खुले में शौच करने पर मिली सजा, 28 लोगों पर जुर्माना, निगम ने काऊ कैचर में भरकर शहर से 9 किमी दूर ले जाकर छोड़ा

बार-बार चेतावनी के बावजूद लोग में शौच करने से बाज नहीं आ रहे। पूरे स्वच्छता अभियान की वॉट लगा रहे हैं।

By: Amil Shrivas

Published: 11 Sep 2017, 04:29 PM IST

बिलासपुर. बार-बार चेतावनी के बावजूद लोग में शौच करने से बाज नहीं आ रहे। पूरे स्वच्छता अभियान की वॉट लगा रहे हैं। इसे लेकर शहर में नगर निगम ने अब उन्हें सबक सिखाने की ठान ली है। रविवार को तड़के निगम के अमले ने ऐसे 28 लोगों को व्यापार विहार व अरपा नदी के किनारे पकड़ा। उन पर 100-100 रुपए जुर्माना किया गया। जुर्माने की रकम नहीं देने पर निगम प्रशासन ने उन्हें काऊ कैचर में भरकर शहर से 9 किलोमीटर दूर मुंगेली रोड पर लेजाकर छोड़ा। वहीं तीन महिलाओं को महिला थाने के सुपुर्द किया गया है। इसके अलावा कुछ लोगों को सिटी कोतवाली व तारबाहर पुलिस को सौंपा गया।

 

स्वच्छ भारत मिशन योजना को सफल बनाने और शहर को ओडीएफ करने के लिए नगर निगम आयुक्त ने लगभग दो सौ अधिकारी-कर्मचारियों की ड्यूटी लगाई है। टीम में महिला होमगार्ड को भी शामिल किया गया है। निगम ने पूर्व में १७ से २८ अगस्त तक खुले में शौच करने वालों को हाथ जोड़कर समझाइश दी। लेकिन लोग खुले में शौच जाने से बाज नहीं आए। रविवार को सुबह 5 बजे नगर निगम के अधिकारी-कर्मचारी चिन्हांकित स्थानों पर पहुंचे, और २२ लोगों को खुले में शौच करते पकड़ा। उन पर 100-100 रुपए जुर्माना किया गया। वहीं २८ लोगों ने जुर्माने की रकम देने से इनकार कर दिया। तब निगम प्रशासन ने उन्हें काऊ कैचर में भरकर शहर से ९ किलो मीटर दूर कानन पेंडारी के आगे लेजाकर छोड़ दिया।

जमकर लगाए नारे: कानन पेंडारी के आगे काऊ कैचर को रोकने के बाद सभी लोगों से नारे लगवाए गए। यह कि 'हम खुले में शौच नहीं करेंगे, न ही किसी को करने देंगे।

शहर को ओडीएफ करना है, इसके लिए शहरवासियों का सहयोग जरूरी है। घर में सब साधन होने के बावजूद कुछ स्थानों के लोग मान नहीं रहे हैं। अब पकड़े जाने वालों पर कड़े प्रावधानों के तहत कार्रवाई की जाएगी।
सौमिल रंजन चौबे, आयुक्त, नगर निगम

खुले में शौच पर रोक लगाने अतिक्रमण टीम तोरबा पहुंची थी, और यहां के लोगों को खुले में शौच नहीं करने की नसीहत दे रही थी, लेकिन यहां के लोग इसका विरोध करते हुए निगम के अमले से भिड़ पड़े। वहां विवाद की स्थिति बन गई। अमले ने विरोध करने वाले लोगों को काऊ कैचर में भरकर कानन पेण्डारी की ओर ले गए और वहां स्वच्छता का संकल्प दिला कर उन्हें छोड़ दिया। नगर निगम पिछले चार-पांच दिनों से यह अभियान चला रहा है, जिसके तहत अभी तक खुले में शौच कर रहे सौ से अधिक लोगों को पकड़ कर उनसे स्वच्छ भारत का संकल्प दिलवाया गया है। रविवार को भी निगम के अतिक्रमण दस्ते ने व्यापार बिहार, रपटा, गोंडपारा नदी के पास और तोरवा में दो दर्जन से अधिक लोगों को खुले में शौच करते हुए रंगे हाथों पकड़ा।

 

Amil Shrivas
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned