रमन सिंह ने रोकी कांग्रेस उम्मीदवारों की पहली सूची, 17 नाम तय उधर, रात 1 बजे तक सभी सीटों पर शाह की टीम ने फाइनल किए नाम

रमन सिंह ने रोकी कांग्रेस उम्मीदवारों की पहली सूची, 17 नाम तय उधर, रात 1 बजे तक सभी सीटों पर शाह की टीम ने फाइनल किए नाम

Anil Kumar Srivas | Publish: Oct, 13 2018 01:28:31 PM (IST) | Updated: Oct, 13 2018 01:28:32 PM (IST) Bilaspur, Chhattisgarh, India

प्रदेश अध्यक्ष धरमलाल कौशिक जब गठबंधन का भाजपा को फायदा बताने लगे तो शाह ने उन्हें टोक दिया।

बिलासपुर/रायपुर. मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह की हनक ने कांग्रेस उम्मीदवारों की पहली सूची रोक दी है। कांग्रेस केंद्रीय चुनाव समिति की शुक्रवार शाम नई दिल्ली में हुई बैठक में केवल राजनांदगांव सीट पर उम्मीदवार का नाम तय नहीं हो पाया। वहीं बिलासपुर में भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के नेतृत्व में छत्तीसगढ़ भाजपा की कोर टीम रात 9.30 बजे से रात 1 बजे तक टिकट वितरण को लेकर मंथन करती रही। इस मीटिंग में सभी सीटों पर सिंगल नाम तय कर दिए गए। जिनकी सूची कांग्रेस की सूची आने के बाद जारी करने की बात कही गई। मौजूदा 22 विधायकों को टिकट काटने पर भी चर्चा हुई। शाह ने मंत्रियों, विधायकों और संसदीय सचिवों के परफॉर्मेंस को लेकर बात की। उन्होंने कहा कि आईटी सेल को बेहद सक्रिय रहने की जरूरत है। स्थानीय स्तर के मुद्दों पर तेजी से प्रतिक्रिया आनी चाहिए। जानकारी के मुताबिक प्रदेश अध्यक्ष धरमलाल कौशिक जब गठबंधन का भाजपा को फायदा बताने लगे तो शाह ने उन्हें टोक दिया।

उन्होंने कहा वह अलग बात है, फिलहाल यह बताइए कि विनेबिलिटी किन प्रत्याशियों में है और कौन ऐसे मंत्री, विधायक या संसदीय सचिव हैं जिनकी क्षेत्र में पकड़ नहीं है। हवाहवाई बातें और दावे नहीं चाहिए। जिसके लिए टिकट की सिफारिश की जा रही है उसके लिए सिफारिश करने वाला नेता जिम्मेदार होगा। संसदीय सचिवों पर शाह बोले इनके परफॉर्मेंस को लेकर पार्टी का सर्वे है, उसके आधार पर टिकट दिए जाएंगे। ऐसे में कयास लगाए जा रहे हैं कि पार्टी 22 से अधिक विधायकों के टिकट काटने जा रही है। इनमें 4 मंत्री और 5 संसदीय सचिव शामिल हैं।
शाह बोले- भाजपा अंगद का पांव है, जिसे अश्लील सीडी वाले हिला नहीं सकते : भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने सरगुजा में भूपेश बघेल पर अश्लील सीडी को लेकर हमला किया। शाह ने कहा, राहुल बाबा छत्तीसगढ़ में सरकार बनाने का सपना छोड़ दें। प्रदेश में भाजपा अंगद का पांव है, जिसे कोई हिला नहीं सकता।

राजनांदगांव में तय नहीं हो पाया उम्मीदवार : दिल्ली में जारी बैठक में कांग्रेस नेतृत्त्व राजनांदगांव को लेकर पशोपेश में रहा। वहां ऐसे चेहरे की तलाश है जो रमन सिंह को टक्कर दे सके। फिलहाल, छानबीन समिति के पास उपलब्ध दावेदारों में ऐसा कोई नाम नहीं दिखा। ऐसे में पहले चरण की 18 सीटों के लिए पार्टी उम्मीदवारों की पहली सूची की घोषणा फिलहाल रोक दी गई है। कांग्रेस के रणनीतिकारों को अब भाजपा उम्मीदवारों की पहली सूची का इंतजार है। कांग्रेस विधायकदल के नेता टी.एस. सिंहदेव का कहना है कि पार्टी को कोई जल्दी नहीं है। नामांकन के लिए 23 अक्टूबर तक का समय है। भाजपा अपने पत्ते खोल दे, फिर हम अपनी चाल चलेंगे।
बैठक में यह हुआ : केंद्रीय चुनाव समिति के सामने छानबीन समिति के अध्यक्ष भुवनेश्वर कलिता ने अपनी सूची रखी। इनमें 9 से 10 सीटों पर एकल नाम थे और शेष पर पैनल। दावेदारों की मजबूती और खामी भी बताई। उसके बाद समिति के सदस्यों ने प्रभारी पी.एल. पुनिया, प्रभारी सचिवों अरुण उरांव और चंदन यादव, प्रदेशाध्यक्ष भूपेश बघेल तथा विधायकदल के नेता टी.एस. सिंहदेव से एक-एक नाम पर सलाह मांगी। उनकी सिफारिशों को लिखा और चर्चा की।

ज्यादातर सीटों पर पुराने चेहरे : बताया जा रहा है कि पहली सूची में जिन 17 नामों को अंतिम रूप से तय किया गया है, उनमें ज्यादातर पुराने चेहरे ही हैं। कुछ सीटों पर बदलाव की बात है। पहले चरण की जिन 18 सीटों पर 12 नवम्बर को मतदान होना है, उनमें 12 पर कांग्रेस का ही कब्जा है। कहा जा रहा है कि एक-दो को छोड़कर सभी विधायक फिर मैदान में होंगे।
नाराज दावेदारों ने फैसले को बताया आत्महत्या : उम्मीदवारों की घोषणा रुकने से बस्तर और राजनांदगांव क्षेत्र के दावेदारों में भारी नाराजगी है। 'पत्रिकाÓ से बातचीत में एक दावेदार ने इस फैसले को राजनीतिक आत्महत्या बता दिया। उनका कहना है कि अगर भाजपा की सूची का ही इंतजार करना था, तो कई महीने पहले यह नाटक क्यों शुरू किया गया। पिछले दो महीनों से दर्जनों दावेदार क्षेत्र छोड़कर रायपुर और दिल्ली में जमे हुए हैं। मैदान में है कौन। यह तो भाजपा को वॉकओवर देने जैसा है। आखिरी समय में घोषित उम्मीदवार लोगों तक पहुंच ही नहीं पाएगा। हालांकि, टी.एस. सिंहदेव इससे इत्तफाक नहीं रखते। सिंहदेव ने कहा कि चुनाव तो कांग्रेस पार्टी को लडऩा है। कार्यकर्ता चुनाव क्षेत्र में कई महीने पहले ही काम शुरू कर चुके हैं। देरी से कोई खास फर्क नहीं पड़ेगा।

 

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned