लॉकडाउन: सेक्स रैकेट का भंडाफोड़, पुलिस ने जाल बिछाकर महिला दलाल,दो लड़की समेत एक लड़के को दबोचा

पुलिस टीम ने अपने दो आरक्षकों को स्याही लगे नोटों के साथ मौका- ए- वारदात पर ग्राहक बनाकर भेजा।

By: Bhupesh Tripathi

Updated: 18 Apr 2020, 03:13 PM IST

बिलासपुर। कोरोना के लॉकडाउन के बीच छत्तीसगढ़ की न्यायधानी बिलासपुर से एक चौकाने वाली खबर सामने आई है। लॉक डाउन के चलते प्रदेश में अन्य अपराध तो थमे हुए हैं लेकिन देहव्यापार का धंधा चरम पर है। इन्हे न तो कोरोना का डर है और न सोशल डिस्टेंस या फिजिकल डिस्टेंस से मतलब। पुलिस ने महिला दलाल समेत दो लड़की और एक लड़के को दबोचा है।

जानकारी के अनुसार बिलासपुर पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली की खमतराई इलाके में देह व्यापार चल रहा है। जिसके बाद एसपी प्रशांत अग्रवाल ने एएसपी ओपी शर्मा को छापामार कार्रवाई करते हुए रंगे हाथ पकड़ने के निर्देश दिए। एएसपी शर्मा ने सीएसपी निमेष बरैया, प्रशिक्षु डीएसपी अभिनव उपाध्याय और सरकंडा थाना प्रभारी शनिप रात्रे के साथ मिलकर बड़े ही शातिराना तरीके से इस कार्यवाही को अंजाम दिया।

लॉकडाउन: सेक्स रैकेट का भंडाफोड़, पुलिस ने जाल बिछाकर महिला दलाल,दो लड़की सहित एक लड़के को दबोचा

पुलिस टीम ने अपने दो आरक्षकों को स्याही लगे नोटों के साथ मौका- ए- वारदात पर ग्राहक बनाकर भेजा। महिला ने जैसे ही इन नोटों को अपने हाथ में लिया वैसे ही पुलिस की टीम ने वहां दबिश दे दी। एएसआई शारदा सिंह ने दलाल को तत्काल हिरासत में ले लिया। पुलिस ने जब मकान की तलाशी ली तो वहां दो लड़की सहित एक लड़का आपत्तिजनक अवस्था में पाए गए ।

पुलिस के मुताबिक महिला दलाल अलग- अलग जगहों से लड़कियों को बुलाकर धंधा कराती थी। पिछले 5 साल से वह देह व्यापार में जुटी है। वहीं गिरफ्तार लड़की चाँटीडीह इलाके का रहने वाले है। आरोपियों के पास से 2 स्कूटी और 4 मोबाइल जब्त किया गए हैं। इसी पूरी कार्रवाई में वरिष्ठ अधिकारियों के साथ उपनिरीक्षक रामाश्रय यादव, उपनिरीक्षक सुमेन्द्र खरे, सहायक उपनिरी शारदा सिंह, प्रधान आरक्षक जीतेश सिंह, आरक्षक बलबीर सिंह, प्रमोद सिंह, आशीष राठौर, विनेन्द्र कौशिक पंकज राव भोषले, सोन पाल, इन्द्र पटेल, महिला आरक्षक बबीता श्रीवास की अहम भूमिका रही।

Bhupesh Tripathi
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned