पुलिस के परिजनों को रोकने घरों के बाहर तैनात रहे पुलिस कर्मी

पुलिस के परिजनों को रोकने घरों के बाहर तैनात रहे पुलिस कर्मी

Anil Kumar Srivas | Updated: 25 Jun 2018, 04:35:11 PM (IST) Bilaspur, Chhattisgarh, India

आंदोलन में शामिल होने से पुलिस कर्मियों के परिजनों को रोकने के लिए प्रशासन ने झोंकी पूरी ताकत...

बिलासपुर. रायपुर में 25 जून को आयोजित आंदोलन में पुलिस परिवार के सदस्यों को शामिल होने से रोकने के लिए शनिवार शाम से जिले में कड़ी नाकेबंदी की गई। मस्तूरी, सीपत, हिर्री व शहर के तोरवा और सरकण्डा थाने के सामने शाम से देर रात तक पुलिस कर्मी वाहनों की जांच करते रहे। वहीं पुलिस परिवारों को रोकने के लिए घरों के बाहर भी सिविल ड्रेस में दिनभर पुलिस कर्मी तैनात रहे। रायपुर की
ओर जाने वाले वाहनों की जांच की गई।

पुलिस वालों के परिजन भत्ते और सुविधाएं बढ़ाने की लगा रहे गुहार
पुलिस सुधार को लेकर पुलिस कर्मियों के परिजनों ने 25 जून को रायपुर में महारैली निकालने का ऐलान कर राज्य शासन के समक्ष 13 सूत्रीय मांगें रखी हैं। इससे पूर्व जिले में मांगों को लेकर 22 जून को मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपने की घोषणा की थी। 22 जून से पहले अधिकारियों ने आंदोलन का समर्थन करने वाले परिवार के सदस्यों की काउंसिलिंग की थी। 21 जून को पुलिस ने पुलिस परिवार आंदोलन के मास्टर माइंड बर्खास्त आरक्षक राकेश यादव को सूरजपुर जिले के एक फार्म हाउस से गिरफ्तार किया था। वहीं उसके साथी आरक्षक रोहिणी लोनिया को पुलिस परिवार आंदोलन का प्रचार-प्रसार करने के मामले में बर्खास्त किया गया था। दोनों आरक्षकों के खिलाफ राजद्रोह का मामला दर्ज कर उन्हें जेल भेज दिया गया था।

क्वार्टरों के बाहर लगाए गए पुलिस कर्मी : पुलिस परिवार आंदोलन में शामिल परिवार के सदस्यों को रायपुर जाने से रोकने के लिए अधिकारियों ने कर्मचारियों के क्वार्टर के बाहर सिविल डे्रस में पुलिस कर्मियों को तैनात कर दिया है। रविवार दोपहर से करीब 30 पुलिस कर्मी सिविल ड्रेस में पुलिस क्वार्टरों के बाहर मंडराते रहे।
सुबह 7 बजे से होगी नाकेबंदी : सूत्रों के अनुसार, रायपुर जाने के लिए पेंड्रीडीह चौक से होकर गुजरना पड़ता है। लिहाजा अधिकारियों ने सोमवार 25 जून को पेंड्रीडीह बाइपास पर नाकेबंदी करने का आदेश दिया है। पुलिस परिवार के सदस्यों को देखते ही उन्हें हिरासत में लेने के निर्देश दिए गए हैं।

आईजी से मिलेंगे यादव समाज के पदाधिकारी
रविवार को यादव समाज की बैठक इमलीपारा स्थित कृष्णधाम में हुई। इसमें पुलिस परिवार के लिए आंदोलन करने वाले आरक्षक राकेश यादव पर लगे राजद्रोह का आरोप और उसकी गिरफ्तारी पर चर्चा हुई। राकेश यादव पर लगाए गए राजद्रोह के मामले को वापस लेने की मांग करते हुए जिला यादव महासभा द्वारा सोमवार को शाम 4 बजे आईजी दीपांशु काबरा को ज्ञापन सौंपा जाएगा। बैठक में भुनेश्वर यादव, डॉ. सोमनाथ यादव, रामशरण,धन्नु यादव,जशवंत ,दुर्गेश यादव,जितेन्द्र यादव मौजूद थे।
अमित यादव, नीरज यादव, अनिल यादव, शंकर यादव, विजय यादव, नंदु यादव, संदीप यादव, विष्णु यादव, धनंजय यादव सहित भारी संख्या में यादव समाज के लोग उपस्थित थे।

सडक़ और रेल मार्ग पर पुलिस की पहरेदारी
25 जून को पुलिस कर्मियों के परिजनों ने अपनी 13 सूत्रीय मांगों को लेकर मुख्यमंत्री निवास का घेराव करने की योजना बनाई है। इसे देखते हुए शासन प्रशासन की नींद उड़ी हुई है। उच्चाधिकारियों ने पुलिस परिवार को रायपुर जाने से रोकने सडक़ और रेल मार्ग पर पहरेदारी करने का सभी थानों व जीआरपी को सख्त निर्देश दिए हैं। नेहरू चौक, महाराणा प्रताप चौक, चकरभाठा, हिर्री सरगांव और बाइपास मार्ग पर नाकाबंदी की गई है।

स्टेशन में हर उन लोगों से पूछताछ के निर्देश दिए गए हैं, जिन पर संदेह हो। पूछताछ के बाद उन्हें रोक कर रखा जाए हर हाल में किसी भी सदिंग्ध को राजधानी रायपुर जाने से रोकना है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned