बलात्कार के खिलाफ क्यों उबल रहा देश, क्यों rape शब्द सुनते ही आग बबूला हो जाते हैं लोग, ये है वो वजह जिनसे टूट रहा सब्र

Rape statistics: बिलासपुर रेंज में बलात्कार के 4300 मामले कोर्ट में लंबित, सिर्फ 370 को सजा, 900 आरोपी हो गए

By: Murari Soni

Published: 08 Dec 2019, 06:57 PM IST

बिलासपुर. छत्तीसगढ़ राज्य की स्थापना के बाद बिलासपुर रेंज के मुंगेली, जांजगीर-चांपा, कोरबा, रायगढ़ और बिलासपुर जिले में लगातार बलात्कार के मामलों में बढ़ोतरी हुई है। 19 वर्षों में रेंज में 6088 मामले दर्ज हुए जिनमें से 4300 मामले कोर्ट में लंबित हैं। जिन मामलों में सुनवाई हुई उनमें 370 आरोपियों को कोर्ट ने आरोपियेां को सजा सुनाई है। वहीं 900 मामलों में आरोपी कोर्ट से बरी हो गए हैं।

19 साल में 1785 बलात्कार, इसमें 217 बच्चियां भी शामिल

एनसीआरबी (नेशनल क्राइम रिकार्ड ब्यूरो) के आंकड़ों के अनुसार देशभर में बलात्कार की घटनाओं में छत्तीसगढ़ राज्य 5वें नंबर पर है। प्रदेश के दूसरे सबसे बड़े रेंज बिलासपुर में भी छत्तीसगढ़ राज्य की स्थापना के बाद लगातार बलात्कार के मामलों में बढ़ोतरी होती रही। बिलासपुर जिले में दर्ज 1785 मामलों में कोर्ट में करीब 1200 मामले लंबित है। 103 आरोपियों को कोर्ट ने सजा दी है। वहीं 900 आरोपी कोर्ट से बरी हुए हैं। दुष्कर्म के अधिकांश मामलों की सुनवाई जिले के फास्ट ट्रैक कोर्ट में हो रही है, लेकिन परिणाम आने में लेटलतीफी हो रही है।

युवती से दुष्कर्म करता रहा युवक, पुलिस से शिकायत की तो कर लिया अपहरण और...

रायगढ़ में 19 साल से लंबित है प्रकरण
बिलासपुर रेंज के रायगढ़ जिले में पिछले 19 वर्षो में 1641 प्रकरण दर्ज हुए हैं। सन 2000 में दर्ज हुए 55 प्रकरणों में से 30 प्रकरण आज तक लंबित हैं। यह सिलसिला सन 2019 तक जारी है। कोर्ट में दर्ज प्रकरण 1641 के मुकाबले 1092 मामले लंबित हैं।

यहां लाडलियां नहीं सुरक्षित, 9 साल की बच्ची से बलात्कार तो 13 साल की छात्रा से छेड़खानी

रेंज में दुष्कर्म के मामलों की स्थिति

जिला - दर्ज प्रकरण- सजा- दोषमुक्त - कोर्ट में लंबित मामले
रायगढ़ - 1641 - 106 - 379 - 1092

जांजगीर-चांपा - 1075 - 88 - 213 - 707
कोरबा - 1025 - 64 - 67 - 904

मुंगेली - 462 - 6 - 23- 410
बिलासपुर - 1785 - 104- 300 - 218 - 1200 लगभग

Show More
Murari Soni
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned