पार्वती के लाल गणपति की मूर्तियों को तैयार करने में जुटे हैं मूर्तिकार

पार्वती के लाल गणपति की मूर्तियों को तैयार करने में जुटे हैं मूर्तिकार

Anil Kumar Srivas | Publish: Sep, 06 2018 04:34:26 PM (IST) Bilaspur, Chhattisgarh, India

गणेशोत्सव की तैयारी: प्रतिमा को अंतिम रूप देने चल रहा जोर-शोर से कार्य

13 सितंबर को विराजेंगे गणपति बप्पा
कहीं बाल गणेश तो कहीं राजा के रूप में होंगे भगवान के दर्शन
श्रद्धालु करेंगे भगवान से सुख समृद्धि की कामना
पंडाल होंगे मुख्य आकर्षण के केंद्र

बिलासपुर. शहर में मूर्तिकार भगवान गणेश की प्रतिमा तैयार कर रहे हैं। ऐसी मान्यता है कि भगवान गणपति विघ्नहर्ता हैं, विघ्नों को दूर करते है। ऐसे में सिर्फ पंडालों में ही नहीं, बल्कि घर-घर गणपति की स्थापना की जाती है। भक्त सुख-समृद्धि की कामना करते हैं। गणेश पूजा की तैयारी जोर-शोर से की जा रही है। एक हफ्ते बाद यह पर्व मनाया जाएगा। इसलिए मूर्तिकार भगवान की प्रतिमाओं को अंतिम आकार देने में जुटे हुए हैं। इमलीपारा, कुम्हारपारा, चिंगराजपारा, तिफरा जैसे क्षेत्रों में मूर्तिकारों ने तीन माह पहले से ही मूर्तियां बनाने का काम शुरू कर दिया था। मूर्तिकार अमित सूत्रधर ने बताया कि गणपति की मूर्ति बनाने के लिए तीन से चार माह का समय लगता है। सबसे पहले मूर्ति के लिए पैरा व बांस से ढांचा तैयार करने के बाद उसमें मिट्टी का लेप लगाकर उसे आकार देते हैं। आकार देने के बाद एक माह तक सूखने छोड़ते है। सूखने के बाद मूर्ति में रंग करते है और फिर वस्त्राभूषण पहनाकर अंतिम रूप देते हैं। गणेशोत्सव को कुछ दिन ही बचे हैं, ऐसे में शहर के मूर्तिकार रात दिन मूर्ति को अंतिम रूप देने में जुटे हैं।

चौपाटी में 40 फीट ऊंची भगवान गणेश की प्रतिमा विराजेगी
शहर में भव्य गणपति स्थापना लगातार कुछ वर्षों से की जा रही है। व्यापार विहार में 51 फीट गणपति, चौपाटी में 40 फीट वहीं दयालबंद में लाल बाग के राजा जैसे भव्य गणपति की स्थापना की तैयारी हो रही है। इसके लिए आकर्षक व भव्य पंडाल तैयार किए जा रहे हैं।

घर-घर की जाती है विघ्नहरण की पूजा
ज्योतिषाचार्य पंडित महेश्वर प्रसाद उपाध्याय ने कहा कि गणपति देवताओं में प्रथम पूज्य माने गए हैं। वे अपने भक्तों पर कृपा करते हैं। विघ्न हरकर, बुद्धि प्रदान करते है उनकी पूजा भी साधारण तरह से करते हैं। इनकी पूजा कोई भी कर सकता है। इसलिए घर-घर में श्रद्धालु एक दिन, तीन दिन, पांच दिन, सात दिन व दस दिन के लिए प्रतिमाएं स्थापित करते हैं। गणपति शुभता के प्रतीक है और इसीलिए यह पूजन बहुत महत्वपूर्ण होता है।

लायंस क्लब का लक्ष्य हुआ पूरा, ग्राम मल्हार में किया पौधरोपण
बिलासपुर. लायंस क्लब द्वारा ग्रीन बिलासपुर अभियान के तहत मल्हार गांव में पौधारोपण किया गया। क्लब द्वारा अगस्त-सितंबर माह में 11 हजार पौधे लगाने का लक्ष्य पूरा कर लिया गया है। अगस्त माह में उद्यान विभाग मस्तूरी से 9 हजार 500 नीलगिरी के पौधे, 1 हजार सागौन, 500 फलदार जिसमें आम, नारियल, चीकू, अनार के पौधे लगाए जा रहे हैं। इसके अलावा कम पानी में उगने वाले कपास की खेती भी की जा रही है। लायंस क्लब की देख रेख में यह किया जा रहा है। इस मौके पर लायंस अध्यक्ष प्रकाश अग्रवाल, सीए रौनक अग्रवाल, शिव अग्रवाल, मनजीत अरोरा, असीत पाल जुनेजा, दर्शन छाबड़ा, श्रीकांत सहारे, गुरमीत गंभीर, एनके भंडारी, अरुण शुक्ला, शशिकांत केसरी, नरेश लिखमानिया, हरभजन गंभीर मौजूद थे। वहीं क्लब द्वारा आगामी पौधारोपण कार्यक्रम आरके फार्म हाउस मंगला में किया जाएगा। इसके बाद क्लब के सदस्य 15 हजार पौधे लगाने का लक्ष्य पूरा कर लेंगे।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned