स्कूलों में बच्चे कोरोना से न हो संक्रमित इसलिए स्वास्थ्य विभाग ने लिया ये बड़ा फैसला

- स्कूल खुलने के साथ बच्चों की भीड़ देखकर स्वास्थ्य महकमा सकते में
- शिक्षकों को कोरोना गाइडलाइन का पालन करने के लिए दिया जाएगा प्रशिक्षण

By: Ashish Gupta

Published: 17 Feb 2021, 04:04 PM IST

बिलासपुर. स्कूल खुलने के साथ बच्चों की भीड़ देखकर स्वास्थ्य महकमा सकते में आ गया है। किसी एक के भी संक्रमित होने पर कोरोना अन्य बच्चों को चपेट में ले सकता है। इसे देखते हुए एहतियात के रूप में हर स्कूल में आक्सीमीटर और सैनिटाइजर रखना अनिवार्य कर दिया गया है। इसके अलावा स्वास्थ्य विभाग की टीम स्कूलों में पहुंचकर बच्चों की जांच करेगी। साथ ही शिक्षकों को कोरोना गाइडलाइन का पालन करने के लिए प्रशिक्षण दिया जाएगा।

10वीं-12वीं बोर्ड परीक्षा को लेकर हुए कई बड़े बदलाव, यहां जानिए बदले दिशा-निर्देश

स्वास्थ्य विभाग ने राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम के तहत चार-चार सदस्यों की 12 टीमें बना ली हैं। इन्हें तमाम स्कूलों में जाकर बच्चों का स्वास्थ्य परीक्षण करना है। किसी में कोरोना के लक्षण मिलने पर जांच की व्यवस्था करेंगे। साथ ही स्कूल के स्टाफ को बताएंगे कि बच्चों को कोरोना से बचाने के लिए क्या करना है। इसमें सभी बच्चों के मास्क लगाने को अनिवार्य किया गया है। इसके अलावा समय-समय पर बच्चों का हाथ सैनिटाइज करवाना होगा या हैंडवाश व साबुन से हाथ धुलवाना होगा। ऐसा करके कोरोना के आशंका को दूर किया जा सकता है।

छत्तीसगढ़ में नक्सलियों का उत्पात, सड़क निर्माण में लगी 8 गाड़ियां फूंकी, दो की हत्या

हुक्काबार बंद कराने बनी टीम, स्वास्थ्य, पुलिस, खाद्य व निगम के अधिकारी करेंगे संयुक्त कार्रवाई
गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू के निर्देश के बाद हुक्काबार बंद कराने के लिए कोटपा एक्ट के तहत टीम तैयार कर ली गई है। सीमएचएचओ डॉ. प्रमोद महाजन ने बताया, इसमें स्वास्थ्य, पुलिस, खाद्य एवं औषधि प्रशासन विभाग, नगर निगम के अधिकारी भी रहेंगे। पिछले दिनों नगर प्रवास के दौरान जिले के प्रभारी मंत्री ताम्रध्वज साहू ने समीक्षा बैठक में कहा, हुक्काबार की वजह से युवाओं के स्वास्थ्य पर बुरा असर पड़ रहा है। सीएमएचओ डा. प्रमोद महाजन को हुक्काबार कार्रवाई करने का निर्देश दिए थे।

पति को वश में करने झाड़ फूंक कराने गई महिला को तांत्रिक ने बनाया हवस का शिकार

सीएमएचओ डा. प्रमोद महाजन ने कार्रवाई के लिए टीम तैयार कर ली है जिसमें स्वास्थ्य विभाग के कोटपा एक्ट के नोडल अधिकारी व उनकी टीम शामिल रहेगी। साथ ही खाद्य एवं औषधि प्रशासन विभाग के एक ड्रग निरीक्षक, एक खाद्य निरीक्षक, नगर निगम के राजस्व विभाग के एक अधिकारी के साथ संबंधित क्षेत्र के थाना प्रभारी या एसआइ को टीम का हिस्सा होंगे।

सीएमएचओ डॉ. प्रमोद महाजन ने कहा, प्रभारी मंत्री के निर्देश पर कोटपा एक्ट के तहत हुक्काबार के खिलाफ कार्रवाई के लिए टीम तैयार कर ली गई है जिसमें स्वास्थ्य विभाग, पुलिस, खाद्य एवं औषधि प्रशासन विभाग व नगर निगम के अधिकारी रहेंगे।

Show More
Ashish Gupta Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned