आरोपी को पकड़ पीड़ित लगाता रहा थाने का चक्कर, कबाड़ी से समझौता कराने में लगी रही पुलिस

पीडि़त मामले की शिकायत लेकर एसपी के पास पहुंचा लेकिन एसपी घंटों बैठे ठेकेदार से मिले ही नहीं। पीडि़त ने कहा पुलिस को लोगों की सहायता के लिए थानों में रखा जाता है लेकिन सिविल लाइन पुलिस पीडि़तों की कम और कबाडिय़ों की ज्यादा सुनती है।

By: Karunakant Chaubey

Published: 08 Oct 2020, 05:10 PM IST

बिलासपुर. यात्रियों की सुविधा के लिए रेलवे उसलापुर रेलवे स्टेशन के पास क्विक वाटर प्रणाली के लिए पानी टंकी का निर्माण करवा रही है। ठेका अंशुल जैन को मिला है। निर्माणाधीन पानी टंकी साइड से हो रही लगातार चोरी के मामले को देखते हुए ठेकेदार मंगलवार को सुबह से ही संक्रिय हो गया था। ऑटो से लोहे के सामान चोरी कर ले जा रहे आरोपी को ठेकेदार ने रंगेहाथ पकड़ लिया। आरपीएफ ने साइट से बाहर न देखने की बात कह पल्ला झाड़ लिया।

पीडि़त आरोपी ऑटो चालक को लेकर सिविल लाइन थाने पहुंचा और दिन भर थाने में ही बैठा रहा लेकिन कार्रवाई नहीं हुई। पीडि़त मामले की शिकायत लेकर एसपी के पास पहुंचा लेकिन एसपी घंटों बैठे ठेकेदार से मिले ही नहीं। पीडि़त ने कहा पुलिस को लोगों की सहायता के लिए थानों में रखा जाता है लेकिन सिविल लाइन पुलिस पीडि़तों की कम और कबाडिय़ों की ज्यादा सुनती है।

गैंगरेप के बाद पीडिता ने लगा ली फांसी, पिता द्वारा आत्महत्या के प्रयास के बाद टूटी प्रशासन की नींद

शिकायत करने पहुंचा तो आरक्षक कबाड़ी को ही फोन कर समझौते की बात कहते रहे। चोरी के मामले में पुलिस का कहना है कि चोरी के मामले में अपराध दर्ज की गई है। जिस ऑटो चालक को पीडि़त लाया था वह दूसरी ऑटो का था, जिस ऑटो से पीडि़त का सामान जा रहा था उसका चालक फरार हो गया था। पीडि़त की शिकायत पर ही अपराध दर्ज किया गया है।

पेंड्रीडीह व रिंग रोड नम्बर दो में खपाया माल

पीडि़त अंशुल जैन ने बताया कि उसके साइट से लगातार लोहे के फे्रम व अन्य मटेरियल चोरी हो रहे थे। उसने आस-पास के लोगों से पूछताछ की तो पता समान चोरी करने वाले युवक उसलापुर क्षेत्र के ही नशा करने वाले हैं। दूसरे दिन सुबह से ही अंशुल मौके की ताक में बैठा हुआ था इस दौरान एक ऑटो चालक लोहे का फे्रम, बैटरी व एंगल चोरी कर ऑटो क्रमांक सीजी 10 आर 0502 से जा रहा था जिसे अंशुल जैन ने पकड़ लिया।

साइट में बैठा कर रखा व सिविल लाइन को फोन कर चोर को पकडऩे की बात कही। लेकिन पुलिस ने ध्यान नहीं दिया। उसके बाद पीडि़त ठेकेदार ने 112 को फोन कर सूचना दी इस पर 112 की टीम ने संदेही को गिरफ्तार किया। लेकिन अपराध अज्ञात के खिलाफ दर्ज कर उसे फरार बता दिया जबकि आरोपी मैंने खुद ही पकड़ कर दिया था।

कबाड़ी ने कहा जहां भी चले जाओ कोई कार्रवाई नहीं हो सकती

अंशुल जैन ने कहा कि जिस ऑटो चालक को उसने अपना सामान चोरी करने के बाद पकड़ा था, उसने बताया कि चोरी का सामान व पेंड्रीडीह बाइपास स्थित कबाड़ी व कुछ समान को रिंग रोड स्थित कबाड़ी को बेचा है। मौके पर पहुंचने पर सामान भी दिख गया, पुलिस को बताया तो कुछ देर बाद कबाड़ी थाने पहुंचा और कहा कि माल आपका है तो ठीक है जितना दे रहा हूं रख लो। मेरे खिलाफ अपराध करने से कोई फायदा नहीं। कोई कार्रवाई नहीं होगी मेरे खिलाफ यह सोच एसपी से मिलने पहुंचा लेकिन एसपी साहब मेरे से मिले ही नहीं।

ये भी पढ़ें: सहेलियों को फोन पर बात करने से रोका तो घर से हुई फरार, 4 दिन बाद झाड़ियों में मिली लाश

Karunakant Chaubey Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned