पुनिया बोले पहले पता होता तो नहीं बनाते, अब करेंगे कार्रवाई

पुनिया बोले पहले पता होता तो नहीं बनाते, अब करेंगे कार्रवाई

Anil Kumar Srivas | Publish: Sep, 05 2018 12:35:18 PM (IST) Bilaspur, Chhattisgarh, India

गंगोत्री की नियुक्ति को लेकर किसी को विश्वास में नहीं लिया गया,आपराधिक रिकार्ड भी छिपा लिए गए।

बिलासपुर. महेन्द्र गंगोत्री की नियुक्ति को लेकर संगठन के नेताओं पर उंगली उठने लगी है। इसे लेकर संगठन में भारी खलबली मची हुई है। इसे लेकर बड़े नेता भी नाराज चल रहे हैं। गंगोत्री की नियुक्ति को लेकर किसी को विश्वास में नहीं लिया गया,आपराधिक रिकार्ड भी छिपा लिए गए। इस मामले में कांग्रेस के प्रदेश प्रभरी पीएल पुनिया ने पत्रिका से बातचीत में कहा, कि गंगोत्री की नियुक्ति और उसके आपराधिक रिकार्ड के बारे में कोई जानकारी नहीं दी गई थी। युवा कांग्रेस के प्रदेश उपाध्यक्ष महेन्द्र गंगोत्री को प्रदेश युकां कार्यकारी अध्यक्ष बनाने के लिए कांग्रेस नेताओं ने गंगोत्री के आपराधिक रिकार्ड की जानकारी सीनियर नेताओं से भी छिपा ली।

READ MORE : सारेआम तलवार लहराने वाले को कांग्रेस में पद, बचाव में उतरे पीसीसी चीफ बघेल

इस मामले में प्रदेश प्रभारी पीएल पुनिया का कहना है कि युवा कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष किसे बनाया जा रहा है, इसकी जानकारी मुझे किसी ने नहीं दी, न किसी प्रकार की सहमति ली गई। यदि पहले पता चल जाता तो इस बारे में विचार किया जाता। मामले की पुष्टि युवा कांग्रेस अध्यक्ष व अन्य नेताओं से करने के बाद आगे की कार्रवाई जल्द की जाएगी। मालूम हो कि महेन्द्र गंगोत्री पर पर सिटी कोतवाली और तारबहार थाने में 10 से अधिक आपराधिक मामले दर्ज हैं। छह माह पूर्व बीच सड़क पर तलवार लहराते मारपीट की घटना को अंजाम दिया था।
READ MORE : शिक्षक बनकर छात्रों को कर रहीं है मार्गदर्शन, सेवा समझकर करती है कार्य

बघेल को उमेश ने रोका, नहीं सुना : पार्टी सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, गंगोत्री की नियुक्ति को लेकर उमेश पटेल ने प्रदेश कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष भूपेश बघेल को कई बार टोका, लेकिन वे नहीं माने। तब उमेश ने ये कहते हुए पद छोड़ दिया कि आपको जैसा उचित लगता है वैसा करिए।

READ MORE : 16 दिनों में 230 लोगों की जांच, 64 मिले डेंगू से पीडि़त, हर रोज भर्ती हो रहे है 4 मरीज

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned