सरकार से टैक्स में छुट लेने के बाद भी निजी बस वालों की मनमाना वसूली, दो गुना हुआ किराया

फिलहाल जो खेल हो रहा है उसमें एजेंट यात्रियों को एक सादे कागज में सीट नम्बर लिखकर दे देते हैं। और हैरानी की बात यह है कि बिना टिकट वालों को बस में यात्रा की अनुमति कंडक्टर दे देता है। यह खेल पूरी तरह से मिली भगत से खेला जा रहा है। शुक्रवार को १४ और शनिवार को तीन बसों पर 2000 रुपए पेनाल्टी की गई है।

By: Karunakant Chaubey

Published: 26 Dec 2020, 10:52 PM IST

बिलासपुर. एक ओर बस संचालकों को कोरोना काल का हवाला देकर पांच माह के टैक्स में छूट दे दी गई तो दूसरी ओर यात्रियों से दो गुना किराया वसूली का खेल शुरू हो गया है। ये खेल लंबी दूरी के लिए जाने वाली बसों में खेला जा रहा है। तर्क यह जरूर दिया जा रहा है कि बुकिंग का काम बस कंडक्टर की बजाए एजेंट कर रहे हैं।

फिलहाल जो खेल हो रहा है उसमें एजेंट यात्रियों को एक सादे कागज में सीट नम्बर लिखकर दे देते हैं। और हैरानी की बात यह है कि बिना टिकट वालों को बस में यात्रा की अनुमति कंडक्टर दे देता है। यह खेल पूरी तरह से मिली भगत से खेला जा रहा है। शुक्रवार को 14 और शनिवार को तीन बसों पर 2000 रुपए पेनाल्टी की गई है।

राज्य सरकार ने बस के पांच महीने का टैक्स माफ किया है इसके बाद से अम्बिकापुर,रीवा,इलाहाबाद सहित अन्य लंबी दूरी जाने वाली बसें चलने लगी है। लेकिन बस मालिक यात्रियों ने दो गुनी किराया की वसूली कर रहा है। जिस जगह की पांच सौ रुपए किराया है वहां का एक हजार रुपए लेने की शिकायत मिल रही है। जबकि शासन द्वारा बसों का किराया नहीं बढ़ाया गया है। बस मालिकों का मनमानी पिछले दो महीने से चल रही है।

इधर बस मालिकों ने यातायात पुलिस के खिलाफ आईजी से की शिकायत

शनिवार को निजी बस मालिक संघ द्वारा आइजी को ज्ञापन सौंपकर शिकायत दर्ज कराई गई है। ज्ञापन में बताया गया कि यात्री बसों को शहर के बाहर ट्रैफिक पुलिस द्वारा रोके जाने से आम यात्री और बस मालिकों को काफी परेशानी हो रही है।

टिकट बुकिंग करने वाले एजेंट की तलाश की गई लेकिन नहीं मिल पाया। बस वालों ने भी हाथ खड़ा कर दिए हैं दरअसल एजेंटों को अधिकृत नहीं किया गया है। विभाग द्वारा अधिक किराया वसूली करने वालों के खिलाफ दो दिन से कार्रवाही की जा रही है।

-प्रेम प्रकाश शर्मा आरटीओ

Karunakant Chaubey Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned