हाफ बिल योजना का लेना है लाभ तो चुका दो विभाग की पाई-पाई, 30 हजार उपभोक्ताओं ने जमा नहीं किया पुराना बिल

विभाग ने अपने 50 से 60 मीटर रीडरों को भी रीडिंग के लिए मैदान में उतार दिया है। जो प्रतिदिन 3000 से अधिक कनेक्शनों की मीटर रीडिंग करने में लगे हैं

By: BRIJESH YADAV

Updated: 29 Mar 2019, 08:11 PM IST

बिलासपुर. बिजली बिल हाफ करने की योजना को लेकर विद्युत विभाग द्वारा तैयारियां लगभग पूरी कर लीं गईं हैं। पात्र हितग्राहियों को छांटने के लिए सॉफ्टवेयर कंप्यूटर में आटोमेटिक अपलोड हो चुके हैं। सॉफ्टवेयर के माध्यम से एलआई 1 घरेलू व बीपीएल उपभोक्ता ऑटोमैटिक अलग हो जाते हैं। विभाग ने अपने 50 से 60 मीटर रीडरों को भी रीडिंग के लिए मैदान में उतार दिया है। जो प्रतिदिन 3000 से अधिक कनेक्शनों की मीटर रीडिंग करने में लगे हैं। शहर में 1 लाख से अधिक बिजली उपभोक्ता हैं, जिसमें से करीब 90 हजार घरेलु उपभोक्ता योजना से लाभांवित होंगे। हालाकि योजना का लाभ उन्हें नहीं मिलेगा, जिनका पिछली कोई भी राशि बकाया नहीं हैं। पिछले माह की बात करें तो तोरबा व नेहरू नगर दोनो डिवीजन में करीब 30 हजार ऐसे बिजली उपभोक्ता हैं, जिनका पिछला बिल बकाया है। मार्च के अंत तक यदि ये उपभोक्ता पुराना बिल अदा नहीं करते हैं तो वे ऑटोमैटिक सॉफ्टवेयर के माध्यम से योजना के लिए अपात्र हो जाएंगे।
अधिकतम 980 रूपए प्रतिमाह की मिलेगी रियायत:
इस योजना को 1 अप्रैल से लागू करने की घोषणा की है। अप्रैल माह में मिलने वाला बिल हाफ होगा। इस योजना का लाभ 400 यूनिट तक के स्लैब वाले घरेलू उपभोक्ताओं को मिलेगा। सभी वर्ग के लोग इससे लाभांवित हो सकते हैं। कमर्शियल व इंडस्ट्री कनेक्शन योजना से बाहर रखे गए हैं। साथ ही दायरे में आने वाले उपभोक्ताओं को छूट के बाद मिलने वाले बिल का हर माह भुगतान करना होगा अन्यथा बकाया होने पर अगले माह इस योजना के लाभ से वंचित हो जाएंगे। योजना से जुड़े दिशा-निर्देश भी हैं। जिले में लगभग दो लाख उपभोक्ता हंै, जिनको इस योजना का लाभ मिल सकता है। योजना के तहत यदि बिजली उपभोक्ता ने 400 यूनित बिजली जलाई है तो उसे अधिक से अधिक 980 रूपए तक की रियायत मिलेगी।
ये हैं योजना के कुछ नियम व शर्तें:
सभी तरह के घरेलू कनेक्शन वालों को मिलेगा बिजली बिल हॉफ की छूट का लाभ
400 यूनिट तक खपत करने पर मिलेगा हाफ बिल।
आचार संहिता के कारण प्रचार नहीं होगा।
दुकानदार, पान ठेला, हालर मिल, होटल व्यवसाय करने वालों को पूरा बिल देना पड़ेगा।
उपभोक्ता का क्राइटेरिया तय किया गया है
कोई भी आय वाला इसका फायदा उठा सकता है।
पुराने बकायदारों को इस योजना का लाभ नहीं मिलेगा।
मीटर चार्ज में छूट नहीं मिलेगी, मीटर चार्ज 12 रुपए है, उसे पूरा देना होगा।
हर महीने रीडिंग होगी और उसी के आधार पर बिल दिया जाएगा।
अगर कोई फर्जी कॉल आती है तो कहां शिकायत करेगें?

मीटर रीडिंग का कार्य शुरू किया गया है, बिनी किसी दस्तावेज जमा किए सीधे घरेलू उपभोक्ताओं को योजना के तहत अप्रैल माह का बिल आधा किया जाएगा। साइट पर प्रोग्राम अपलोड कर दिया गया है, जिससे पिछले बकायदारों को छांट दिया जाएगा और उन्हें योजना से बाहर रखा जाएगा।
सीएम बाजपेयी
सीएसई नेहरु नगर डिवीजन।

Show More
BRIJESH YADAV Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned