नोटिस के बाद खुली राइस मिलरों की नींद, कराया पंजीयन

नोटिस के बाद खुली राइस मिलरों की नींद, कराया पंजीयन

Anil Kumar Srivas | Publish: Nov, 10 2018 02:41:18 PM (IST) | Updated: Nov, 10 2018 02:41:19 PM (IST) Bilaspur, Bilaspur, Chhattisgarh, India

अभी भी दस राइस मिल संचालक पंजीयन कराने दिलचस्पी नहीं ले रहे है।

बिलासपुर . जिले के 24 राइस मिलरों को नोटिस जारी होने के बाद 14 राइस मिलरों ने धान का कस्टम मिलिंग करने के लिए खाद्य विभाग में पंजीयन कराया है। दस राइस मिलर्स ने अब तक पंजीयन कराने में रुचि नहीं दिखाई है। कलेक्टर पी. दयानंद ने पिछले पखवाड़े धान की कस्टम मिलिंग करने के लिए खाद्य विभ्भाग में पंजीयन नहीं कराने पर 24 राइस मिलर्स संचालकों को नोटिस जारी की थी। इसमें नोटिस मिलने के सात दिवस के भीतर खाद्य विभाग में पंजीयन कराने के लिए समय दिया गया था। कलेक्टर की नोटिस के बाद जिले के 14 राइस मिलर्स ने धान का कस्टम मिलिंग करने के लिए खाद्य विभाग में पंजीयन कराया है। लेकिन अभी भी दस राइस मिल संचालक पंजीयन कराने दिलचस्पी नहीं ले रहे है।

जिले में एक सौ से अधिक राइस मिल है। इन मिलर्स को समर्थन मूल्य पर खरीदे गए धान का कस्टम मिलिंग करने के लिए हर वर्ष पंजीयन कराना अनिवार्य है। जिले की 24 राइस मिल के संचालकों ने अक्टूबर के अंतिम पखवाड़े मे कस्टम मिलिंग के लिए अपने -अपने मिलों का खाद्य विभाग में पंजीयन नहीं कराया था। इसके बाद कलेक्टर ने ऐसे सभी राइस मिलर्स संचालकों को नोटिस जारी करके सात दिनों का समय दिया गया। यह अवधि समाप्त होने के बाद भ्भी दस राइस मिलर्स ने अभी तक पंजीयन नहीं कराया है।
दस लोगों ने अभी तक नहीं कराया पंजीयन : जिले में दस राइस मिलर्स ने कस्टम मिलिंग के लिए अब तक पंजीयन नहीं कराया है। इन मिलर्स के संचालकों को जल्द पंजीयन कराने के निर्देश दिए गए है।
डीके प्रसाद, प्रभारी ख्खाद्य नियंत्रक,बिलासपुर

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned