिंह रावत थे। शुरुआत में विभिन्न पदाधिकारियों के माल्यार्पण का कार्यक्रम था। उनको सभी पदाधिकारियों व मंत्रियों ने फूलों का बड़ा हार पहनाया, इसके बाद निजी तौर पर स्वागत व माल्यार्पण की प्रक्रिया रोककर उन्होंने कार्यक्रम आगे बढ़ाने को कहा। अंत में धन्यवाद ज्ञापन की रस्म भी उन्होंने खत्म कर कार्यक्रम समाप्त करने कहा।

election 2018
IMAGE CREDIT: patrika

कम्युनिस्टों और भाजपा में ही लोकतंत्र, यूपीए में पीएम को छोड़ हर कोई पीएम था : शाह ने दो ही पार्टियों भाजपा और कम्यनिनस्टों को लोकतांत्रिक बताते हुए कहा कि इन दोनों ही पार्टियों में आडियोलाजी और लोकतांत्रिक तरीके से काम होता है। हाल में तब हंसी भी गूंज गई जब उन्होंने कहा कि यूपीए सरकार में हर कोई खुद को पीएम मान चुका था लेकिन पीएम को पीएम नहीं माना। यूपीएम के 10 साल के काम का उल्लेख करते हुए उन्होंने कहा कि 10 साल में सिर्फ घोटाले हुए। देश की सुरक्षा और अर्थव्यवस्था ध्वस्त हो चुकी थी। लेकिन हम सुधार के लिए सरकार चला रहे हैं। वोट बैंक की परवाह न करते हुए जीएसटी, नोटबंदी भी लागू की, देश की सुरक्षा के लिए कड़े फैसले लिए। इससे नाराजगी भी हुई लेकिन वही किया जो जनता के हित में है। देश को समस्यारहित करने के लिए सभी जाति-धर्म के लोगों को सुविधाएं दीं। सर्जिकल स्ट्राइक कर दुश्मन को घर में घुसकर मारा। सैनिकों के लिए सम्मान सहित वन रैंक, वन पेंशन लागू की।

रिलेक्स होने होटल पहुंचे शाह, महिला ने ली फोटो : भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह सांइस कालेज मैदान से मंगला चौक स्थित होटल मेरियट कोटयार्ड पहुंचे तो नेताओं का तांता लग गया। कड़ी सुरक्षा के बीच शाह ने होटल के अन्दर प्रवेश किया और हाल में खड़े महिला,पुरुष व बच्चों को हाथ जोड़कर नमस्कार किए। होटल में शादी के लिए मेहमान ठहरे हुए हैं। एक महिला एक घंटे से सुरक्षा में लगे जवान और भाजपा नेताओं से अमित शाह से मिलने की बात कह रही थी। लेकिन सभी ने हाथ खड़े कर दिए। जैसे ही शाह ने होटल के अन्दर प्रवेश किया, महिला ने उनको रुकने का इशारा किया और शाह रुक गए। महिला ने मोबाइल से उनकी फोटो लेने की इजाजत मांगी तो शार ने चार पोज फोटो खिंचावाई। इसके बाद लिफ्ट से सेकेण्ड फ्लोर कमरा नम्बर 239 में चले गए। वहां चाय, ब्रेड, कटलेट और पोहा का नाश्ता किया। टिकरापारा में अमित शाह के लिए गुजराती भोजन पकाया गया। यहां उंधियू,थेपला सहित अनेक प्रकार की व्यवस्था की गई थी। सौदान सिंह के लिए मंत्री अमर अग्रवाल के घर से खाना आया तो सरोज पांडे के लिए दोपहर का खाना गुलशन ऋषि के घर से भेजा गया।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned