scriptPeople are not getting medicines in CIMS Bilaspur | गायब हो रही गरीबों की दवा, हर साल करोडो की खरीदारी फिर भी कहते हैं बाहर से लेकर आओ | Patrika News

गायब हो रही गरीबों की दवा, हर साल करोडो की खरीदारी फिर भी कहते हैं बाहर से लेकर आओ

locationबिलासपुरPublished: Sep 28, 2021 10:22:31 am

Submitted by:

Karunakant Chaubey

महीने का लाखों रुपए का लोकल परचेजिंग फंड है जो सिम्स के अधिकारी पास सुरक्षित रहता है और उसको ही खर्च करने का अधिकार रहता है। वो अपने हिसाब से खर्च करते हैं। सिम्स से मिली जानकारी के अनुसार लोकल पर्चेसिंग के लिए शासन द्वारा सिम्स को हर महीने 10 से 12 लाख रुपए का बजट दिया जाता है।

गायब हो रही गरीबों की दवा, हर साल करोडो की खरीदारी फिर भी कहते हैं बाहर से लेकर आओ
गायब हो रही गरीबों की दवा, हर साल करोडो की खरीदारी फिर भी कहते हैं बाहर से लेकर आओ

बिलासपुर. सिम्स में इलाज और जांच कराने वालों के दवाई के लिए सरकार द्वारा करोड़ों रुपए का फंड दिया जाता है। जिसका लाभ गरीबों को नहीं मिल पा रहा है लोकल परचेजिंग के माध्यम से मिलने वाली दवाओं का इस्तेमाल कौन कर रहा है यह एक रहस्य है। जबकि अस्पताल में भर्ती और इलाज करने वालों को बाजार से दवाई रखीदने के लिए बोला जाता है।

Copyright © 2023 Patrika Group. All Rights Reserved.