ऊं शं शनैश्चराय नम: से गूंजा शहर शनिदेव का मनाया गया जन्मोत्सव

सुबह 5 बजे से ही शनि देव का अभिषेक सरसो के तेल से किया गया।

By: Amil Shrivas

Published: 16 May 2018, 02:17 PM IST

बिलासपुर . ऊं शं शनिश्चराए नम:..., ऊं शं शनिश्चराए नम:...के मंत्रों का जाप करते हुए मंगलवार को शनि जन्मोत्सव का कार्यक्रम धूमधाम से मनाया गया। चिल्हाटी स्थित शनि मंदिर में शनि देव की विशेष पूजा-अर्चना, अभिषेक के साथ महाआरती व भव्य भंडारा भक्तों ने किया। इसी तरह से शहर के शनि मंदिरों में भी पूजा की गई। भक्त सुबह से ही कर्म फलदाता शनि देव के दरबार में मत्था टेकने पहुंचे। सभी ने शनि देव से कष्टों से मुक्ति की प्रार्थना की। शनि जन्मोत्सव का पर्व शनि जयंती मंगलवार को भक्तिमय वातावरण में मनाया गया। चिल्हाटी स्थित शनि मंदिर में भव्य पूजन-अनुष्ठान किया गया। सुबह 5 बजे से ही शनि देव का अभिषेक सरसो के तेल से किया गया। इस दौरान मंत्रोच्चारण करते हुए शनि देव की भक्ति में श्रद्धालु डूबे रहे। सुबह से रात तक मंदिर में भक्तों का आना-जाना लगा रहा। किसी ने काला वस्त्र अर्पित किया तो कोई काले तिल अर्पित करते हुए पूजन करता रहा। पूजन समिति के जयेन्द्र गोले ने बताया कि मंदिर में शनि देव की पूजा-अर्चना भव्य रूप से किया जाता है। सुबह से सैकड़ों भक्त शनि देव की पूजा के लिए पहुंचे। मंदिर के पुजारी के मार्गदर्शन में सभी पूजन-अनुष्ठान किए गए। साथ ही श्रद्धालुओं ने भी ग्रह दोष से मुक्ति के लिए कई अनुष्ठान कराए। इस अवसर पर बड़ी संख्या में श्रद्धालु उपस्थित रहे।

दान की विधि की गई पूरी : ज्येष्ठ माह की अमावस्या को दान करना उत्तम माना जाता है। इसलिए ब्राह्मणों को खाद्यान्न व सामग्री का दान किया गया। ऐसी मान्यता है कि इस दिन किया गया दान पितरों की आत्मा को तृप्त करता है। ऐसे में हर घर में दान की विधि पूरी की गई। वहीं कुछ लोगों ने जरूरतमंदों को काला छाता व काला जूता भी दान में दिया।
आरके नगर शनि मंदिर में पूजन : राज किशोर नगर स्थित शनि देव मंदिर में ज्येष्ठ अमावस्या के अवसर पर शनि जन्मोत्सव का कार्यक्रम किया गया। सुबह शनि देव की पूजा-अर्चना व हवन किया गया। इसके साथ ही दिनभर भोग का वितरण किया गया। यह कार्यक्रम लगातार 10 वर्षों से मोहल्लेवासियां के सहयोग से किया जा रहा है। इस अवसर पर सौमित्र धर, मानस चटर्जी, किशोर भाई, संतोष सोनार, अजय जैन, भवानी, पवन मौर्य, महेन्द्र मनहर, रामशरण कश्यप, अरुण, संजय जैन सहित सदस्य उपस्थित रहे।
भव्य भंडारे का आयोजन : मंदिर में शनि जन्मोत्सव के अवसर पर भव्य भंडारा का आयोजन किया गया। जो सुबह साढ़े पांच बजे से शुरू हुआ। जिसका समापन शाम पांच बजे हुआ। सैकड़ों भक्तों ने शनि देव का प्रसाद ग्रहण किया।

Amil Shrivas
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned